Thursday , 23 November 2017
Breaking News
Home » Udaipur » बकाया 5 लाख रूपए नहीं देने पर इमरान कूंजड़ा ने की वारदात

बकाया 5 लाख रूपए नहीं देने पर इमरान कूंजड़ा ने की वारदात

kunjda_gangउदयपुर। शहर के अंबामाता थाना क्षेत्र मेें दिसम्बर माह में बजरंग दल के पदाधिकारी और प्रोपर्टी व्यवसाई का अपहरण कर उसके साथ अश्लील हरकतें करके फिरौती मांगने के मामले में फरार चल रहे ईमरान कूंजड़ा गिरोह के चार युवकों को पुलिस ने कांकरोली से गिरफ्तार किया है। पीडि़त से ईमरान कूंजड़ा 5 लाख रूपए मांगता था और नहीं देने के कारण ही उसका अपहरण किया और डरा-धमकाकर फिरौती मांगी। मामले में मुख्य आरोपी ईमरान कूंजड़ा के साथ-साथ पांच अन्य फरार चल रहे है। जिनकी तलाश की जा रही है।
जिला पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र प्रसाद गोयल ने बताया कि ओटीसी स्कीम सज्जननगर रामपुरा निवासी राजेन्द्र उर्फ राजू (32) पुत्र उंकार तेली को 23 दिसम्बर को फोनकर मकान का सौदा करने के बहाने रानी रोड़ पर बुलाया। राजू तेली एक कार के पास गया तो अन्दर बैठे इमरान कूंजड़ा गेंग के सदस्यों ने उसे अन्दर खींच लिया और ईसवाल चौराहे से आगे सूनसान कच्ची सड़क पर ले गए। जहां पर ईमरान कूंजड़ा व साथियों ने उसके साथ मारपीट की। रिल्वावर व चाकू दिखाकर एक लाख व पचास हजार के दो चेक ले लिये। ईमरान के साथी सद्दाम ने राजू तेली को निर्वस्त्र कर उसके साथ अश्लीलता का प्रयास करते हुए विडीयो बनाई। इसके बाद आरोपियों में एक युवक को राजू के घर पर भेजा। राजू ने अपनी पत्नी को फोन किया और उसने एक युवक को राजू के कहने पर बीस हजार रूपये दिए। इसके बाद राजू तेली को चौराहे पर छोड़ दिया गया। इधर इस बारे में लोगों को जानकारी मिलने पर मौके पर काफी संख्या में लोग एकत्रित हो गए। लोगों ने मल्लातलाई चौराहे पर जोरदार प्रदर्शन किया। हिन्दू संगठनों ने आक्रोश व्यक्त किया तो पुलिस ने समझाईश कर शीघ्र ही आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया।
मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक गोयल ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर सुधीर जोशी के निर्देशन में, डिप्टी गोपालसिंह और थानाधिकारी चन्द्र पुरोहित के नेतृत्व में तीन टीमों का गठन किया गया। इन टीमों ने कार्यवाही करते हुए आरोपियों की पहचान कर तलाश शुरू कर दी। लगातार तलाश के बाद पुलिस को पता चला कि इस घटनाक्रम के चार आरोपी कांकरोली में एक अमरूदों की बाड़ी में छिपे बैठे है। पुलिस की टीम ने दबिश देकर अमरूदों की बाड़ी में छिपे बैठे सद्दाम उर्फ कांकरोली पुत्र छोटे खां निवासी नाथद्वारा हाल कांकरोली, पृथ्वीराज उर्फ मोनू पुत्र राकेश हरिजन निवासी ओटीसी स्कीम डी ब्लॉक, गांधी नगर कच्ची बस्ती मल्लातलाई, मोहम्मद शाहिद उर्फ पामणा पुत्र मोहम्मद सलीम निवासी न्यू कॉलोनी मस्जिद के पीछे आमेट राजसमंद और आदिल हुसैन पुत्र युसुफ हुसैन कूंजड़ा निवासी रजा कॉलोनी अंबामाता को गिरफ्तार किया।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर सुधीर जोशी ने बताया कि पूछताछ में सामने आया कि आरोपी ईमरान कूंजड़ा और पीडि़त राजू तेली पूर्व में दोनों साथ में जमीनों का काम करते थे। दोनों ने मिलकर कोडियात में एक जमीन की प्लानिंग की थी और कब्जे भी हटवाए थे। इस दौरान इस जमीन में ईमरान कूंजड़ा को 5 लाख रूपए कमीशन के देने थे, परन्तु उसी दौरान पुलिस ने ईमरान कूंजड़ा को डकैती की योजना बनाते हुए गिरफ्तार किया था और जेल भेज दिया था। करीब छ:-सात माह तक जेल में रहने के बाद ईमरान बाहर आया और पैसों की आवश्यकता हुई तो उसने राजू तेली से सम्पर्क किया। उसने मना कर दिया इसी को लेकर उसने अपने साथियों के साथ मिलकर राजू तेली का अपहरण किया। पुलिस के अनुसार इस मामले में मुश्तियाक, गोगा, ईमरान कूंजड़ा, लोकेश हरिजन, शहजाद फरार चल रहे है। जिनकी तलाश की जा रही है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।
कई जगहों पर छिपते फिर रहे थे
थानाधिकारी चन्द्र पुरोहित ने बताया कि वारदात करने के बाद आरोपी फरार हो गए। आरोपी आमेट में आरोपी शाहिद उर्फ पामणा के परिचित के खेत पर रूके थे। वहां से अजमेर गए और अजमेर से उत्तराखण्ड में रूडकी से आगे शाबीर पिया की दरगाह गए। जहां लंगर खाया और रात गुजारी। आरोपी सभी वहां से अलग-अलग हो गए और गुटों में बंटकर राजस्थान में आए।
आरोपियों के खिलाफ कई मामले चल रहे
पुलिस के अनुसार आरोपी सद्दाम कांकरोली के खिलाफ 13 मामले है, पृथ्वीराज उर्फ मोनू के खिलाफ पांच मामले, मोहम्मद शाहिद के खिलाफ एक मामला और आदिल हुसैन के खिलाफ 3 मामले चल रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*