Friday , 24 November 2017
Breaking News
Home » Sports » हाथ से फिसला इतिहास

हाथ से फिसला इतिहास

लंदन। भारतीय महिलाओं के हाथों से ऐतिहासिक लॉड्र्स मैदान पर इतिहास फिसल गया। भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ रविवार को तीन विकेट पर 191 रन के मजबूत स्थिति से 219 रन पर ढेर होकर पहली बार महिला विश्व कप जीतने का मौका गंवा बैठी।
इंग्लैंड ने नौ रन से मुकाबला जीत कर चौथी बार विश्व कप खिताब अपने नाम कर लिया। इंग्लैंड ने सात विकेट पर 228 रन बनाने के बाद भारतीय टीम को 48.4 ओवर में 219 रन पर समेट दिया।
भारत को दूसरी बार उप विजेता रहकर संतोष करना पड़ा। भारतीय टीम को 2005 में ऑस्ट्रेलिया के हाथों फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था और इस बार इंग्लैंड ने उसकी उम्मीदों को तोड़ दिया। इंग्लैंड ने 1973, 1993, 2009 और 2017 में चार बार खिताब अपने नाम कर लिया।
इस हार के लिए भारतीय महिला टीम खुद जिम्मेदार रही जिसने 3 विकेट पर 191 रन की जीतने वाली स्थिति से खुद को 219 रन पर ढेर हो जाने दिया। भारत ने अपने आखिरी 7 विकेट मात्र 28 रन जोड़कर गंवा दिए। अन्या श्रबसोल ने 46 रन पर 6 विकेट लेकर भारतीय सपनों को चकनाचूर कर दिया।
लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने ओपनर स्मृति मंधाना को दूसरे ओवर में ही गंवा दिया। स्मृति अपना खाता नहीं खोल सकीं। पूनम राउत (86) ने कप्तान मिताली राज के साथ दूसरे विकेट के लिए 38 रन जोड़े। मिताली 31 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 17 रन बनाकर रन आउट हो गयीं। पूनम ने पिछले मैच में नाबाद 171 रन बनाने वाली हरमनप्रीत कौर के साथ तीसरे विकेट के लिए 95 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की।
हरमनप्रीत ने आक्रामक अंदाज में खेलते हुए 80 गेंदों में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से शानदार 51 रन बनाये। पूनम ने फिर वेदा कृष्णामूर्ति के साथ चौथे विकेट के लिए 53 रन जोड़ डाले। भारतीय टीम तीन विकेट पर 191 रन बनाकर बेहद मजबूत स्थिति में थी कि मैच ने अचानक करवट बदली और इसी स्कोर पर पूनम के पगबाधा होते ही भारत लडख़ड़ा गया और उसने 201 रन तक पहुंचते पहुंचते अपने सात विकेट गंवा दिए।
सुषमा वर्मा 0, वेदा 35 और झूलन गोस्वामी 0 पर आउट हो गयीं। शिखा पांडेय चार रन बनाने के बाद 218 के स्कोर पर रन आउट हो गयीं। भारत ने 27 रन के अंतराल में पांच विकेट गंवा दिए। मैच लगातार रोमांचक होता जा रहा था और भारतीयों के दिल की धड़कनें ऊपर नीचे होने लगी थीं।
भारत की आखिरी उम्मीद दीप्ति शर्मा एक ऊंचा शॉट खेल कर अपना विकेट गंवा बैठीं और इसके साथ ही भारतीय उम्मीदें समाप्त हो गयीं। दीप्ति ने 14 रन बनाये। भारतीय पारी 219 रन पर सिमट गयी। श्रब्सोल को उनके छह विकेट के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला।
इससे पहले तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी (23 रन पर तीन विकेट) की अगुवाई में गेंदबाजों के सटीक प्रदर्शन की बदौलत भारत ने मेजबान इंग्लैंड को सात विकेट पर 228 रन के स्कोर पर रोक दिया लेकिन बल्लेबाज इतिहास बनाने से दूर रह गयीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*