Thursday , 14 December 2017
Breaking News
Home » Udaipur » लूट, डकैती, अपहरण, बलात्कार का हार्डकोर आरोपी गिरफ्तार

लूट, डकैती, अपहरण, बलात्कार का हार्डकोर आरोपी गिरफ्तार

उदयपुर। आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) की उदयपुर चौकी ने शहर में एक बड़ी कार्यवाही करते हुए लूट, डकैती, अपहरण, बलात्कार, सरकारी पैट्रोल को लूटने और मादक पदार्थ परिवहन करने में फरार चल रहे एक हार्डकोर अपराधी को गिरफ्तार किया है। आरोपी पर विभाग की ओर से 5 हजार रूपए का ईनाम घोषित किया था। आरोपी गुजरात भागने की फिराक में था और सुखेर में एक मकान में छिपा हुआ था। जिसे पुलिस ने दबिश देकर पकड़ा था।लूट, डकैती, अपहरण, बलात्कार का हार्डकोर आरोपी गिरफ्तारउदयपुर। आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) की उदयपुर चौकी ने शहर में एक बड़ी कार्यवाही करते हुए लूट, डकैती, अपहरण, बलात्कार, सरकारी पैट्रोल को लूटने और मादक पदार्थ परिवहन करने में फरार चल रहे एक हार्डकोर अपराधी को गिरफ्तार किया है। आरोपी पर विभाग की ओर से 5 हजार रूपए का ईनाम घोषित किया था। आरोपी गुजरात भागने की फिराक में था और सुखेर में एक मकान में छिपा हुआ था। जिसे पुलिस ने दबिश देकर पकड़ा था।एटीएस की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रानू शर्मा ने बताया कि चित्तौड़ का ईनामी अपराधी पोखर पुत्र मि_ूलाल खटीक निवासी चिकारड़ा कई समय से फरार चल रहा था। जिसकी लगातार पुलिस को तलाश थी।  इस आरोपी के खिलाफ विभाग की ओर से 5 हजार रूपए का ईनाम रखा हुआ था और इसकी सरगर्मी से तलाश की जा रही थी। तलाशी के दौरान ही सामने आया कि आरोपी गांधी नगर में आरटीओ ऑफिस के पास में एक मकान में छिपा हुआ है और स्कार्पियों में सवार होकर गुजरात भागने की फिराक में है। इस पर चौकी प्रभारी रानू शर्मा के निर्देशन में उपनिरीक्षक गोपाल रामचंदानी, हैड कांस्टेबल मौजेन्द्रसिंह, कांस्टेबल तेजेन्द्रसिंह, महेन्द्र कुमार, नवीन गौड, ललित कुमार, अरूण कुमार की टीम ने तड़के सुखेर में गांधी नगर में इस मकान पर दबिश दी। इस दौरान आरोपी को पता चल गया तो उसने भागने का प्रयास किया। काफी प्रयास के बाद भी आरोपी पोखर खटीक भाग नहीं पाया और एटीएस ने उसे दबोच लिया। एटीएस ने घर के आगे से एक स्कार्पियों भी बरामद की है। इस कार को आरोपी फरारी काटने के लिए उपयोग में ले रहा था। आरोपी के पास पुलिस को तीन मोबाईल और 5 हजार 600 रूपए नकद भी बरामद किए है।> आरोपी पोखर खटीक वर्ष 2005 में अपने गोदाम में अवैध रूप से साल्वेंट जमा कर रखा था और विस्फोट होने पर आस-पास के मकान उड़ गए थे।> आरोपी पोखर खटीक के पास से निम्बाहेड़ा पुलिस ने सोल्वेंट के ड्रम पकड़े थे।> वर्ष 2007 में एक युवती का अपहरण कर उसे बंधक बनाकर बेच दिया था, इसमें भी निकुम्भ पुलिस तलाश कर रही है।> वर्ष 2009 में गैंग के साथ गंगरार और चंदेरिया में सरकारी पाईप लाईन से तेल चोरी किया था।> वर्ष 2010 में सिरोही 700 किलोग्राम डोडा-चूरा बरामद किया था।> वर्ष 2013 में सदर चित्तौड़ में परमिट शुदा डोडा-चूरा का ट्रक के चालक और खलासी को मिलकर लूट लिया।> वर्ष 2013 में सदर चित्तौडग़ढ़ में अपहरण व लूट की थी।> वर्ष 2016 में किशनगढ़ अजमेर में 601 किलो डोडा-चूरा के साथ पकड़ा गया था।

One comment

  1. ऐसे लोगो को फांसी कि सजा देना चाहिए. ताकि कोई और ऐसे काम करने की हिम्मत ना करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*