Tuesday , 17 September 2019
Top Headlines:
Home » Jaipur » आकाशीय बिजली का कहर, 9 की मौत

आकाशीय बिजली का कहर, 9 की मौत

victims_familiersजयपुर। बारां और झालावाड़ जिले में शनिवार शाम अलग-अलग स्थानों पर बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से ८ महिलाओं और एक व्यक्ति की मौत हो गई और सात अन्य बुरी तरह झुलस गए।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि बारां जिले के हरनावदाशाहजी कस्बे के निकट बालापुरा के माल में सोयाबीन की कटाई कर रही आठ महिलाएं बरसात से बचने के लिए एक पेड़ के नीचे खड़ी हो गई इसी बीच आकाशीय बिजली गिरने से ये सभी महिलाएं गंभीर रूप से झुलस गई।
सूत्रों ने बताया कि दीगोदजागीर के पास खेत में काम कर रही एक महिला की बिजली गिरने से मौत हो गई। इबोरखेड़ी मार्ग पर भी बिजली गिरने से एक महिला अचेत हो गई जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
सूत्रों ने बताया कि शाहाबाद क्षेत्र के देवरी निवासी रामसिंह अपने साथी के खेत पर फसल देखने गया था जहां बिजली गिरने से रामसिंह की मौत हो गई तथा उसका साथी झुलस गया। छबड़ा क्षेत्र के ककरवा गांव में खेत पर काम कर रही गायत्री बाई की बिजली गिरने से मौत हो गई।
सूत्रों ने बताया कि झालावाड़ जिले की ग्राम पंचायत पनवासा के खजूरी गांव में शाम करीब साढ़े चार बजे बिजली गिरने की घटना में एक बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। एक अन्य घटना में पगारिया थाना क्षेत्र के सेमली में खेत पर काम कर रही महिला की बिजली गिरने से मौके पर ही मौत हो गई और उसका पति झुलस गया। रीछवा में खेत में काम कर रहा एक बच्चा बिजली की चपेट में आने से झुलस गया।मृतकों के आश्रितों को 4-4 लाख रूपए देने की घोषणा
जयपुर। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने शनिवार को बारां जिले के छबड़ा एवं छीपाबड़ौद ब्लॉक में करीब 6 स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने से हुए हादसों में हुई मौतों पर संवेदना व्यक्त की है।
श्रीमती राजे ने मृतकों की आत्मा की शांति एवं शोक संतप्त परिजनों को यह दु:ख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। उन्होंने हादसों में झुलसे लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की।
हादसे की सूचना मिलते ही बारां कलक्टर डॉ. एस.पी. सिंह ने छबड़ा एवं छीपाबड़ौद जाकर मृतकों के परिजनों से मुलाकात की एवं मृतकों के आश्रितों को आपदा राहत कोष से 4-4 लाख रुपए देने की घोषणा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*