Monday , 21 May 2018
Breaking News
Home » Sports » राजस्थान को बड़ा झटका

राजस्थान को बड़ा झटका

बटलर छोड़ेंगे टीम का साथ

लंदन। आईपीएल टूर्नामेंट के प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए संघर्ष कर रही राजस्थान रॉयल्स टीम को बड़ा झटका लगा है। उनकी टीम के मैच विनर खिलाड़ी जोस बटलर बीच में ही टीम का साथ छोड़ेंगे। बटलर ने पाकिस्तान के खिलाफ लाड्र्स में 24 मई से होने वाले पहले क्रिकेट टेस्ट के लिए मंगलवार को घोषित इंग्लैंड की 12 सदस्यीय टीम में वापसी की है। इससे यह साबित होता है कि बटलर राजस्थान के लिए 19 मई को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के खिलाफ होने वाले मैच में शामिल नहीं होंगे।
पूर्व टेस्ट बल्लेबाज एड स्मिथ के राष्ट्रीय चयनकर्ता बनने के बाद घोषित इंग्लैंड की पहली टीम में समरसेट के आफ स्पिनर डोम बेस को भी शामिल किया गया है। आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में इंग्लैंड की हार के दौरान लचर प्रदर्शन करने वाले शीर्ष क्रम के बल्लेबाज जेम्स विंस को समरसेट के खिलाफ हैंपशर की ओर से सोमवार को नाबाद 201 रन की पारी खेलने के बावजूद टीम से बाहर कर दिया गया है। बटलर ने अपना पिछला टेस्ट भारत के खिलाफ दिसंबर 2016 में खेला था और उनका अब तक का 18 टेस्ट का करियर काफी प्रभावशाली नहीं रहा।
विकेटकीपर बल्लेबाज बटलर को दो टेस्ट की श्रृंखला के पहले मैच के लिए विशुद्ध बल्लेबाज के रूप में चुना गया है। इंग्लैंड की टीम में विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में बटलर की जगह लेने वाले जानी बेयरस्टा अपनी जगह बरकरार रखने में सफल रहे हैं। टीम की कप्तानी एक बार फिर जो रूट को सौंपी गई है।
टीम इस प्रकार है : जो रूट ( कप्तान ), जेम्स एंडरसन, जानी बेयरस्टा, डोम बेस, स्टुअर्ट ब्राड, जोस बटलर, एलिस्टेयर कुक, डेविड मलान, बेन स्टोक्स, मार्क स्टोनमैन, क्रिस वोक्स और मार्क वुड।सुप्रीम कोर्ट से राहतगैर इरादतन हत्या मामले में सिद्धू बरीनई दिल्ली। तीस साल पुराने रोड रेज के मामले में गैर इरादतन हत्या के आरोपी पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू को सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को बरी कर दिया है। अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू को सिर्फ मारपीट का दोषी पाया और मामूली जुर्माना लगाकर बरी किया। बता दें कि पंजाब और हरियाणा कोर्ट ने सिद्धू को 3 साल कैद की सजा सुनाई थी। हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सिद्धू ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की थी। यह मामला साल 1988 का है। मंगलवार को सुनाए गए अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू को गैर इरादतन हत्या के केस में बरी किया और मारपीट के मामले में 6 हजार रूपये जुर्माना लगाया। इस फैसले से उनके मंत्री पद पर कोई खतरा नहीं है। वह इस वक्त पंजाब सरकार में पर्यटन मंत्री हैं।
(शेष पेज 8 पर)
सिद्धू शुरूआत से ही कहते रहे हैं कि उन्हें इस मामले में फंसाया जा रहा है। हालांकि, पंजाब सरकार ने दलील दी थी कि हाई कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा जाए।
रोड रेज केस में 2006 में हाई कोर्ट ने सिद्धू को 3 साल की सजा सुनाई थी। सिद्धू इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट गए। याचिका पर सुनवाई के दौरान पंजाब सरकार ने हाई कोर्ट के फैसले को बरकरार रखने के पक्ष में दलील दी। इस घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*