Tuesday , 19 June 2018
Breaking News
Home » Twitter » Twitter : Suresh Goyal

Twitter : Suresh Goyal

  • इंगलेण्ड व आयरलेण्ड के कई स्कूलों में संस्कृत अनिवार्य … संस्कृत से स्मरण शक्ति बढती, गणित व विज्ञान सीखने में मदद मिलती …. भारत?
  • … लोगों की हालत यह है कि भूखों मर जाएंगे मगर केरल में सड़कों पर गायों को काटने वालों और बंगाल में हिन्दुओं को मारने वालों को वोट नहीं देने वाले
  • कांग्रेस क्यूं खुदकशी कर रही? … लोग केरल व बंगाल की हिन्दु विरोधी नीतियों से पहले ही खफा … कर्नाटक में हिन्दु विरोधी कानून क्यूं ला रहे?
  • पाकिस्तान को शिकायत कि अमेरिका ने जिहादियों को छोड़ दिया … नहीं तो क्या करते? … उन्हें पाल कर तुम्हारी तरह बरबाद होते?
  • चीन, ईस्लाम पर प्रतिबन्ध की राह पर? … मुसलमानों को कुरान की पुस्तकें व नमाज की दरियें जमा कराने का नोटिस … वरना दंड …
  • ईद पर डिनर केन्सल करने के बावजूद व्हाईट हाउस में राष्ट्रपति ट्रम्प दीवाली डिनर की परम्परा जारी रखेंगे ….
  • जर्मनी में मुसलमानों ने लिंजरी शोप के शो रूम में प्रदर्शित ब्रा-पेन्टियों को हमला कर हटाया …. एन्जेला? भुगतो इन्हें शरण देने का नतीजा
  • सुषमा स्वराज? … और करो इनकी मदद! … चर्च ने बयान दिया है कि फादर टोम को छुड़ाने में सरकार का हाथ नहीं … हा … हा …
  • राष्ट्रपति भवन में पहली बार नवरात्रि पर कन्या भोज का आयोजन …. बरनोल खतम है! … जलने दो थोड़ी!!
  • राम रहीम पर हफ्तों से रोना-पीटना मचाए लोग क्या इतने बड़े पत्रकार तरूण तेजपाल के बलात्कारों पर आंसू बहांयेंगे? … घडिय़ाली ही सही?
  • बी.एच.यू. में नारी अधिकारों के मसीहा बनने वाले तरूण तेजपाल के बलात्कारों की चार्जशीट पर चुप्पी क्यूं साध जाते? … पाखंडी!
  • बी.एच.यू. में महिलाओं के मदिरा सेवन पर प्रतिबन्ध नहीं …. बार? … अगला कदम क्या फ्री सेक्स? … एक और जे.एन.यू.?
  • यशवन्त सिन्हा-अरूण जेटली एक-दूसरे को नीचा दिखाने पर उतरे … जब असली लड़ाई यह है तो बिचारी इकोनोमी को बीच में क्यूं घसीटते
  • यह होता है फर्क – यशवन्त सिन्हा का बेटा, बाप की आलोचना कर रहा मगर चिदम्बरम् अपने भ्रष्ट बेटे को बचाने में लगा हुआ
  • विपक्ष के पास मोदी के खिलाफ मुद्दों के दीवालियेपन का आलम यह है कि यशवन्त सिन्हा ने मुँह खोला नहीं कि लग गये सब उसी की जै जै करने
  • मुम्बई में रेल्वे स्टेशन पर भगदड़ से कई मरे … बहुत दु:खद … वैसे पटरियां पार करते रोज औसतन 9 मरते फिर भी किसी को चिन्ता नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*