Tuesday , 17 September 2019
Top Headlines:
Home » Jaipur » अधीक्षक को हटाया, समिति गठित

अधीक्षक को हटाया, समिति गठित

anita_chaudhary_firedजयपुर। जयपुर के जामडोली में विमंदित बच्चों की मौत के मामले में पुनर्वास गृह की अधीक्षक अनीता चौधरी को हटा दिया गया है। सूत्रों ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर अधीक्षक की अनदेखी एवं अनियमितता नजर आने के बाद राज्य सरकार ने उन्हें हटाने का फैसला किया है। हालांकि इस संबंध में समिति का गठन किया है जो पूरे मामले की जांच करेगी। उल्लेखनीय है कि पुनर्वास गृह में पिछले १२ दिनों में ११ बच्चों की रहस्यमय बीमारी से मौत हो गई तथा तीन बच्चों का जेके लॉन अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई में उपचार चल रहा है। बच्चों की बीमारी का पहला मामला २१ अप्रैल को आया जिसमें बच्चों को उल्टी दस्त और पानी की कमी की शिकायत सामने आई। इसके बाद ग्यारह बच्चों की मौत हो गई जिसका कारण अभी तक पता नहीं चल सका हैं।
राजस्थान सरकार को नोटिस : इधर, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक और स्वास्थ्य सेवाओं के महानिदेशक को दो सप्ताह में नोटिस का जवाब देने को कहा है। बच्चों से मिले पायलट, सरकार को बताया जिम्मेदार
जयपुर। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के मीडिया सेंटर पर कहा कि जामडोली के विमंदित गृह में 12 दिनों के दौरान 11 बच्चों की मृत्यु बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने मृतकों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि मौतों में प्रथम दृष्टया प्रतीत होता है कि बच्चों को उपलब्ध करवाया जा रहा भोजन व पानी दूषित था जिससे उनकी मौत हो गई। यह प्रकरण सरकारी अनदेखी का जीता-जागता उदाहरण है। अभी भी तीन और विमंदित बच्चे जीवन-मृत्यु के बीच में संघर्ष कर रहे हैं। सम्पूर्ण प्रकरण की जवाबदेही सुनिश्चित कर कार्रवाई की मांग की। पायलट बीमार बच्चों से मिलने जेके लोन हॉस्पिटल गए व उन्होंने आई.सी.यू. में जाकर बच्चों के हालात की जानकारी लेकर चिकित्सकों से वार्ता की।
फेसबुक पर गहलोत ने की टिप्पणी : गहलोत ने अपने फेसबुक पेज पर टिप्पणी की कि प्रदेश के सामाजिक एवं न्याय मंत्री द्वारा बच्चों की कमजोर इम्यूनिटी को मौत का कारण बताना अत्यन्त असंवेदनशील, गैर जिम्मेदार एवं बचकानी प्रतिक्रिया है। बच्चों को लगातार संक्रमित भोजन दिया गया जिससे वे मौत के मुंह में समा गए। इसके लिए पूरी तरह से प्रदेश भाजपा सरकार और सम्बंधित विभाग की जवाबदेही बनती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*