Tuesday , 20 February 2018
Breaking News
Home » Udaipur » वृद्धा की शिनाख्त परेड के बाद दो युवक गिरफ्तार, चार के नाम आए सामने

वृद्धा की शिनाख्त परेड के बाद दो युवक गिरफ्तार, चार के नाम आए सामने

उदयपुर। शहर के हिरणमगरी थाना क्षेत्र में गत दिनों घर के पिछवाड़े में सेंधमारी कर अंदर घुसकर अकेली सो रही एक वृद्धा के कान काटकर जेवरात लूटपाट करने में पुलिस ने दो युवकों को वृद्धा की शिनाख्त परेड़ के बाद फिर से गिरफ्तार किया है। मामले में दो ओर बदमाशों के नाम सामने आए है। जिनकी तलाश की जा रही है। पुलिस ने दोनों आरोपियों से कुछ जेवरात भी बरामद किए है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार एकलिंगपुरा निवासी सोहनलाल पुत्र कन्ना डांगी की वृद्ध मां उदी बाई डांगी पैतृक मकान में अकेली रहती है। 4 फरवरी की रात्रि को अज्ञात बदमाश कमरे में पीछे की ओर स्थित खिड़की के नीचे दीवार में छेद कर अंदर घुसे और वृद्धा के साथ मारपीट कर कान में पहनी सोने की ओगनिया, गुटिया चार तोले की और एक तोले की नथ, चांदी की ढाई सौ ग्राम की दो चेने, चांदी की दो चूड़ियां व अंगूठी के अलावा दस हजार रूपए नकद अज्ञात बदमाश लूट कर ले गए। वृद्धा के कान में पहने जेवर खींचने से कान फट गए। मामले में पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र प्रसाद गोयल के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर हर्ष रत्नू के निर्देशन में और थानाधिकारी जितेन्द्र आंचलिया के नेतृत्व में उपनिरीक्षक यशवंत सोलंकी, एएसआई हमेरलाल, हैड कांस्टेबल विक्रमसिंह, उपेन्द्रसिह, रमेश कुमार, राकेश विश्रोई, राजेन्द्रसिंह की टीम का गठन किया गया।
पुलिस ने उसी दिन कार्यवाही करते हुए आस-पास की बस्ती में दबिश दी। इस दौरान दो युवकों के शर्ट पर खून के धब्बे नजर आए, जिन्हें धोने का प्रयास किया था। पूछताछ में आरेापियों ने पहले तो शर्ट पर लगे धब्बों को स्वयं का खून बताया। बाद में सख्ती से पूछताछ पर आरोपियों ने वृद्धा का खून होना बताकर लूटपाट करना स्वीकार कर लिया। पूछताछ में आरोपियों ने अपने नाम उथनोल नाथद्वारा हाल एकलिंगपुरा निवासी राजूलाल उर्फ राजू पुत्र भंवरलाल उर्फ भंवरू वागरिया और एकलिंगपुरा निवासी शम्भूलाल उर्फ शम्भू पुत्र परथा वागरिया होना बताया। पुलिस ने आरोपियों को पहले गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर जेल भिजवाया।
जेल में आरोपियों की शिनाख्त परेड करवाई और इसके बाद फिर से न्यायालय से आदेश प्राप्त कर आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि इस वारदात में किशन उर्फ नाथू और सोनह उर्फ राजू भी शामिल थे। जिनकी भी तलाश की जा रही है। आरोपियों से पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि लूटे गए जेवरातों में से उनके हिस्से के जेवरात उन्होंने घर के आंगन में ही गड्डा खोदकर गाड़ रखे है। इस पर पुलिस ने आंगन में खोदकर वृद्धा की चांदी की चेन, हाथ के कंगन, एक अंगूठी बरामद की। आरोपियों को न्यायालय में पेश कर 19 फरवरी तक पूछताछ के लिए रिमाण्ड प्राप्त किया है।
अकेली देखकर किया हमला
आरोपियों ने बताया कि पहले तो अकेली महिला की तलाश कर रहे थे। इस वृद्धा को चिन्हि्त करने के बाद रैकी की और बाद में योजना बनाकर यह हमला किया था। लूट के बाद आपस में माल बांटा और फरार हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*