Monday , 21 May 2018
Breaking News
Home » Rajasthan » नर से नारायण होना जीवन की कठिन साधना : रामदेव

नर से नारायण होना जीवन की कठिन साधना : रामदेव

बांसवाड़ा। संगीत, ज्ञान और क्रियाओं की त्रिवेणी ने खेल स्टेडियम में योग के माध्यम से प्रत्येक जन को जीवन के यथार्थ का बोध कराया। योग ऋषि बाबा रामदेव ने योग आयुर्वेद और स्वदेशी से भारत को फिर विश्व गुरू की ख्याति दिलाने के लिए प्रत्येक नागरिक से इन्हें अनुशासित रूप से जीवन में उतारने का आह्वान किया।
उन्होंने कहा कि हर कोई स्वस्थ्य जीवन चाहता है और स्वस्थ्य जीवन की एक ही कुंजी योग है इसे जीवन की नियमित दिनचर्या में शामिल करना होगा। उन्होंने कहा कि अशुभ विचार, अशुभ भावना, अशुभ पापकर्म से मुक्ति चाहिए और नर से नारायण होने की राह चाहिए तो योग को जीवन की साधना बनाना होगा। हालांकि यह मार्ग कठिन है लेकिन इसकी सच्चाई उतनी ही सुखद् है। संगीत की स्वरलहरियों के बच बाबा रामदेव ने कईं चमत्कारिक योग क्रियाएं सिखाई। मौजूद लोग भी बाबा के रंग में रंगते गये। वे कभी तन्मयता से ताली पिटते तो कभी मधुर सूरों से सूर मिलाकर अपने मन-मयूर को नचाते नजर आये।
छोटी-छोटी स्वास्थ्यवर्द्धक बातें बताई
योग शिविर में स्वामी रामदेव ने शिविरार्थियों को स्वास्थ्यवर्द्धक बातें बताई साथ ही घरेलू उपचार, आहार चर्या व दिनचर्या के बारे में ज्ञान दिया। उन्होंने सभी कार्यों को विवेकपूर्ण ढंग से संपादित करने के साथ ही हर कार्य को मन लगाकर करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि कार्यान्तर ही विश्राम ध्येय को जीवन में उतारना चाहिए इससे हमारी कार्यक्षमता बढ़ेगी।
तनावमुक्त जीवन योग से ही संभव
आज के जीवन में तनाव ने हर व्यक्ति के जीवन में घुसपैठ कर रखी है। इस तनाव को दूर रखकर जीवन जीना है तो योगमय जीवन जीना होगा। आसन, प्राणायाम, व्यायाम आदि की विस्तृत जानकारी के साथ अभ्यास भी करवाया। शीर्षासन, बारह प्रकार के दण्ड की सजीव प्रस्तुतियों ने लोगों का मन मोह लिया। स्वामी रामदेवजी ने शिविरार्थियों से कहा कि वे अगले दो दिन के योग सत्रों में अपने साथ डायरी पेन भी लेकर आए। इससे यहां बताई जा रही ज्ञानवर्द्धक बातें नोट भी कर सके जो कि आने वाले समय में काम आएंगी।
दीप प्रज्वलन के साथ शुरू हुआ योग
निःशुल्क योग शिविर के पहले दिन राज्यमंत्री धनसिंह रावत, संसदीय सचिव भीमा भाई, नगरपरिषद सभापति मंजुबाला पुरोहित, पार्षद योगेश जोशी के साथ केन्द्रीय प्रभारी डॉ. जयदीप आर्य, राज्य प्रभारी विनोद पारीक, समन्दर सिंह व आयोजन समिति सदस्यों ने दीप प्रज्वलित कर योगसत्र की शुरूआत की। इसके उपरांत स्वामी रामदेवजी ने आयोजन समिति सदस्यों, संगठन के पदाधिकारियों को रूद्राक्ष की माला पहनाकर अभिनन्दन किया। शिविर में जिला कलक्टर भगवती प्रसाद, पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत, जनसंपर्क विभाग के सहायक निदेशक कमलेश शर्मा सहित जिलाधिकारियों व शहर के गणमान्यजनों ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*