Saturday , 25 November 2017
Breaking News
Home » Rajasthan » गुप्तेश्वर से परशुराम महादेव तक कावड़ यात्रा

गुप्तेश्वर से परशुराम महादेव तक कावड़ यात्रा

राजसमन्द। प्रतिवर्ष श्रावण मास में गुप्तेश्वर महादेव से परशुराम महादेव तक कावड़ यात्रा के आयोजन के तहत रविवार को गुप्तेश्वर महादेव से कावड़ यात्रा शुरू हुई। सोमवार को कावड़ यात्रा परशुराम महादेव पहुंचेंगी और कावडिये शिव का जलाभिषेक करेंगे।
कांकरोली में बड़े दरवाजे के पास गुप्तेश्वर महादेव में सुबह सात बजे से ही कावडिय़ों के आने का सिलसिला शुरू हो गया और पंजीयन के बाद कावड़ सजाकर भक्तजन कतारबद्ध हो गए। ठीक आठ बजे वैदिक मंत्रोच्चार के साथ आरती व भोलेनाथ के जयकारों के साथ कावडय़ात्रा रवाना हुई। अधिकांश कावडिये केसरिया वेशभूषा में थे और सबकी कावड़ केसरिया रंग की ही थी। सबसे आगे बैण्ड भोलेनाथ के भजन प्रस्तुत कर रहा था। उसके पीछे घुड़सवार कावडयात्रा व वीरता का संदेश दे रहा था। उसके पीछे करीब 150 कावडिये कतारबद्ध कंधे पर कावड़ लिए कदम ताल मिलाते चल रहे थे। कार में चल रहे डीजे पर श्रद्धालु भोलेनाथ की भक्ति व मस्ती में थिरकते, नाचते हुए चल रहे थे। कावडय़ात्रा चौपाटी, टैक्सी स्टैण्ड, जलचक्की, पीर बावजी स्थानक, किशोरनगर मण्डा, पुराना अस्पताल, कलालवाटी, हुसैनी मस्जिद, मामू. भाणेज रोड, दाणी चबुतरा, सदर बाजार, कबुतर खाना, फव्वारा चौक, हाइवे 8 से सनवाड़ होते हुए कुंभलगढ़ के लिए प्रस्थान कर गई।
कांकरोली से रवाना हुई कावडय़ात्रा भारी पुलिस जाब्ते के साथ शहर पार हुई। शहर के मुख्य मार्ग से कावडय़ात्रा निकलने पर यातायात पुलिस ने अस्थायी तौर पर यातायात व्यवस्था बदल दी। यातायात प्रभारी रामविलास के नेतृत्व में पुलिस ने पहले जेके मोड़ की तरफ वाहन डाईवर्ट कर दिए। फिर टैक्सी स्टैण्ड, जलचक्की चौराहा, किशोरनगर, हुसैनी मस्जिद, दाणी चबुतरा व कबुतरखाना तक शहर के ऑटो व अन्य वाहनों को वैकल्पिक रास्तों से रवाना किया।
कावड़ यात्रा का पूठोल चौराहा पर स्वागत
गुप्तेश्वर महादेव कांकरोली से परशुराम महादेव कुंभलगढ़ के लिए रविवार को निकली कावड़ यात्रा में महाराणा प्रताप चौराहा पूठोल पर ग्रामीणों ने अपूर्व स्वागत किया। हाथो में ले कावड़ मन मे आस्था और श्रद्धा का भाव लिए कावड़ यात्रि महाराणा प्रताप चौराहे पुठोल पहुंचे। सभी समाज बन्धुओ ने युवा समाज सेवी जगदीश पालीवाल धर्मेटा के साथ मिलकर कावड़ यात्रियों का स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*