Thursday , 21 June 2018
Breaking News
Home » Sports » विराट ने रिकार्डों का किया ‘विस्फोट’

विराट ने रिकार्डों का किया ‘विस्फोट’

नई दिल्ली। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका में पहली बार कोई सीरीज जीतने का इतिहास बनाने के साथ ही रिकार्डों का जबरदस्त विस्फोट भी कर डाला।
विराट ने सेंचुरियन में शुक्रवार को आखिरी मैच में नाबाद 129 रन की पारी खेलकर भारत को 8 विकेट से जीत दिलाई और इस प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच बने। विराट का यह 35 वां शतक था। विराट ने 6 मैचों की सीरीज में 3 शतक, 186.00 के औसत और 99.46 के स्ट्राइक रेट से 558 रन बनाये जो एक द्विपक्षीय सीरीज में किसी भी बल्लेबाज द्वारा बनाये सर्वाधिक रन है। विराट के असाधारण प्रदर्शन के लिए उन्हें ‘मैन ऑफ द सीरीज’ का पुरस्कार भी मिला।
विराट ने वनडे सीरीज में तीसरा शतक लगाया। इसके साथ दक्षिण अफ्रीका में उसी के घर में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले मामले में वह पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली के साथ संयुक्त रूप से पहले नंबर पर जा पहुंचे हैं। दोनों के नाम तीन-तीन शतक हैं।
गांगुली ने 2003 में दक्षिण अफ्रीका में हुए विश्व कप में तीन शतक बनाये थे। वीवीएस लक्ष्मण ने ऑस्ट्रेलिया में 2004 में वीबी सीरीज में तीन शतक बनाये थे। विराट द्विपक्षीय सीरीज में यह कारनामा करने वाले इकलौते बल्लेबाज बन गए हैं।
भारतीय कप्तान विदेशी सरजमीं पर सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले श्रीलंका के पूर्व कप्तानों सनत जयसूर्या और कुमार संगकारा के साथ संयुक्त रूप से दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं। इन सभी के 21 शतक हैं। इस सूची में वनडे शतकों के विश्व रिकॉर्डधारी सचिन तेंदुलकर 29 शतकों के साथ पहले नंबर पर हैं।
विराट विदेशी जमीन पर बतौर कप्तान किसी द्विपक्षीय सीरीज में सबसे ज्यादा शतक लगाने वालों की सूची में संयुक्त रूप से दक्षिण अफ्रीका के एबी डीविलियर्स के साथ पहले नंबर पर पहुंच गए हैं। इन दोनों के नाम तीन-तीन शतक हैं। दिलचस्प बात है कि डीविलियर्स ने भारत के खिलाफ और विराट ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ये शतक बनाये हैं।
विराट बतौर कप्तान सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में संयुक्त रूप से डीविलियर्स के साथ दूसरे नंबर पर जा पहुंच गए हैं। उनके नाम अब तक 13 शतक हैं। विराट से अधिक बतौर कप्तान सबसे ज्यादा शतक लगाने का कीर्तिमान ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग के नाम हैं जिन्होंने 22 शतक बनाए हैं।
भारतीय कप्तान की जैसी फॉर्म चल रही है उसे देखते हुए यह माना जा सकता है कि विराट बहुत जल्द ही पोंटिंग का रिकॉर्ड तोड़ देंगे। पोंटिंग ने कप्तान के तौर पर 22 शतकों के लिए जहां 220 परियां खेलीं वहीं डिविलियर्स ने 13 शतकों के लिए 98 और विराट ने 13 शतकों के लिए अविश्वसनीय 46 परियां खेलीं।
मास्टर ब्लॉस्टर सचिन के बाद विराट दूसरे ऐसे भारतीय बल्लेबाज हैं, जिनके नाम एक द्विपक्षीय सीरीज में 500 से अधिक रन हैं। विराट के नाम अब विदेशी सरजमीं पर खेली गई सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी बन गया है। इससे पहले विदेश में खेली गई किसी भी द्विपक्षीय सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भारत के रोहित शर्मा के नाम था। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2015-16 में खेली गई सीरीज में 491 रन बनाए थे।
विराट दुनिया के पहले ऐसे कप्तान बन गए हैं जिनके नाम द्विपक्षीय सीरीज में सबसे ज्यादा रन हैं। उन्होंने इस सीरीज में 558 रन बनाए। उनसे पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान जॉर्ज बैली के नाम था जिन्होंने 2013-14 में भारत के खिलाफ छह पारियों में 491 रन बनाए थे।
दक्षिण अफ्रीका में द्विपक्षीय सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी विराट के नाम आ गया है। इससे पहले यह रिकॉर्ड इंग्लैंड के केविन पीटरसन के नाम था जिन्होंने 2005 में दक्षिण अफ्रीका में छह पारियों में 454 रन बनाये थे।
विराट ने इसके अलावा सबसे कम दिनों में 500 रन पूरे करने के मामले में सचिन को पीछे छोड़ दिया है। विराट ने 47 दिनों में यह कारनामा किया जबकि सचिन ने इसके लिए 2003 में 69 दिन लिए थे।
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज 15,000 और 16,000 रन बनाने वाले विराट ने सबसे तेज 17,000 हजारी बनने के मामले में दक्षिण अफ्रीका के हाशिम अमला को पीछे छोड़ दिया है। विराट ने 361 पारियों में यह कारनामा किया जबकि हाशिम अमला 381 पारियों में इस मंजिल पर पहुंचे थे।‘पत्नी ने अच्छे प्रदर्शन के लिए प्रेरित किया’
सेंचुरियन। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मेजबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में शानदार प्रदर्शन का श्रेय अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा को देते हुए कहा कि उन्होंने इसके लिए प्रेरित किया। विराट ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुक्रवार रात खेले गए छठे और आखिरी वनडे मैच में अपने करियर का 35 वां शतक बनाया। विराट का इस सीरीज में यह तीसरा शतक था। उनके नाबाद 129 रन की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को छठे और अंतिम वनडे में आठ विकेट से रौंद कर 5-1 से सीरीज जीत ली।
विराट ने मैच के बाद कहा, यह दौरा काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा है। मैदान के बाहर रहे लोगों को इसका काफी श्रेय मिलना चाहिए, खासकर मेरी पत्नी का, जो मुझे लगातार प्रेरित करती रहती है उसे भी काफी श्रेय दिया जाना चाहिए। अतीत में उसे (अनुष्का) काफी कुछ कहा गया। लेकिन वह एक ऐसी शख्स हैं जिन्होंने मुझे इस दौरे पर लगातार अच्छा प्रदर्शन करने की प्रेरणा दी। उन्होंने साथ कहा कि आप कप्तान होते हैं तो आपको आगे बढ़कर अच्छा प्रदर्शन करना होता है और ऐसे में आपको इस तरह की प्रेरणा की जरूरत होती है। भाारतीय कप्तान ने कहा, क्रिकेट करियर में मेरे पास 8-9 साल और बचे हैं और मैं हर दिन कुछ ज्यादा करना चाहता हूं। मेरे लिए यह एक आशीर्वाद है कि मैं स्वस्थ हूं और चाहता हूं कि अपने देश का नेतृत्व करता रहूं।
विराट ने मैच में अपनी बल्लेबाजी को लेकर कहा, आज का दिन मेरे लिए काफी अच्छा था। पिछले मैचों में मैंने सही माइन्डसेट नहीं किया था। यहां बल्लेबाजी करना अच्छा लगता है, इसलिए मैनें टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। मुझे शॉर्ट गेंद खेलना पसंद है और वे शॉर्ट गेंदबाजी ही कर रहे थे। मुझे लगता है कि ..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*