Saturday , 26 May 2018
Breaking News
Home » Udaipur » अनुसंधान के अभाव में अदालत ने आरोपी को किया रिहा

अनुसंधान के अभाव में अदालत ने आरोपी को किया रिहा

अनुसंधान अधिकारी को स्पष्टीकरण के लिए किया तलब

courtउदयपुर। शहर के सुखेर थाना पुलिस ने बिना अनुसंधान किए दहेज प्रताड़ना के मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। अदालत ने धारा-41 के प्रावधानों की पालना नहीं होने पर आरोपी को मामले से रिहा कर दिया और अनुसंधान अधिकारी को स्पष्टीकरण के लिए पृथक से तलब किया।
सुखेर थाना पुलिस ने दहेज प्रताड़ना के मामले में उपली ओडन नाथद्वारा हाल डागलियों की मगरी सुखेर निवासी राधा सुथार की रिपोर्ट पर उसके पति उपली ओडन नाथद्वारा निवासी संजय पुत्र जगदीशचंद्र सुथार को गिरफ्तार किया। सोमवार को उसे एएसआई भंवरनाथ ने विशिष्ट अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (पीसीपीएनडीटी एक्ट कैसेज) की अदालत में पेश किया। केस डायरी में यह स्पष्ट रूप से नोट किया कि बरामदगी की कोई उम्मीद नहीं है। केस डायरी से ऐसा भी दर्शित नहीं होता है कि धारा 41 (1) ख के अधीन अभियुक्त की आवश्यकता रहती है। अनुसंधान अधिकारी ने तफ्तीश के लिए आवश्यकता बताई है और पश्चात आई.ओ. मोतीराम ने बिना तथ्यों के परिवर्तन होते हुए अन्यथा कोई नवीन साक्ष्य प्राप्त हुए बिना ही आरोपी संजय सुथार को गिरफ्तार कर लिया और सोमवार को अदालत में पेश किया। पीठासीन अधिकारी समरेंदर सिंह सिकरवार द्वारा पत्रावली का अवलोकन करने से ज्ञात हुआ कि सीआरपीसी की धारा 41 के प्रावधानों की पालना नहीं हुई है और न ही अनुसंधान अधिकारी मोतीराम ने उच्चतम न्यायालय द्वारा अर्नेश कुमार बनाम बिहार राज्य में दिए गए निर्देशों की पालना होती है। ऐसे में आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में भेजे जाने का कोई आधार प्रकट नहीं होता है। संजय को मामले को रिहा कर दिया और अनुसंधान अधिकारी को पृथक से स्पष्टीकरण के लिए तलब किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*