Thursday , 18 January 2018
Breaking News
Home » Sports » पहले ही दिन लुढ़के लंकाई चीते

पहले ही दिन लुढ़के लंकाई चीते

स्पिन जोड़ी की सुखद वापसी

india-srilanka-testनागपुर। ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा और तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने बेहतरीन गेंदबाजी का नमूना पेश करते हुये श्रीलंका को दूसरे क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन शुक्रवार को 79.1 ओवर में 205 रन पर समेट दिया। भारत ने इसके जवाब में स्टम्प्स तक आठ ओवर में एक विकेट खोकर 11 रन बना लिये।
भारत ने दिन के बचे ओवरों में ओपनर लोकेश राहुल का विकेट गंवाया जिन्हें तेज गेंदबाज लाहिरू गमागे ने बोल्ड किया। राहुल 13 गेंद खेलकर 7 रन बना सके। स्टम्प्स के समय ओपनर मुरली विजय 28 गेंदों में 2 रन और चेतेश्वर पुजारा 2 रन बनाकर क्रीज पर थे। भारत अभी श्रीलंका के स्कोर से 194 रन पीछे है।
श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। इशांत ने श्रीलंका के ओपनरों को निपटाया। अश्विन और जडेजा ने मध्य और निचले क्रम को समेटा। कोलकाता के ईडन गार्डन के मुकाबले नागपुर के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन मैदान पर स्पिनरों को अच्छी मदद मिली जिसका फायदा दोनों भारतीय स्पिनरों अश्विन और जडेजा ने उठाया। कोलकाता में अंतिम एकादश से रिलीज किये गये इशांत ने इस मैच में टीम के साथ जुड़कर खुद को साबित किया।
इशांत ने 14 ओवर में 37 रन देकर तीन विकेट हासिल किये जबकि कोलकाता में मात्र आठ ओवर डालकर खाली हाथ रहने वाले अश्विन ने इस बार 28.1 ओवर में 67 रन देकर सर्वाधिक चार विकेट झटके। कोलकाता के पूरे मैच में सिर्फ दो ओवर डालने वाले जडेजा ने भी 21 ओवर की गेंदबाजी की और 56 रन देकर तीन विकेट लिये।
श्रीलंका की ओर से ओपनर दिमुथ करूणारत्ने ने 147 गेंदों में 6 चौकों की मदद से 51 रन बनाये। करूणारत्ने ने इसके साथ ही साल 2017 में 1000 रन भी पूरे कर लिये। इस साल यह उपलब्धि हासिल करने वाले वह दूसरे बल्लेबाज बने हैं। कप्तान दिनेश चांडीमल ने 122 गेदों में चार चौकों और एक छक्के की मदद से 57 रन बनाये। अपनी पारी के दौरान चांडीमल ने 22वां रन बनाने के साथ ही टेस्ट क्रिकेट में 3000 रन भी पूरे कर लिये।
नागपुर की पिच के लिये कहा गया था कि यह तेज गेंदबाजों को ज्यादा मदद करेगी। हालांकि इस पिच पर कोलकाता के मुकाबले कम घास थी। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और अन्य खिलाड़ी तथा टीम प्रबंधन आगामी दक्षिण अफ्रीका दौरे के मुद्देनजर तीनों टेस्ट मैचों के लिये ही तेज पिच चाहता था। कोलकाता के ईडन गार्डन में तेज गेंदबाजों का बोलबाला रहा था और भारत अंतिम दिन जीत से मात्र तीन विकेट दूर रह गया था।
कोलकाता में सफल रहे तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार अपनी शादी के कारण इस मैच से हट गये जबकि मोहम्मद शमी को चोट के कारण इस मैच से हटने के लिये मजबूर होना पड़ा। भारत ने भुवनेश्वर के विकल्प के तौर पर तमिलनाडु के ऑलराउंडर विजय शंकर को टीम में शामिल किया था लेकिन उन्हेंं अंतिम एकादश में जगह नहीं मिली और इशांत दिल्ली के लिये रणजी मैच खेलकर सीधे अंतिम एकादश में (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*