Tuesday , 21 November 2017
Breaking News
Home » Udaipur » हमारी अस्मिता पर हमला, कानून क्या सब कुछ तोड़ देंगे

हमारी अस्मिता पर हमला, कानून क्या सब कुछ तोड़ देंगे

  • पद्मावती फिल्म के विरोध में दिया ज्ञापन, 24 को होगा उग्र प्रदर्शन
  • विधायक भीण्डर की खुली चेतावनी

Padmavatiउदयपुर। रानी पद्मावती पर आधारित पद्मावती फिल्म को लेकर वल्लभनगर विधायक और जनता सेना के संस्थापक रणधीरसिंह भीण्डर ने ऐलान किया है कि ट्रेलर लांच के बाद जिस तरह से फिल्म का एक मामूली भाग सामने आया है वह हमारी अस्मिता पर हमला है और ऐसे में हम कानून तो क्या सब कुछ तोड़ देंगेे। प्रदेश के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के थिएटरों की सुरक्षा वाले बयान पर कठोर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सरकार कुछ नहीं करेगी तो समाज और संगठन शांत नहीं रहेंगे। भीण्डर ने 24 नवम्बर को जिला कलेक्ट्री पर उग्र प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।
संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित फिल्म पद्मावती का ट्रेलर सामने आने के बाद सोमवार को दोपहर तीन बजे फिल्म पद्मावती के विरोध में जनता सेना ने संस्थापक विधायक रणधीरसिंह भींडर के नेतृत्व में जिलाधीश को ज्ञापन दिया। कलेक्ट्री में दर्जनों की संख्या में जनता सेना के पदाधिकारी और कार्यकर्ता एकत्रित हुए। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक ने कहा कि राजस्थान में किसी भी सूरत में फिल्म को रीलीज नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि ये कोई छोटा-मोटा मामला नहीं है, कानून का भी मामला है, ये हमारी अस्मिता का मामला है। भीण्डर ने कहा जो गाना लांच किया गया है, उसमें जिस तरह के परिधान रानी पद्मावती का किरदार कर रही अभिनेत्री को पहनाया गया, ऐसे परिधान राजपूत समाज की महिलाएं नही पहनती है और जिस तरह से घूमर नामक गाने पर डांस किया गया है, ऐसा डांस राजपरिवार में कभी नहीं किया जाता है। भीण्डर ने कहा कि जब फिल्म बन रही थी तब करणी सेना ने प्रदर्शन कर विरोध किया था तब भंसाली ने कहा था कि वे आपत्तिजनक चीजों को हटाएंगे और रिलीज से पहले दिखाएंगे, परन्तु अपना वायदा पूरा नहीं किया।
भीण्डर ने कहा कि जिस महारानी के उपर फिल्म का निर्माण किया गया है कम से कम उस राजपरिवार से स्वीकृति तो लेनी चाहिए थी ऐसा भी नहीं किया गया। भीण्डर ने कहा कि गृहमंत्री कटारिया की कानून व्यवस्था बनाने की बात पर हम साथ है, लेकिन हमारी मां के ऊपर आंच आती है तब हम चिंता नहीं करेंगे। चेतावनी देते हुए भीण्डर ने कहा कि अगर बात अस्मिता की है और सरकार भी इस ओर कार्यवाही नहीं करती है तो हम कानून क्या सब कुछ तोड़ देंगे, जिसको जो करना हो कर ले। भीण्डर ने कहा कि 24 को जिला कलेक्ट्री पर उग्र प्रदर्शन किया जाएगा। मेवाड़ के पूर्व राजपरिवार के सदस्य विश्वराजसिंह मेवाड़ ने फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली पर फिल्म पद्मावती में मेवाड़ के इतिहास को गलत तरीके से पेश करने का आरोप लगाते हुए आक्रोश जताया है। उन्होंने केन्द्र सरकार को लिखे पत्र में कहा कि फिल्म की अब तक सामने आई कहानी, गानो से लगता है कि उन्होंने सारी हदें पार कर ली है।
पत्र में कहा कि फिल्म का कथानक मेवाड़ राजपरिवार और इसके इतिहास से सम्बन्धित है, लेकिन फिल्म निर्माता ने इस संबंध मे तथ्य सत्यापित करने के लिए राजपरिवार से सम्पर्क नहीं किया।
कराये आम जन से हस्ताक्षर
मेवाड की महारानी पद्मिनी के जीवन पर आधारित संजय लीला भंसाली की फिल्म पदमावती के खिलाफ सोमवार को सकल राजपूत महासभा मेवाड की ओर से तीतरडी, सवीना चौराहे पर हस्ताक्षर अभियान का आगाज किया गया। संस्थापक तनवीर सिंह कृष्णावत ने बताया कि इस तरह की फिल्म का चित्रांकन व फिल्मांकन करना देश की अस्मिता पर प्रश्न चिन्ह हैं पदमिनी हमारे इतिहास व संस्कृति की स्मृति है। उसको विनाश करने का किसी को कोई अधिकार नहीं है। हस्ताक्षर अभियान में गिर्वा प्रधान तख्तसिंह शक्तावत, देहात अध्यक्ष गोपाल सिंह तितरड़ी, उपसरपंच राजेन्द्रसिंह सिसोदिया, प्रेम सिंह तितरडी, मनोहर सिंह, सूर्यवीरसिंह कोटडा, सोहन सिंह, भेरूसिंह दांतीसर, जवान सिंह जावद, डॉ. घनश्याम सिंह भीण्डर, कृष्णकांत कुमावत सहित कार्यकर्ताओं ने आमजन से पद्मिनी की फिल्म के खिलाफ हस्ताक्षर कराये।
पुतला दहन आज
मंगलवार को पांच बजे सवीना चौराहे पर सकल राजपूत महासभा के कार्यकर्ता द्वारा संजय लीला भंसाली का पुतला दहन किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*