Thursday , 18 January 2018
Breaking News
Home » Sports » कप्तान मिताली को अब तक नहीं मिली जमीन

कप्तान मिताली को अब तक नहीं मिली जमीन

mitali_rajहैदराबाद। महिला वल्र्ड कप 2017 में शानदार प्रदर्शन के बाद भारतीय टीम स्वदेश लौट चुकी है। इस टूर्नामेंट की उपविजेता बनने के बाद टीम को देश भर से सम्मान और बधाइयां मिल रही हैं। लेकिन टीम इंडिया की कैप्टन मिताली राज को उनके गृह राज्य तेलंगाना से अभी तक न तो कोई प्रशंसा मिली है और न ही उनके प्रदर्शन के बाद किसी तरह के इनाम की घोषणा की गई है। इससे भी ज्यादा हैरानी की बात यह है कि आंध्र प्रदेश सरकार ने मिताली को 500 यार्ड्स जमीन देने का वादा 2005 में किया था, जो आज तक पूरा नहीं हो सका है।
34 वर्षीय मिताल राज ने 16 साल की उम्र में इंटरनेशनल क्रिकेट में पदार्पण किया था। मिताली को महिला क्रिकेट का ”सचिन तेंडुलकरÓÓ कहा जाता है। इसके बावजूद इस दिग्गज खिलाड़ी के लिए उसके होम स्टेट ने अभी तक किसी प्रकार के इनाम की घोषणा नहीं की है। क्रिकेट प्रेमियों और मिताली के प्रशंसकों के लिए और भी दुखद यह है कि राज्य ने अन्य खेलों से जुड़ी खिलाडिय़ों जैसे सानिया मिर्जा और पीवी सिंधु सरीखी खिलाडिय़ों के लिए काफी कुछ किया है। लेकिन लंबे समय से नई-नई ऊंचाइयों को छू रहीं मिताली राज की साफतौर पर अनदेखी की गई है। टीम इंडिया ने मिताली की कप्तानी में इस वल्र्ड कप में फाइनल तक का सफर तय किया। इस टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में टीम इंडिया इंग्लैंड के हाथों 9 रन से हार गई। मिताली राज को 11 साल पहले यहां आंध्र प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री वाई एस राजशेखर रेड्डी ने 500 यार्ड्स का प्लॉट देने का ऐलान किया था। मिताली राज को यह प्लॉट आज तक हासिल नहीं हो पाया है। मिताली और उनके परिवार ने इसे पाने के लिए कई बार प्रयास किए। टीम इंडिया और मिताली के शानदार प्रदर्शन के बाद अन्य राज्यों की सरकारों ने अपने खिलाडिय़ों के शानदार प्रदर्शन के बाद उनके लिए कई आकर्षक ऐलान किए हैं। पंजाब और हिमाचल प्रदेश की सरकारों ने क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर और सुषमा वर्मा को डीएसपी की पोस्ट देने का प्रस्ताव दिया है। मध्य प्रदेश सरकार ने भी टीम इंडिया की खिलाडिय़ों को 50 लाख देने का ऐलान किया है। वहीं तेलंगाना सरकार ने अभी तक न तो टीम इंडिया के लिए और न ही अपनी खिलाड़ी मिताली राज के लिए किसी तरह के इनाम की घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*