Tuesday , 21 November 2017
Breaking News
Home » Udaipur » चार घरों में तोडफ़ोड़, पुलिस ने खदेड़ा, 3 लाख में निपटा मौताणा

चार घरों में तोडफ़ोड़, पुलिस ने खदेड़ा, 3 लाख में निपटा मौताणा

मृतक के परिजनों पर तोडफ़ोड़ करने का मामला दर्ज

women murderउदयपुर। शहर के समीप नाई थाना क्षेत्र मे शनिवार रात्रि को शराब पीने के दौरान मामूली विवाद मेें साथी के गले में बीयर की बोतल घोंपकर हत्या करने का मामला 3 लाख रूपए मौताणे में निपट गया। रविवार को मृतक के परिजनों ने आरोपियों के चार घरों में जमकर तोडफ़ोड़ की, जिस पर पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर हंगामा कर रहे लोगों को भगाया। इस दौरान ग्रामीणों ने रास्ता जाम करने का प्रयास भी किया। समझाईश के बाद मामला निपटा तो अंतिम संस्कार किया गया। पुलिस ने मृतक के परिजनों पर भी मारपीट, तोडफ़ोड़ करने का मामला दर्ज करवाया है। वहीं पुलिस ने हत्या के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के अनुसार शनिवार रात्रि को छोटी उंदरी फला हांकड़ी घाटी निवासी नारायण पुत्र भैरा अहारी अपने साथियों मनीष, हीरालाल, महेंद्र, लाला के साथ गांव के समीप ही शराब पी रहे थे। इसी दौरान मनीष ने नारायण को बीयर पीने के लिए कहा तो उसने मना कर दिया। इसी बात पर आवेश में आकर मनीष उर्फ मानिया ने बीयर की बोतल फोड़कर नारायण के गले मेें घोंप दी, जिससे नारायण की गले की नस कट जाने से मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने शनिवार मौके पर एकत्रित लोगों को समझाया और शव को उठाकर मोर्चरी में रखवाया। रविवार सुबह मृतक के परिजनों ने चढ़ोतरा कर दिया और मौताणे की मांग पर अड़ गए। मृतक नारायण के परिजनों ने आरोपी मनीष उर्फ मानिया, इसके पिता वेला, भाई हिरा सहित के घरों के साथ-साथ चार घरों में तोडफ़ोड़ की।
हत्या के बाद से ही मनीष और उसके अन्य परिजन फरार हो गए थे। मकान बंद थे, तो मृतक के परिजनों ने मकानों के दरवाजे तोड़ मकान मेें घुसकर जमकर तोडफ़ोड़ की। सारा सामान बाहर सड़क और खेत मतें फैंक दिया गया। इसके साथ ही मकान में बंधे मवेशियों को भी भगा दिया गया और आरोपियों के खेतों में भी फसल को नष्ट कर दिया। सूचना पर मौके पर थानाधिकारी नाई नाथूसिंह, डिप्टी ओम कुमार के साथ-साथ आस-पास के थानों व पुलिस लाईन का जाब्ता पहुंचा।
पुलिस ने समझाईश करने का प्रयास किया तो मृतक के परिजनों ने सड़क पर पत्थर डालकर जाम करने का प्रयास किया। यह देखकर पुलिस ने बल प्रयोग कर हंगामा कर रहे परिजनों को वहां से दूर तक खदेड़ा गया। बाद में फिर से वार्ता करवाई गई। मृतक के परिजन लाखों रूपए मौताणा मांग रहे थे, इधर पुलिस ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। दिन भर चली वार्ता में बार-बार आमने-सामने होने पर पुलिस अधिकारियों ने सख्ती दिखाई। जो बार-बार नेतागिरी कर रहे थे, उन्हें पुलिस की गाड़ी में बैठा दिया। रात्रि को दोनों पक्षों के बीच में समझौता हुआ, जिसमें आरोपी मनीष के परिजनों ने 3 लाख रूपए मौताणा देना तय किया। इसके बाद मृतक के परिजन माने। सुबह पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया और पुलिस सुरक्षा में अंतिम संस्कार भी कर दिया गया। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी मनीष उर्फ मानिया पुत्र वेला मीणा निवासी छोटी उंदरी को गिरफ्तार कर लिया है।
इधर तोडफ़ोड़ करने के मामले में हत्या के आरोपी मनीष के पिता वेला पुत्र कावा मीणा निवासी छोटी उंदरी हांकड़ी फलां ने आरोपी धर्मा, महेन्द्र, रमेश पुत्र भैरा मीणा, बाबू, लक्ष्मण पुत्र देवा मीणा, मोहन पुत्र दीता मीणा निवासी छोटी उंदरी हांकड़ी फलां के खिलाफ घर में घुसकर तोडफ़ोड़ करने का मामला दर्ज करवाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*