Thursday , 23 November 2017
Breaking News
Home » Udaipur » जमीन हड़पने वाले भूमाफिया की अग्रिम खारिज

जमीन हड़पने वाले भूमाफिया की अग्रिम खारिज

कर्ज के जाल में फंसा वृद्ध की आत्महत्या का मामला

उदयपुर। शहर के अंबामाता थाना क्षेत्र में भूमाफिया एवं कर्जदारों के चंगुल में फंसकर अपनी पैतृक सम्पति के तीन भूखंडों को खोने से आहत वृद्ध द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या के लिए मजबूर करने के मामले में भूमाफिया की अदालत ने अग्रिम जमानत अर्जी को नामंजूर कर दिया।
प्रकरण के अनुसार आदर्श कॉलोनी निवासी भरत पुत्र अशोक कुमावत ने गत 19 अगस्त को रिपोर्ट दर्ज कराई कि अमर इलेक्ट्रोनिक्स सेलिबे्रशन बेकरी के पास फतहपुरा चौराहा निवासी सूरजमल (60) पुत्र हेमराज कुमावत ने दुकान के ऊपर बने दो मंजिला मकान के कमरे में साड़ी से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। जेब में मिले सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने आत्महत्या के लिए बाध्य करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की गई।
इस मामले में जांच के दौरान सामने आया कि मृतक सूरज कुमावत की पैतृक सम्पति पटवार मंडल भुवाणा में आराजी संख्या 1772 थी, जिसे ब्याज पर पैसे देने वाले, भूमाफिया व दलाल गोविंद कुमावत ने मिलीभगत कर राजकुमार की पैतृक सम्पत्ति को अवैध तरीके से ऊंची ब्याज दर पर पैसा देने की एवज में विक्रय पत्र लिखवा लिया और पैसे लौटाने पर पुन: राजकुमार के नाम रजिस्ट्री करवा देने का झांसा देकर जमीन हड़प ली।
इस मामले में पुलिस ने भूमि दलाल फ्लोरा कॉम्पलेक्स बेदला निवासी धीरज पुत्र सुंदरलाल भादविया व बापू बाजार सूरजपोल निवासी नीरज पुत्र कन्हैयालाल अग्रवाल को आरोपी बनाया था। गिरफ्तारी से बचने के लिए धीरज भादविया ने जिला एवं सत्र न्यायालय में अग्रिम जमानत का प्रार्थना पत्र पेश किया। मामले की गम्भीरता को देखते हुए अदालत ने आरोपी के जमानत प्रार्थना पत्र को नामंजूर कर दिया। परिवादी की ओर से पैरवी आर.एस. राव ने की। इस मामले में दलाल गोविंद कुमावत न्यायिक अभिरक्षा में चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*