Thursday , 18 January 2018
Breaking News
Home » Udaipur » रिश्वत लेने वाले लेखाकार व लिपिक के खिलाफ चालान पेश

रिश्वत लेने वाले लेखाकार व लिपिक के खिलाफ चालान पेश

उदयपुर। सेवानिवृत्त महिला पर्यवेक्षक का एरियर बिल बनाने की एवज में दस हजार रूपए की रिश्वत लेने वाले बाल विकास परियोजना विभाग के लेखाधिकारी एवं कनिष्ठ लिपिक कम कैशियर के खिलाफ शुक्रवार को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने आरोप पत्र पेश किया। अदालत ने दोनों आरोपियों के खिलाफ प्रसंज्ञान लिया।
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो डूंगरपुर चौकी के पुलिस उप अधीक्षक गुलाबसिंह ने एरियर बिल बनाने की एवज में दस हजार रूपए की रिश्वत लेने वाले बाल विकास परियोजना अधिकारी मावली के लेखाकार को सानकोटड़ा जमवारामगढ़ आंधी जयपुर निवासी बद्री पुत्र सुखदेव मीणा एवं कनिष्ठ लिपिक कम कैशियर गोवर्धनपुरा मावली निवासी सुरेश सिंह पुत्र भंवर सिंह राजपूत के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा-7, 13 (1) (डी), 13 (2) एवं भादसं की धारा 120-बी में शुक्रवार को विशिष्ट न्यायालय (भ्रष्टाचार निवारण मामलात) की अदालत में आरोप पत्र पेश किया।
भगवानपुरा खेमपुर मावली निवासी सेवानिवृत्त महिला पर्यवेक्षक सज्जन कुंवर राठौड़ पत्नी भंवरसिंह राणावत ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो डंूगरपुर चौकी पर शिकायत की कि पर्यवेक्षक के पद पर बाल विकास परियोजना अधिकारी मावली के पद पर पदस्थापित थी। इस दौरान एक मार्च 2013 से 28 नवम्बर 2014 तक नौ माह के लिए उसे निलंबित कर दिया गया। निलंबन बहाल होकर 30 नवम्बर 2014 को सेवानिवृत्त हुई। निलंबन काल के दौरान 9 माह का चयनित वेतनमान एवं एरियर बिल बनाने के लिए लेखाकार बद्री मीणा से मिली और उसे बिल बनाने की एवज में 30 हजार रूपए बतौर रिश्वत के रूप में दिए। उसके बावजूद भी उसके द्वारा बिल नहीं बनाए गए। वेतन एरियर की राशि दो लाख, अवकाश समर्पित के चार लाख और वेतनमान स्थिरीकरण के 6 लाख 40 हजार रूपए थे, जिसका बिल बनाने की एवज में लेखाधिकारी ने दस हजार रूपए की और मांग की। इस पर ब्यूरो में शिकायत की। ब्यूरो टीम ने शिकायत का सत्यापन कराया, जिसमें रिश्वत मांगने की पुष्टि होने पर गत वर्ष 10 जून को मावली में 9 हजार रूपए की रिश्वत लेते लेखाधिकारी बद्री मीणा व एक हजार की रिश्वत लेते कनिष्ठ लिपिक कम कैशियर सुरेश सिंह राजपूत को रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। इन आरोपियों के खिलाफ जांच पूर्ण कर प्राथमिकी दर्ज की गई और विभाग से अभियोजन स्वीकृति ली गई। शुक्रवार को रिश्वत लेने के मामले में लिप्त दोनों आरोपियों के खिलाफ अदालत में आरोप पत्र पेश किया गया।

One comment

  1. Kisan kunwar rajput

    Bahut accha Kiya Main main bhi bahut badhiya kaam jhadol Ke Andar Kiya Hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*