Sunday , 27 May 2018
Breaking News
Home » Udaipur » मेवाड़ हॉस्पीटल और यूनाईटेड ग्रुप पर आयकर विभाग की कार्यवाही

मेवाड़ हॉस्पीटल और यूनाईटेड ग्रुप पर आयकर विभाग की कार्यवाही

दोनों प्रतिष्ठानों के 30 से अधिक ठिकानों पर दबिश

उदयपुर। आयकर विभाग ने मंगलवार सवेरे शहर में बड़ी कार्यवाही करते हुए मेवाड़ हॉस्पीटल के देश भर में स्थित करीब 20 से अधिक ठिकानों पर एक साथ कार्यवाही शुरू की। उदयपुर, अजमेर, डूंगरपुर, भीलवाड़ा के साथ-साथ 20 से अधिक ठिकानों पर एक साथ दी गई दबिश के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। आयकर विभाग ने शहर में एक प्रमुख मार्बल व्यवसायी यूनाईटेड नेचुरल स्टोन ग्रुप के कई ठिकानों पर भी एक साथ कार्यवाही शुरू की, जिसमें बेनामी सम्पति और अन्य दस्तावेजों की जांच की जा रही है। बताया जा रहा है कि यह ग्रुप विदेशों में निर्यात करने का काम करता है।
सूत्रों के अनुसार आयकर विभाग की टीम के तीन दर्जन से अधिक अधिकारी और कर्मचारी सुबह करीब 6 बजे मेवाड़ हॉस्पीटल पहुंचे और जाते ही अपनी कार्यवाही शुरू कर दी। आयकर विभाग ने जैसे ही सर्वे की कार्यवाही शुरू की और दस्तावेज मांगे तो हॉस्पीटल प्रबंधन में हड़कंप मच गया। विभाग ने एक साथ इस हॉस्पीटल ग्रुप के प्रदेश में फैले 20 से अधिक ठिकानों पर एक साथ दबिश दी, जिसमें सैंकड़ों कर्मचारियों ने दस्तावेजों को खंगालना शुरू कर दिया। विभाग की टीम सुबह फतहपुरा स्थित आयकर कार्यालय के बाहर एकत्रित हुई और वहां से अतिरिक्त आयकर निदेशक के नेतृत्व में इस कार्यवाही को अंजाम दिया गया। सूत्रों के अनुसार सुबह से शुरू हुई इस कार्यवाही में शाम तक आयकर विभाग के अधिकारी इस चिकित्सालय में जमे हुए थे और प्रशासनिक ब्लॉक को सील कर अंदर के सारे दस्तावेज जब्त कर सत्यापन करवाया जा रहा था। बताया जा रहा है कि कई अघोषित सम्पति के साथ-साथ आयकर चोरी के दस्तावेज मिले है। जिन्हें जब्त किया जा रहा है। इसके साथ ही आयकर विभाग की टीम ने चिकित्सालय के निदेशक के घर पर और कार्यालय पर भी दबिश दी है। जहां से भी दस्तावेज जब्त किए है।
आयकर विभाग की एक अन्य टीम ने शहर में ही स्थित एक मार्बल प्रतिष्ठान यूनाईटेड नेचुरल स्टोन ग्रुप के भी कई ठिकानों पर एक साथ दबिश दी। जानकारी के अनुसार इस मार्बल ग्रुप का व्यापार भारत के अलावा कई देशों में है, जहां पर ये अपना माल निर्यात करते है। बताया जा रहा है कि इस गु्रप का अधिकांश माल निर्यात ही होता है। इस ग्रुप के भी एक दर्जन से अधिक स्थानीय और बाहर के ठिकानों पर एक साथ दर्जनों की संख्या में आयकर विभाग के अधिकारी और कर्मचारी पहुंचे और ठिकानों को सील कर कार्यवाही शुरू की। टीम ने वहां से भी दस्तावेज जब्त किए है। सूत्रों के अनुसार इस मार्बल व्यवसायी के वहां से भी अघोषित सम्पति के साथ-साथ कई जगह निवेश व आयकर जमा नहंी करवाने के दस्तावेज भी मिले है। जिन्हें जब्त किया गया। यह कार्यवाही मंगलवार रात भर जारी रही। इधर इस संबंध में आयकर अधिकारियों से सम्पर्क करने का प्रयास किया तो आयकर अधिकारियों ने जानकारी नहीं दी। चिकित्सालय से स्टॉफ हुआ गायब
जानकारी के अनुसार आयकर विभाग की इस कार्यवाही की जैसे ही सूचना मिली तो चिकित्सालय से अधिकांश स्टॉफ गायब हो गया। डूंगरपुर में तो स्टॉफ आया ही नहीं। वहीं उदयपुर व अजमेर में आने के बाद स्टॉफ डर के मारे चला गया।
मरीजों को परेशानी नहीं
जानकारी के अनुसार आयकर विभाग की इस कार्यवाही में मरीजों को किसी तरह की परेशानी नहीं होने दी जा रही है। हमेशा की तरह मरीज व उनके परिजन आ रहे है और उपचार करवा रहे है। मरीजों व परिजनों में भी इस कार्यवाही को लेकर चर्चा का विषय बना रहा।
मार्बल व्यवसायी भी भूमिगत
इधर जैसे ही आयकर विभाग की टीम ने दबिश दी तो मार्बल के व्यापारी भी भूमिगत हो गए है। सूत्रों के अनुसार सुखेर, भुवाणा, अम्बेरी में मार्बल फैक्ट्रीयों में काम तो चल रहा था, परन्तु अधिकांश फैक्टि्रयों से मालिक नदारद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*