Thursday , 19 September 2019
Top Headlines:
Home » Business » आरबीआई कर रहा है तैयारी : अब नेत्रहीन मोबाइल से पहचान सकेंगे नोट

आरबीआई कर रहा है तैयारी : अब नेत्रहीन मोबाइल से पहचान सकेंगे नोट

नई दिल्ली (एजेंसी)। नोट पहचानने में दृष्टिबाधितों की मदद करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) एक पहल कर रहा है। इसके लिए आरबीआई मोबाइल फोन आधारित समाधान खोज रहा है। अभी नेत्रहीनों को नोट पहचानने के लिए 100 रूपये और उससे ऊपर के नोटों की छपाई इस रूप से उभरते रूप (इंटैग्लियो प्रिंटिंग) में होती है, जिससे वे स्पर्श कर उसे पहचान सके। फिलहाल देश में 10, 20, 50, 100, 200, 500 और 2000 रूपये के नोट चलन में हैं। देश में करीब 80 लाख दृष्टिबाधित लोग हैं, जिन्हें केंद्रीय बैंक की नई पहल से फायदा मिल सकता है।
जून में की थी घोषणा
आरबीआई ने जून 2018 में घोषणा की थी कि वह नेत्रहीनों द्वारा मुद्रा की पहचान करने में मदद करने के लिये उचित उपकरण या तंत्र की व्यवहार्यता का पता लगायेगा। इसी तर्ज पर अब आरबीआई ने भारतीय मुद्रा के मूल्यवर्ग की पहचान के लिये तंत्र/उपकरण विकसित करने के लिये वेंडरों से रूचि पत्र मंगाए हैं।
सेकंडों में नोट की हो सकेगी पहचान
निविदा दस्तावेज में कहा गया है कि हाथ से चलने वाला यह उपकरण/तंत्र नोटों के मूल्यवर्ग की पहचान करने में सक्षम होना चाहिए। जब भी बैंक नोट को इसके सामने/पास/इसके अंदर या उससे होकर गुजारा जाए तो कुछ ही सेकंड (दो सेकंड या उससे भी कम समय में हिंदी/अंग्रेजी में मूल्यवर्ग की जानकारी मिलनी चाहिए यानी यह पता चलना चाहिए कि नोट कितने का है।
ऐसा होना चाहिए यह सॉल्युशन
समाधान पूरी तरह से सॉफ्टवेयर आधारित हो सकता है, जो मोबाइल फोन या हार्डवेयर की मदद से या दोनों के संयोजन से चलने में सक्षम हो। यदि समाधान हार्डवेयर आधारित समाधान हो तो बैटरी से चलने वाला, रिचार्ज हो जाने वाला, छोटा और पकडऩे में आरामदायक हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*