Thursday , 23 November 2017
Breaking News
Home » Udaipur » उदयपुर मेें प्रेमी के मकान से खून से सने कपड़े व जूते बरामद

उदयपुर मेें प्रेमी के मकान से खून से सने कपड़े व जूते बरामद

पत्नी द्वारा पति, तीन बच्चों सहित पांच की हत्या करवाने का मामला

udaipur lover murderउदयपुर। प्रदेश के अलवर शहर में गत दिनों शिवाजी पार्क में पत्नी द्वारा अपने प्रेमी ओर किराए के हत्यारों के साथ मिलकर अपने पति, स्वयं के तीन बच्चों और एक भतीजे की हत्या करवाने के मामले में अलवर पुलिस ने मंगलवार को उदयपुर में आजादनगर कच्ची बस्ती स्थित प्रेमी के किराए के कमरे से खून से सने कपड़ों, जूतों को बरामद किए।
अलवर जिले के शिवाजी पार्क थाना प्रभारी विनोद सामरिया की अगुवाई में गठित पुलिस टीम आरोपी अपने तीन बच्चों, पति ओर भतीजे की हत्या करवाने वाली संतोष उर्फ संध्या के प्रेमी हनुमान जाट को लेकर को पुन: उदयपुर पहुंची। आरोपी ने वारदात के दौरान पहने कपड़े व जूते आयड़ नदी में फेंक देना बताया था लेकिन पुलिस द्वारा तलाशी में कुछ नहीं मिला। मंगलवार को पुन: आरोपी को लेकर पुलिस टीम उदयपुर आई और आजादनगर कच्ची बस्ती में उसके किराए के कमरे को तलाशने पहुंची। तलाशी के दौरान खून से सने कपड़े, जूते और स्कूटी की चाबी बरामद कर ली। जांच के दौरान इस बात का भी खुलासा हुआ कि आरोपी हनुमान वारदात के बाद भागकर उदयपुर आ गया। यहां पर एक कमरा किराए पर लेकर रहा और कपड़ों को छिपा दिया। बाद में पुलिस ने उसे दबोच लिया था। जिसने पूछताछ मेें बताया कि हत्या करने के बाद वह उदयपुर में एक कमरे में रूका था।
यूं चला घटनाक्रम
पुलिस के अनुसार शिवाजी पार्क निवासी संतोष उर्फ संध्या ने 2 अक्टूबर की रात को अपने पति बनवारी सहित बच्चों को खाने में नींद की गोलियां पीसकर खिला दी। बाद में अपने प्रेमी बड़ौदा निवासी हनुमान प्रसाद जाट उर्फ जैक सहित मालाखेड़ा निवासी कपिल डीग भरतपुर निवासी दीपक उर्फ बगुला धोबी की मदद से पति, तीन बच्चों और एक भतीजे को मौत के घाट उतरा दिया था। दोस्ती में प्यार चढ़ा परवान
पुलिस ने बताया कि संतोष का प्रेमी हनुमान ताइक्वाडो का खिलाड़ी है। वह दो बार नेशनल खेल चुका है। हनुमान पढ़ाई में भी अच्छा रहा है। उसने संस्कृत से एमए तथा सुखाडिय़ा युनिर्सिटी उदयपुर से शारीरिक शिक्षक का कोर्स किया है। वह योगा का कोर्स भी कर रहा था। पुलिस के अनुसार करीब दो साल पहले संतोष हनुमान की खेल के दौरान ही मुलाकात हुई, जो पहले दोस्ती बाद में प्यार में बदल गई। संतोष हनुमान ने साथ-साथ रहने के लिए हत्या की यह साजिश रची। अभी आरोपी अपने साथियों सहित छह दिन के रिमांड पर है। अब पुलिस सभी आरोपितों को 13 अक्टूबर को फिर से न्यायालय में पेश करेंगी।
दो बार आत्महत्या करने का प्रयास भी किया
पुलिस द्वारा सीसीटीवी कैमरे खंगालने का समाचार पढ़ा तो वह पकड़े जाने के डर से सेवाश्रम के वहां रेलवे ट्रेक पर आत्महत्या के लिए पहुंचा। लेकिन वापस अब तक पकड़े नहीं जाने व बच जाने की उम्मीद लेकर वापस घर लौट गया। अगले दिन पुलिस के संतोष से पूछताछ का समाचार पढ़कर पोल खुलने के डर से वह फिर से आत्महत्या करने रेल की पटरी पर पहुंचा, लेकिन इस बार भी वह लौट आया। इसके बाद मामला खुला और पुलिस ने हनुमान को उदयपुर से गिरफ्तार किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*