Tuesday , 20 February 2018
Breaking News
Home » Sports » ‘धोनी की विकेटकीपिंग पर हो रिसर्च’

‘धोनी की विकेटकीपिंग पर हो रिसर्च’

‘माही वे’ तो है लाजवाब

dhoni_attackedपोर्ट एलिजाबेथ। टीम इंडिया के फील्डिंग कोच आर श्रीधर ने महेंद्र सिंह धोनी की विकेटकीपिंग को लेकर एक अहम बात कही है। धोनी की विकेटकीपिंग के लिए उन्होंने एक टर्म भी इजाद कर डाला है। मौजूदा समय में धोनी को दुनिया का बेस्ट विकेटकीपर माना जाता है। श्रीधर का मानना है कि धोनी की विकेटकीपिंग शैली कभी भी विशुद्ध रूप से पारंपरिक नहीं रही है लेकिन इसने उन्हें और भी बेहतर बना दिया।
धोनी कीपिंग प्रैक्टिस सेशन में ज्यादा भाग नहीं लेते लेकिन करीबी स्टंपिंग और रनआउट करने में उन्हें महारथ हासिल है। श्रीधर ने कहा, धोनी की अपनी शैली है, जो उनके लिए काफी सफल है। मुझे लगता है हम उनकी विकेटकीपिंग शैली पर शोध कर सकते हैं और मैं इसे ‘द माही वे’ नाम देना चाहूंगा।
इतना ही नहीं श्रीधर ने साथ ही कहा, उनकी शैली से कई चीजें सीखी जा सकती हैं, इतनी सारी चीजें जिसके बारे में युवा विकेटकीपर सोच भी नहीं सकते। वो अपने तरीके के अनूठे खिलाड़ी हैं जैसा क्रिकेटरों को होना चाहिए।
एक फिल्म आई थी ‘बाजीरॉव मस्तानी’ इसका एक डायलॉग ‘चीते की चाल, बाज की नजर और बाजीरॉव की तलवार पर कभी संदेह नहीं करते…’ बड़ा मशहूर हुआ था। क्रिकेट फैन्स अगर इस डॉयलॉग को सुनें तो उनके सामने सबसे पहली तस्वीर आ जाती है महेंद्र सिंह धोनी की। धोनी के लिए अलग ये डायलॉग लिखा जाता तो कुछ ऐसा होता, ‘चीते की चाल, बाज की नजर और धोनी की स्टंपिंग पर कभी संदेह नहीं करते…।’
धोनी का शानदार रिकॉर्ड
धोनी ने 316 वनडे मैचों में 295 कैच लपकने के साथ रिकॉर्ड 106 स्टंपिंग भी की हैं। वहीं टेस्ट की बात करें तो धोनी ने 256 कैच लिए हैं और 38 स्टंपिंग की हैं। टी20 इंटरनेशनल में उनके नाम 47 कैच और 29 स्टंपिंग हैं। श्रीधर ने कहा, उनके (शेष पृष्ठ 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*