Sunday , 24 September 2017
Breaking News
Home » Udaipur » चैक अनादरण के आरोपी की सजा बहाल, अपील खारिज

चैक अनादरण के आरोपी की सजा बहाल, अपील खारिज

उदयपुर। अपर्याप्त राशि के अभाव में चैक अनादरण के मामले में आरोपी की अपील को नामंजूर करते हुए अदालत ने अधीनस्थ न्यायालय के सजा के फैसले को बहाल रखने के आदेश दिए। फैसले की सुनवाई के दौरान आरोपी गैर हाजिर रहने पर उसे गिरफ्तारी वारंट से तलब कर सजा भुगताने के निर्देश दिए।
प्रकरण के अनुसार आरोपी जयपुर हाल ब्रह्मपोल निवासी रोशनलाल पुत्र शंकरलाल तेली को 70 हजार रूपए के चैक अनादरण के मामले में विशिष्ट न्यायिक मजिस्ट्रेट (एनआई एक्ट कैसेज) क्रम-5 की अदालत में 3 जून 2016 को एनआई एक्ट की धारा 138 में एक वर्ष का कारावास और एक लाख रूपए जुर्माने की सजा सुनाई। इस फैसले के खिलाफ आरोपी रोशनलाल तेली ने जिला एवं सत्र न्यायालय में एक जुलाई 2016 को अपील की जहां से मामला निस्तारण के लिए अपर जिला एवं सत्र न्यायालय क्रम-2 की अदालत में आया। अपील पर दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद पीठासीन अधिकारी महेंद्र कुमार दवे ने आरोपी रोशनलाल तेली की अपील को नामंजूर करते हुए अधीनस्थ न्यायालय के सजा के फैसले को बहाल रखने के आदेश दिए। फैसले की सुनवाई के दौरान आरोपी रोशनलाल तेली अदालत में गैर हाजिर था तो उसके खिलाफ अधीनस्थ न्यायालय को निर्देश दिए कि गिरफ्तारी वारंट से तलब कर उसे सजा भुगतने के लिए केंद्रीय कारागृह भेजें।
यह था मामला
नाथी मार्ग ब्रह्मपोल निवासी भगवानलाल पुत्र चुन्नीलाल तेली ने जयपुर हाल ब्रह्मपोल निवासी रोशनलाल पुत्र शंकरलाल तेली को आवश्यकता होने पर 70 हजार रूपए उधार दिए, जिसके बदले में उसने चैक दिया जो बैंक में निर्धारित अवधि में भुगतान के लिए डाला तो अपर्याप्त राशि के कारण अनादरित हो गया। इस पर आरोपी रोशनलाल तेली के खिलाफ 13 दिसम्बर 2010 को अदालत में परिवाद पेश किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*