Thursday , 14 December 2017
Breaking News
Home » Udaipur » हत्या कर किया था फोन, कहा- हो गया काम

हत्या कर किया था फोन, कहा- हो गया काम

पत्नी को भेजा जेल, प्रेमी रिमाण्ड पर

उदयपुर। जिले के माण्डवा थाना क्षेत्र में प्रेमी के साथ रहने में रोड़ा बन रहे पति की हत्या करने वाली महिला को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। इधर आरोपी प्रेमी को रिमाण्ड पर प्राप्त किया है। महिला अपने पति की हत्या से लेकर हत्या के बाद प्रेमी के सम्पर्क में थी और हत्या के बाद प्रेमी को कहा था कि काम हो गया।
थानाधिकारी माण्डवा बहादुर मल देवड़ा ने बताया कि नरेन्द्र पुत्र प्रभुलाल शर्मा निवासी बिकरणी की उसी की पत्नी नीलम ने हत्या कर दी और अपने प्रेमी कैलाश रावल निवासी खाम्बल सिरोही के पास भाग गई थी। आरोपी नीलम ने हत्या करने के बाद नरेन्द्र द्वारा आत्महत्या करने का नाटक किया था। घटना के बाद पुलिस ने आरोपी कैलाश रावल के घर खाम्बल सिरोही में दबिश दी और रावल और इसकी प्रेमिका नीलम को पकड़ा और थाने पर लाकर पूछताछ की तो नीलम ने हत्या करना स्वीकार कर लिया। नीलम ने बताया कि उसका पति नरेन्द्र उसके और कैलाश के साथ में रहने पर रोड़ा बन रहा था। इसी कारण उसने अपने पति के खाने में नशीली वस्तु मिलाई। खाना खाने के बाद वह बेहोंश हो गया तो मौका देखकर रात्रि को रस्सी से गला घोंटकर मार दिया। जांच में सामने आया कि आरोपी महिला नीलम का चरित्र सही नहीं है और आए दिन होटलों में जाती रहती है। सिरोही में गायत्री होटल में जाने के दौरान वहां पर काम करने वाले कैलाश से उसका परिचय हुआ था। पुलिस के अनुसार महिला नीलम ने पति नरेन्द्र के होने के बाद भी कैलाश से कुछ समय पूर्व मंदिर में शादी कर न्यायालय से रजिस्टर्ड तक करवा ली थी।
पुलिस ने इस मामले में नीलम और कैलाश रावल को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो नीलम ने बताया कि पति को मारने की योजना तो पहले ही बना चुकी थी और कैलाश ने अपनी सहमति दी थी। हत्या करने से पहले जब उसने अपने पति को नशीली दवाई खिलाई थी तो उसने फोन पर कैलाश को सूचना दी और हत्या के बाद कैलाश को फोन कर कहा था कि काम हो गया। इसके बाद वह दोनों बच्चो को लेकर कैलाश के घर पर चली गई थी। इधर पुलिस ने आरोपी नीलम और कैलाश को न्यायालय में पेश किया जहां से नीलम को जेल भेज दिया गया और कैलाश को 12 अगस्त तक रिमाण्ड पर प्राप्त किया है। जिससे स्कूटी और अन्य सामान बरामद करना शेष है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*