Thursday , 26 April 2018
Breaking News
Home » Udaipur » सिल्वर एम्पोरियम और मेवाड़ जेम्स आर्ट में एक करोड़ की चोरी

सिल्वर एम्पोरियम और मेवाड़ जेम्स आर्ट में एक करोड़ की चोरी

4 घंटे में पकड़ा चपरासी को, रात्रि को डुप्लीकेट चाबी से शो रूम पर किया हाथ साफ

उदयपुर। शहर के प्रमुख बापू बाजार में सिल्वर एम्पोरियम एवं मेवाड़ जेम्स आर्ट में कार्य करने वाले चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी ने डुप्लीकेट चाबी से दुकान के ताले खोलकर फिल्मी अंदाज में करीब एक करोड़ की ज्वेलरी, जेम्स एवं तिजोरी से लाखों रूपए नकद चुरा कर ले गया। यही नहीं सबूत नष्ट करने के लिए चोर सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग करने वाली डीवीआर मशीन भी अपने साथ ले गया। इस सनसनीखेज चोरी के बाद पुलिस के आला अधिकारी से लेकर सभी ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया और दुकान पर काम करने वाले सभी कर्मचारियों को उठाया। पुलिस की त्वरित कार्यवाही से मात्र 4 घंटे में ही एक माह पूर्व ही काम पर लौटे दिल्ली की तरफ के एक युवक को चोरी में गिरफ्तार किया।पुलिस ने उसकी निशानदेही से उसके घर से जेवरात व नकदी बरामद कर ली। चोरी की सूचना पर एकबारगी हड़कंप मच गया और मौके पर पुलिस के आलाधिकारी पहुंचे।
बापू बाजार स्थित सिल्वर एम्पोरियम और मेवाड़ जेम्स आर्ट का सुबह 9 बजे करीब शो रूम के गार्ड मोहिंद्र सिंह ने शटर खोले तो अंदर सारा सामान अस्त-व्यस्त पाया। इस पर उसने तुरन्त मालिक को फोन पर सूचना दी। सूचना मिलने पर शो रूम मालिक सर्वऋतु विलास निवासी मनीष पुत्र श्रीपाल धर्मावत परिजनों के साथ शो रूम पहुंचे और चोरी की सूचना सूरजपोल थाने पर दी। इस पर शहर के वरिष्ठ अधिकारी से लेकर सूरजपोल थानाधिकारी आदर्श कुमार मौके पर गए और उच्चाधिकारियों को बताया। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर हर्ष रत्नू, पुलिस उप अधीक्षक भगवत सिंह हिंगड़ सहित अन्य अधिकारियों ने भी मौका मुआयना किया। पुलिस अधिकारियों ने तत्काल कार्यवाही करते हुए शो रूम में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को हाथों-हाथ उनके घरों से उठा थाने पर लाकर गहनता से पूछताछ की तो दिल्ली क्षेत्र के रहने वाले एक युवक देवेंद्र पुत्र श्यामलाल जो हाल ही में शो रूम से मात्र डेढ़ सौ मीटर की दूरी पर शिव मंदिर की गली जोगीवाड़ा में सत्यनारायण उर्फ मुन्नानाथ के मकान में किराये रहता है वह कड़ी पूछताछ में टूट गया। वह अपने पिता श्यामलाल और गर्भवती पत्नी देवांशी के साथ रह रहा था। पुलिस द्वारा अपरान्ह तीन बजे तक उससे गहनता से पूछताछ की तो उसने चोरी की वारदात करना कबूल कर लिया। अपरान्ह बाद पुलिस जाब्ते ने थानाधिकारी के नेतृत्व में उसे नकाब पहना कर उसके घर ले गए और घर में छिपा रखा रखा चोरी का अधिकांश माल एक बड़े ब्राउन बैग में भरकर ले गए। पुलिस की कार्यवाही के दौरान मकान के बाहर व गली के बाहर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। पुलिस की आनन-फानन में हुई कार्यवाही के बाद सभी हतप्रभ रह गए। पुलिस ने मकान को सीज कर दिया और वहीं पर एक सिपाही को भी बिठा दिया। थाने पर बाप-बेटे से गहनता से पूछताछ की जा रही है। शाम को शो रूम मालिक मनीष धर्मावत अपने अन्य कर्मचारियों के साथ थाने पर गए जहां पर जेवरात व जेम्स की जांच-पड़ताल की जा रही है। पुलिस द्वारा की गई त्वरित कार्यवाही से एक करोड़ रूपए की चोरी का राजफाश करने तक पहुंच चुकी है। लेकिन पुलिस ने अभी तक वारदात का खुलासा नहीं किया है। थानाधिकारी आदर्श कुमार ने केवल इतना ही बताया कि पांच-सात संदिग्धों को बिठाया है और उनसे कड़ी पूछताछ की जा रही है। शीघ्र ही मामले का राजफाश होगा। डुप्लीकेट चाबी से की वारदात, डीवीआर भी ले गया
शहर के बापू बाजार में पांच मंजिला शो रूम में प्रथम दो माले पर संचालित होने वाले सिल्वर एम्पोरियम व मेवाड़ जेम्स के मालिक मनीष पुत्र श्रीपाल धर्मावत के अनुसार सुबह 9 बजे करीब दुकान के गार्ड मोहिंद्र सिंह ने दुकान के शटर खोले तो अंदर सारा सामान अस्त-व्यस्त पाया। उसने तुरन्त मालिक को फोन पर सूचना दी। सूचना मिलने पर वे शो रूम पर आए तो देखा कि दुकान की सारी ड्रोअर, तिजोरी खुली पड़ी है और ऊपरी मंजिल पर स्थित मेवाड़ जेम्स आर्ट में भी सारा सामान अस्त-व्यस्त था। उन्होंने बताया कि रात्रि करीब साढ़े आठ बजे अपने साथी कर्मचारियों के साथ शोरूम बंद कर गए थे। दुकान में मेवाड़ आर्ट जेम्स का कार्य श्रवण सिंह शेखावत एवं उनके साझेदार आरीफ हुसैन द्वारा किया जाता है। दोनों अभी बाहर गए हुए है। बारीकी से जांच-पड़ताल की तो पता चला कि दुकान में किसी तरह की कोई तोड़फोड़ या ताला टूटा हुआ नहीं पाया। न ही किसी तरह की सेंधमारी नजर आई। जब देवेन्द्र को उठाकर पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने मौका पाकर शो रूम के पिछले दरवाजे की डुप्लीकेट चाबी बनवा ली और उसी चाबी का इस्तेमाल कर उसने पहले शो रूम का पिछला दरवाजा खोला। उसके बाद वह प्रथम तल पर गया। प्रथम तल पर दरवाजे को खोल अंदर घुसा वहां पर चोरी की वारदात को अंजाम दिया और उसके बाद सीढ़ियों से नीचे सिल्वर एम्पोरियम में आया और वहां पर भी दराज तोड़कर अंदर रखे कीमती जेवरात, हीरे, पन्ने, डायमंड चुराए। वहीं पर लगा रखी तिजोरी को खोला और उसमें रखे लाखों रूपए चुरा कर ले गया। आरोपी देवेन्द्र ने वारदात को अंजाम देने के दौरान सबूत नष्ट करने की नियत सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर मशीन जिसमें सारी रिकॉर्डिंग कैद होती है को भी उठा कर ले गया ताकि पुलिस को सुराग हाथ न लगे। लाखों रूपए के हीरे-जवाहरात व नकदी चोरी होने से शो रूम मालिक के हाल बेहाल हो गए। सूरजपोल थानाधिकारी आदर्श कुमार मय जाब्ते के मौके पर आए। घटना के जो हालात बताए जा रहे थे उससे यह स्पष्ट नजर आ रहा था कि वारदात किसी अपने या शो रूम में काम करने वाले कर्मचारी द्वारा ही कारित की गई है। इसी आधार चार घंटे में शो रूम पर काम करने वाले एक दर्जन कर्मचारियों को उनके घरों से उठा लिया और थाने पर लाकर कड़ाई से पूछताछ की गई, जिसमें पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी और शो रूम में ही काम करने वाले देवेंद्र पुत्र श्यामलाल को हिरासत में ले लिया और उससे माल बरामद कर लिया। एक माह पूर्व ही आया था नौकरी पर
बताया गया है कि देवेंद्र करीब सात-आठ माह तक शो रूम पर नौकरी करके गया था और उसके बाद उसने नौकरी छोड़ दी, लेकिन पत्नी के डिलेवरी होने वाली थी और पैसों की आवश्यकता होना बता कर शो रूम मालिक से दुकान के गार्ड के जरिये पुनः नौकरी ली। यह शो रूम में साफ-सफाई व चाय पिलाने का कार्य करता था। इस साफ-सफाई के दौरान उसने पूरी रैकी कर ली कि कौन सी कीमती धातु और तिजोरी की चाबियां कहां रखी है।
पुलिस सायरन से मोहल्लेवासी हुए जमा
सूरजपोल थाने में पकड़ कर लाए कर्मचारियों से पूछताछ के बाद कर्मचारी देवेंद्र टूट गया और उसने चोरी करना कबूल किया तो अपरान्ह तीन बजे थानाधिकारी उसे जीप में डालकर बापू बाजार से सायरन बजाते हुए जोगीवाड़ा में उसके किराये के मकान के वहां पहुंचे तो मकान के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो गई। महिलाएं मकान के बाहर एकत्र हो गई। इस दौरान सायरन की आवाज सुनकर मीडियाकर्मी भी पहुंच गए। करीब आधे घंटे तक पुलिस ने उसके घर की तलाशी ली और एक बड़े बैग में चोरी का सारा माल भर कर ले गए। रात साढ़े 12 बजे घर से जाते देखा
पुलिस की कार्यवाही के बाद आसपास के लोगों ने बताया कि रात करीब साढ़े 12 बजे देवेंद्र को घर से निकलते हुए देखा था और वापस कब आया यह नहीं पता। शनिवार सुबह सिल्वर एम्पोरियम में चोरी की सूचना मिली थी बाद में जब दिन में इसे पुलिस पकड़ कर लाई तब पता चला कि यह रात को चोरी करने गया था। इसे पहले पिता श्यामलाल ने नौकरी पर रखवाया था और बाद में इसने छोड़ दी थी। फिर एक माह पूर्व ही यह नौकरी पर गया था।
गर्भवती पत्नी मोहल्लेवासियों के भरोसे
आरोपी देवेंद्र की पत्नी देवांशी जिसका किसी भी समय प्रसव हो सकता है वह मौहल्ले की महिलाओं के भरोसे है। पुलिसकर्मी उनके सारे मोबाइल भी सीज करके ले गए, जिससे वह अपने किसी रिश्तेदार को भी फोन नहीं कर पा रही थी। बताया जा रहा है देवेंद्र देवांशी से अन्तरजातीय विवाह कर एक वर्ष पूर्व ही लेकर आया था। पड़ौसी महिलाओं ने फिलहाल उसे सहारा दिया है और दिल्ली में उसके रिश्तेदारों को सूचना दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*