Thursday , 18 January 2018
Breaking News
Home » Udaipur » कटारिया की बैठक में 55 में से 22 पार्षद, उड़े होश, नेता हुए सक्रिय

कटारिया की बैठक में 55 में से 22 पार्षद, उड़े होश, नेता हुए सक्रिय

अधिकांश पार्षदों के नहीं आने पर अन्तर्कलह की आशंका पर कारणों की जांच शुरू

उदयपुर। प्रदेश के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया की ओर से गत दिनों ली गई निगम के पार्षदों की बैठक में निगम में भाजपा के 55 पार्षदों में से मात्र 22 के ही पहुंचने पर संगठन में हलचल शुरू हो गई है। संगठन के नेता अन्र्तकलह की आशंका को लेकर सक्रिय हो गए है और पार्षदों से व्यक्तिगत सम्पर्क कर नहीं आने का कारण पूछ रहे है।
सूत्रों के अनुसार, प्रदेश के गृहमंत्री और शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया ने गत शुक्रवार को नगर निगम के पार्षदों की बैठक ली थी। नगर निगम में चुन गए 49 भाजपा के पार्षद और 6 मनोनित पार्षद मिलाकर कुल 55 पार्षद है। सभी पार्षदों को सूचना मिलने के बाद भी कटारिया की बैठक में मात्र 22 पार्षदों के ही जाने और वरिष्ठ पार्षदों के अनुपस्थित रहने के कारण संगठन के नेताओं के होंश उड़ गए। बताया जा रहा है कि शहर जिलाध्यक्ष दिनेश भट्ट उस दिन जयपुर में प्रदेश भाजपा की किसी बैठक में शामिल होने गए थे। इधर जो पदाधिकारी बैठक में गए थे उन्होंने बैठक की स्थिति को देखा तो उनके भी होंश उड़ गए।
इस बारे में पिछले कुछ दिनों से लगातार संगठन में चर्चाएं हो रही है और शहर भाजपा के नेता इसके पीछे के कारणों को तलाशने में जुटे है। अधिकांश शहर भाजपा के नेता अन्र्तकलह और विरोध को कारण मानते हुए जड़ों को तलाश रहे है। इसके पीछे एक बड़ा कारण यह माना जा रहा है कि महापौर चन्द्रसिंह कोठारी से अधिकांश पार्षदों में नाराजगी है और अपनी नाराजगी को वे कई मंचों पर व्यक्त भी कर चुके है। इसके बाद भी संगठन महापौर कोठारी को लेकर तटस्थ है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भाजपा के वरिष्ठ नेता अब बैठक में नहीं जाने वाले पार्षदों से व्यक्तिगत सम्पर्क कर नहीं जाने का कारण पूछ रहे है। हालांकि जिन पार्षदों से भी सम्पर्क किया गया था, उनमें से भी अधिकांश ने टालमटोल वाला ही जवाब दिया है, ऐसे में संगठन के पदाधिकारी सतुंष्ट नहीं है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शहर विधायक और प्रदेश के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया भी पार्षदों के नहीं आने के कारणों और यदि किसी की नाराजगी है तो उस कारण को व्यक्तिगत रूप से जानना चाहते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*