Monday , 21 May 2018
Breaking News
Home » Udaipur » डम्पर पर फायरिंग करने वाली राजू गैंग का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार

डम्पर पर फायरिंग करने वाली राजू गैंग का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार

उदयपुर। जिले के सराड़ा और परसाद थाना क्षेत्र में डम्पर चालकों से अवैध रूप से चौथ वसूली करने एवं उनके डराने-धमकाने के लिए पथराव व फायरिंग की वारदातों को अंजाम देने वाली राजू गैंग का पर्दाफाश करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इन दोनों आरोपियों को बापर्दा रखा जाएगा, इनकी शिनाख्तगी की कार्यवाही कराई जाएगी। गैंग के सात अन्य सदस्यों की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है।
जिला पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र प्रसाद गोयल ने बताया कि गत दिनों सराड़ा और परसाद में रात्रि को क्रेशर प्लांट पर जा रहे डम्परों को रोका गया और हफ्ता वसूली की नीयत से फायरिंग की गई। हालांकि फायरिंग टायरों पर की जाने के कारण किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ था। इस पर हफ्ता वसूली के मामले को गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जिला नारायण सिंह राजपुरोहित के निर्देशन में पुलिस उप अधीक्षक नारायणसिंह राठौड़ के नेतृत्व में सराड़ा थानाधिकारी रतनसिंह, जावर माइन्स थानाधिकारी धनपतसिंह एवं परसाद थानाधिकारी देवेन्द्रसिंह मय जाप्ते के तीन अलग-अलग टीमों का गठन किया गया। इन टीमों ने पुराने हार्डकोर अपराधियों से पूछताछ की। जांच के दौरान इन्हें नेवा तलाई निवासी राजू उर्फ राजकुमार पुत्र धनपाल मीणा की गैंग द्वारा उक्त घटना को कारित करना बताया गया। जांच में गिरोह के सरगना नेवातलाई निवासी राजू उर्फ राजकुमार मीणा के खिलाफ जावर माइन्स में चोरी, लूट, डकैती, हत्या का प्रयास, फायरिंग सहित 39 प्रकरण विभिन्न थानों में दर्ज होना पाया गया।
इस पर पुलिस ने राजू के सहयोगियों की तलाश शुरू की और इन टीमों द्वारा अथक प्रयास कर 14 मई की शाम को परसाद बस स्टेण्ड से सागवाड़ा डूंगरपुर हाल सवीना हिरणमगरी निवासी प्रशांत पुत्र डायालाल पंचाल और नेवातलाई जावर माइन्स निवासी मनीष पुत्र कालूलाल मीणा को गिरफ्तार किया। इनसे पूछताछ की तो 5 मई को वारदात अंजाम देना स्वीकार किया। आरोपियों ने बताया कि इस प्रकरण में उसका साथ खैरादीवाड़ा नायकवाड़ी सूरजपोल निवासी मुज्जफर उर्फ गोगा उर्फ मुकेश पुत्र मुश्ताक खां जिस पर चोरी, लूट, डकैती, हत्या का प्रयास, फायरिंग इत्यादि के 25 प्रकरण दर्ज है। इसके साथ-साथ करमा तालाब सराड़ा निवासी करण पुत्र नाथूसिंह मीणा, खान्या पुत्र हिरालाल मीणा, कीकावास मांडवा निवासी चेतन पुत्र वक्ता मीणा, नेवा तलाई जावर माइन्स निवासी मनीष पुत्र कालूलाल मीणा, डूंगरपुर हाल सवीना हिरणमगरी निवासी प्रशांत पुत्र डायालाल पंचाल, डेलवास परसाद निवासी केशव पुत्र भगवान मीणा भी पर डम्पर पर फायरिंग कर अवैध वसूली की घटना करना पाया गया। गैंग ने पूर्व में गत 4 अप्रैल को अवैध वसूली के लिए डम्पर चालकों को धमकाया था।
गिरफ्तार दोनों को अदालत में पेश किया जहां चार दिन के रिमांड पर रखने के आदेश दिये। इनके द्वारा उदयपुर एवं डूंगरपुर हाईवे पर लूटपाट की कई वारदातों को अंजाम देना स्वीकार किया है। इसके अलावा इस गैंग ने सूने मकानों में सेंध लगाकर चोरी की वारदातें करना भी कबूला है। रिमांड अवधि के दौरान इन आरोपियों से पूछताछ कर और कई वारदातों का खुलासा होने की संभावना है। पुलिस ने राजू गैंग के सात अन्य आरोपियों को भी नामजद किया है। जिनकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है।
यह है मामला
चावण्ड निवासी अय्यूब पुत्र शमशेर खान ने गत 6 मई को सराड़ा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि 5 मई की रात्रि को डम्पर चालक पडूणा निवासी चम्पालाल पुत्र धूला मीणा को लेकर चावण्ड से केसरिया जी की तरफ जा रहे थे, अम्बाला गांव के पास करीब 11 बजे दो अलग-अलग मोटर साइकिल पर चार जनें आए और डम्पर के आगे मोटर साइकिल लगाकर रोका व पत्थर फैंककर कांच फोड़ दिये, इनमें से एक ने पिस्टल निकालकर डम्पर पर दो फायर किये जो ड्राईवर साइड के टायर पर लगे जिससे टायर फूट गया था। इसके बाद इन आरोपियों ने रुपये की मांग की। हम डम्पर से कूदकर भागकर वार्ड पंच सुरेश मीणा के घर में घुस गये। इसी गैंग ने एक माह पूर्व भी परसाद की नाल में डम्पर रूकवाकर हफ्ता वसूली की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*