Saturday , 26 May 2018
Breaking News
Home » Udaipur » बेटे की बीमारी से परेशान चिकित्सक मां ने लगाई फांसी

बेटे की बीमारी से परेशान चिकित्सक मां ने लगाई फांसी

मृतका का पति भी चिकित्सक और निजी हॉस्पीटल में अधीक्षक

hanging-suicideउदयपुर। शहर के अम्बामाता थाना क्षेत्र में होम्योपैथी महिला चिकित्सक ने बेटे की बीमारी से परेशान होकर किचन में साड़ी से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका का पति भी चिकित्सक और एक निजी चिकित्सालय में अधीक्षक के पद पर कार्यरत है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार शान्ति निकेतन कॉलोनी बेदला-बड़गांव लिंक रोड़ निवासी डॉ. शालू (47) पत्नी डॉ. तरूण व्यास सोमवार सुबह करीब साढ़े 9 बजे किचन का दरवाजा बंद कर किचन में लगे पंखे से साड़ी का फंदा लगाकर लटक गई। मृतका के 13 वर्षीय बेटे वरूण द्वारा कई बार दरवाजा खटखटाया, लेकिन अंदर से प्रत्युत्तर नहीं मिला तो उसने अपने पिता डॉ. तरूण व्यास को फोन किया। उसके बाद भी वह लगातार रसोई के दरवाजे को धक्का देता रहा, जिससे अंदर लगी चटखनी छिटक गई और दरवाजा खुल गया। मां को फंदे पर लटका हुआ देख वह भागता हुआ बाहर आया और जोर-जोर से चिल्लाने लगा। इस पर आस-पड़ौस के लोग भाग कर आए और उन्होंने फंदे पर लटक रही डॉ. शालू व्यास को नीचे उतारा और तुरन्त गाड़ी में डालकर अस्पताल के लिए रवाना हुए। इसी दौरान फॉर्टीज चिकित्सालय में कार्यरत शालू के पति डॉ. तरूण व्यास भी घर आ गए और पड़ौसियों के साथ उसे निजी चिकित्सालय ले गए, जहां आपातकालीन इकाई में जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। उधर, सूचना मिलने पर बड़गांव चौकी पुलिस से हेड कांस्टेबल ऊँकार सिंह मय टीम के मौके पर पहुंचे। मृतका जयपुर की रहने वाली है। पीहर को सूचना की। पीहर पक्ष के शाम को आने पर शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया। बताया गया है कि डॉ. तरूण व्यास सोमवार सुबह साढ़े 8 बजे घर से फॉर्टिज हॉस्पीटल में अपनी नौकरी पर चले गए और पीछे से घर पर उसकी पत्नी शालू और बेटा वरूण था। बताया गया है कि बेटे वरूण को मिर्गी का दौरा पड़ता था। इस कारण शालू विगत एक साल से मानसिक अवसाद से ग्रस्त थी। बताया गया है कि सोमवार शाम को ही उसके नाम से महंगी कार शो रूम से उठाई जानी थी और आगामी 16 मार्च को इनके माउंट आबू भ्रमण का प्रोग्राम था। मृतका का विवाह करीब 25 वर्ष पूर्व हुआ था। उसके एक बड़ी लड़की और एक छोटा बेटा है। फिलहाल अम्बामाता थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर आत्महत्या के कारणों की जांच शुरू कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*