Monday , 21 May 2018
Breaking News
Home » Udaipur » चले शब्दों के बाण, कटारिया बने निशाना

चले शब्दों के बाण, कटारिया बने निशाना

दोगली सरकार, घडिय़ाली आंसू बहाता है मेवाड़ का शेर

उदयपुर। हाईकोर्ट बैंच की मांग को लेकर बुधवार से शुरू हुए आमरण अनशन में कई वक्ताओं ने हाई कोर्ट बैंच की स्थापना नहीं होने के पीछ प्रदेश के गृहमंत्री और शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया पर दोष मढ़ते हुए जमकर निशाना साधा। इस दौरान भाजपा के ही एक वरिष्ठ नेता और पूर्व जिलाध्यक्ष मांगीलाल जोशी ने यहां तक कह दिया कि राजस्थान की सरकार दोगली है और वायदा खिलाफी कर रही है। इसके साथ ही कहा कि दोनों ही संगठनों ने उदयपुर की जनता को जमकर बेवकूफ बनाया है।
सभा को संबोधित करते भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं शेखावत मंच के मांगीलाल जोशी ने कहा कि उदयपुर के नेताओ को मात्र घडियाली आंसू ही बहाना आता है। भाजपा शहर अध्यक्ष दिनेश भट्ट को देखकर जोशी ने कहा कि लंका में भी विभिषण है। हाईकोर्ट बैंच के आंदोलन को लेकर भाजपा दोहरा रवैया अपना रही है। सत्ता पक्ष का जिलाध्यक्ष इस आंदोलन में शामिल हो रहा है, परन्तु एक भी जनप्रतिनिधि शामिल नहीं होना ही दोहरा रवैया है। जोशी ने कहा कि दिनेश भट्ट अपने पद का त्याग कर रहे है और अधिवक्ताओं के साथ कंधा से कंधा मिलाकर संघर्ष करेंगे। इस मौके पर जोशी ने मांगीलाल चपलोत को सम्बोधित कर कटारिया पर निशाना साधते हुए कहा कि जिसने आपको गुरू माना था वो चेला ही नाजोगा है। राजस्थान की सरकार दोगली है। दोषी भाजपा और कांग्रेेस दोनों ही है, जिन्होंने उदयपुर की जनता को बेवकूफ बनाया।
जोशी ने कहा कि मैं भाजपा में ठगा महसूस कर रहा हंू। हालात यह हो गए है कि मुख्यमंत्री ने बातचीत के लिए अपने दो प्यादो को भेजा और मेवाड़ के नेता को दूर रखा। इस नेता का सिद्धांत है सबका साथ अपना विकास। भाजपा में कई कर्मठ कार्यकर्ता है, परन्तु किसी को आज तक ट्रस्टी नहीं बना पाए है मेवाड़ के नेता। जोशी ने कहा कि ओर भी कई आयोगों व समितियों में पद खाली है। पहले कहा था कि विधायकों और सांसदों के साथ जाकर मुख्यमंत्री से मिलेंगे, परन्तु पता नहीं अब कौन से बिल में घुस गया है। जोशी ने कहा कि मैं अपना नेता मानकर 40 साल तक मुगालते में रहा। यह सरकार जाने वाली है। यदि इस मुद्दे पर सकारात्मक निर्णय किया तो याद करेंगे अन्यथा भाजपा को रोने वाला भी कोई नहीं मिलेगा।
वरिष्ठ भाजपा नेता धर्मनारायण जोशी ने कहा कि शहर को स्मार्ट सिटी कहते है और चारों तरफ धूल का बवंडर है। यह कैसी स्मार्ट सिटी है। उन्होंनें कहा कि मेवाड़ से 17 एमएलए एससी/एसटी के है। ऐसे में हाईकोर्ट बैंच नहीं तो सर्किंट बैंच देनी चाहिए, लेकिन अनशन इसका समाधान नहीं हे। विधानसभा में कटारिया के खिलाफ चुनाव लडऩे वाले कांग्रेस के दिनेश श्रीमाली ने कहा कि गृहमंत्री पद लोलुपता के लिए पद पर बैठे हुए है। कांग्रेस सरकार के समय कपड़े खोलकर आंदोलन के समर्थन में थे और अब मुंह मोड़ रहे है। गृहमंत्री ने कहा था आंदोलन में जाने के लिए : भण्डारी
इधर कटारिया विरोधी नेताओं द्वारा कटारिया पर निशाना साधने के बाद युवा मोर्चा अध्यक्ष गजेन्द्र भण्डारी ने अपने उद्बोधन में कहा कि यह एक जन आंदोलन है और कुछ नेता व्यक्तिगत रूप से गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया पर छींटाकंशी कर रहे है। भण्डारी ने कहा कि गृहमंत्री ने ही भाजपा नेताओं को इस आंदोलन में जाने और अपनी बात खुल कर रखने के लिए कहा था। इसी कारण यहां पर सभी भाजपा नेता मौजूद है।
इनका कहना है :-
ना तो मैं विभिषण हूं और ना ही पद से इस्तीफा दे रहा हूं। आंदोलन को लेकर नैतिक समर्थन है, जो हमेशा रहेगा। जो गृहमंत्री को लेकर अर्नगल बयान दे रहे है, वे स्वयं परेशान है। लोकतंत्र में आरोप लगाने से किसी को रोका नहीं जा सकता है। समय के साथ-साथ हर आरोपों की सच्चाई सामने आती है।
दिनेश भट्ट, जिलाध्यक्ष शहर भाजपा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*