Tuesday , 17 September 2019
Top Headlines:
Home » Udaipur » आज पधारेंगे विघ्नहर्ता, मंगलकर्ता

आज पधारेंगे विघ्नहर्ता, मंगलकर्ता

ganeh_jiउदयपुर। गौरीसुत गजानन की जयंती का पर्व गणेश चतुर्थी सोमवार को धूमधाम से मनाई जाएगी। पर्व पर मंदिरों में गणेशजी की प्रतिमाओं को आकर्षक आंगी धराकर पूजा अर्चना व महाआरती के मनोरथ होंगे। घर-घर में प्रथम पूज्य गणेशजी की पूजा अर्चना कर लडडुओं का भोग अर्पित किया जाएगा। घरों में चूरमे के लडडू, बाटी और दाल विशेष तौर पर बनाए जाएंगे। पर्व को लेकर गणपति के मंदिरों को रंग-बिंरगी रोशनी से सजाया गया है। पर्व के साथ ही गली-मोहल्लों के नुक्कड़ों पर दस दिवसीय गणेशोत्सव की धूम शुरू होगी।
सोमवार को बोहरा गणेशजी, पाला गणेशजी, जाड़ा गणेशजी, दूधिया गणेशजी, मावा गणेशजी, पंचमुखी गणेशजी, मंशापूर्ण गणेशजी सहित सभी मंदिरों में गणपति प्रतिमाओं को आकर्षक आंगी धारण कराकर पूजा अर्चना की जाएगी। गणेशजी को लडडूओं का भोग अर्पित कर महाआरती की जाएगी। दोपहर में मंदिरों में सुख समृद्धि के लिए हवन होंगे। शाम को भी गणेशजी की विशेष आरती की जाएगी। गणेश चतुर्थी को लेकर रविवार को मंदिरों को आकर्षक रूप से सजाया गया। विद्युत सज्जा से जगमग मंदिर श्रद्धालुओं के आकर्षण का केन्द्र बन गए हंै। बोहरा गणेशजी के मंदिर में लगने वाले मेले को लेकर दुकानें भी सज गई। अल सुबह मंदिरों में दर्शन शुरू हो जाएंगे। दुधिया गणेश जी मन्दिर परिसर से सटे झाड़ोल मार्ग पर आकर्षक द्वार और विद्युत रोशनी की गई है। लाल, पीले रंगों में सजे द्वार देखते ही लोगों का मन मोह रहे हैं। व्यापार संघ एवं समस्त भक्तजनों के सहयोग से भक्ति संध्या का आयोजन भी होगा। महोत्सव पर घर-घर में गणेशजी की पूजा अर्चना कर लडडूओं का भोग लगाया जाएगा। घरों में चूरमें के लडडू, बाटी और दाल सहित कई व्यंजन बनाए जाएंगे।
गाजे-बाजे के साथ ले गए प्रतिमाएं
गणेश चतुर्थी से महोत्सव की धूम को लेकर रविवार को गणपति को अपने-अपने स्थलों पर ले जाने का क्रम भी शुरू हो गया। गणपति बनाने वाले कलाकार दिनभर व्यस्त दिखाई दिए और दुकानों में भारी भीड़ नजर आई। शहर सहित आसपास के गांवों और कस्बों से आए भक्त गाजे-बाजे के साथ गणपति को उनके दरबार स्थल पर लेकर गए। महोत्सव को लेकर पांडाल रंगबिंरगी फर्रियों व बिजली की रोशनी सजाए गए हैं। सोमवार को शुभ मुहूर्त में गणेशजी की प्रतिमाओं की स्थापना की जाएगी। दस दिनों तक सुबह-शाम पूजा अर्चना और महाआरती के मनोरथ होंगे। शाम को भजन-कीर्तन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। कई श्रद्धालुओं द्वारा अपने घरों में प्रतिमाओं की स्थापना कर दस दिनों तक पूजा अर्चना की जाएगी। महोत्सव का समापन अनन्त चतुर्दशी पर प्रतिमाओं के जल में विसर्जन के साथ होगा।
शुभ मुहूर्त में होगी गणपति स्थापना
करधर, इन्द्रप्रस्थ-ए विकास समिति हिरणमगरी से. 14 की ओर से रोशन जी की बाड़ी स्थित करधर पार्क में शाम 6 बजे हरिनाम संकीर्तन एवं भजन संध्या का आयोजन हर्षोल्लास एवं धूमधाम से किया जाएगा। श्री गणेश नवयुवक मंडल की ओर से खारवा कुंई, दडागढ़, गोवद्र्धन विलास, ट्रांसपोर्ट नगर में छह फीट की बड़ी मूर्ति की स्थापना होगी। स्वास्तिक विनायक गणपति मित्र मंडल की ओर से बापूबाजार में शुभ गणपति की मूर्ति स्थापित की जाएगी। सुबह शाम महाआरती के बाद विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा।गणेश चतुर्थी पर यातायात व्यवस्थापुलिस उप अधीक्षक (यातायात) ने बताया कि हर गणेश चतुर्थी पर बोहरा गणेश जी मन्दिर पर मेले के आयोजन के दौरान यातायात व्यवस्था में परिवर्तन किया गया है।
प्रवेश निषेध : प्रतापनगर से उत्तरी सुन्दरवास के पीछे होकर आने वाली रोड बोहरा गणेश मन्दिर रोड, यूनिवर्सिटी से धुलकोट होकर महासतिया आयड़ तक जाने वाली रोड पर सभी प्रकार के वाहनों का आवागमन निषेध रहेगा।
पार्किंग व्यवस्था : ठ्ठ प्रतापनगर व सुन्दरवास की तरफ से आने वाले दर्शनार्थियों के दुपहिया, चार पहिया वाहनों की पार्किंग ज्ञानगढ़ हाउस से पहले उत्तरी सुन्दरवास की तरफ रोड को छोड़कर किनारे की जाएगी।
ठ्ठ शहर की तरफ से वाया आयड़ होकर आने वाले वाहनों की पार्किंग धुलकोट तिराहा महासतिया तिराहा पर रोड को छोड़कर किनारे पर रहेगी।
ठ्ठ यूनिवरसिटी रोड की तरफ से आने वाले वाहनों की पार्किंग यूनिवरसिटी मैन गेट से पहले बेकनी पुलिया जाने वाले रोड की तरफ रोड को छोड़कर साईड में रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*