Thursday , 18 January 2018
Breaking News
Home » Rajasthan » उदयपुर-राजसमंद में धारा 144

उदयपुर-राजसमंद में धारा 144

  • 24 घंटे तक इंटरनेट सेवाएं बंद
  • साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाडऩे की आशंका

उदयपुर/राजसमंद। जिला मजिस्ट्रेट ने जिले में साम्प्रदायिक सौहार्द बिगडऩे की आशंका पर जिले में धारा 144 लागू कर दी है। इसके साथ ही जिले में बुधवार शाम 8 बजे से गुरूवार शाम 8 बजे तक के लिए इंटरनेट सेवाओं पर भी रोक लगा दी है। यह आदेश कुछ असामाजिक तत्वों की हरकतों को देखते हुए पुलिस अधिकारियों की बैठक के बाद जारी किए है।
जिला मजिस्ट्रेट बिष्णुचरण मल्लिक (उदयपुर) व पी.सी. बैरवाल (राजसमंद) ने एक आदेश जारी कर बुधवार रात्रि 8 बजे से अगले आदेश तक जिले में धारा 144 निषेधाज्ञा लागू की है। जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि निषेधाज्ञा के दौरान धरना प्रदर्शन, रैली एवं भडकाऊ भाषण, सामुहिक आयोजन करने एवं योजना बनाने पर प्रतिबंध रहेगा। आदेश की समय सीमा के दौरान हथियार या लाठी लेकर नहीं घूम सकेगा। उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा ने एक आदेश जारी कर उदयपुर-राजसमंद जिले की सम्पूर्ण सीमा क्षेत्र में इंटरनेट सेवाएं 24 घंटे के लिए निलंबित कर दी है। इस दौरान विभिन्न मोबाइल सेवा प्रदाताओं द्वारा दी जा रही 2 जी, 3 जी व 4 जी डाटा, इंटरनेट सर्विस, बल्क एसएसएस, एमएमएस, वाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया सेवाएं निलंबित रहेगी। यह निलंबन बुधवार रात्रि 8 बजे से प्रभावी है। जिला मजिस्ट्रेट ने सोशल मीडिया पर भडकाउ एवं साम्प्रदायिक सौहाद्र्र बिगाडऩे वाले मैसेज पोस्ट करने, चित्र या वीडियो भेजने वाले व्यक्ति के खिलाफ कठोर कानून कार्यवाही करने के आदेश जारी किए है।राणा के उदयपुर-राजसमंद में प्रवेश पर रोक
जिला मजिस्ट्रेट बिष्णुचरण मल्लिक (उदयपुर ) व पीसी बेरवाल (राजसमंद) ने बताया कि उपदेश राणा नामक शख्स द्वारा सोशल मीडिया पर गुरूवार को एक विशाल रैली निकालने की घोषणा की थी। राणा के आने से माहौल बिगडऩे की आशंका को देखते हुए राणा के उदयपुर व राजसमंद सीमा में प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई है।
स्पेशल सेल रख रही निगरानी
उदयपुर व राजसमंद जिला मजिस्ट्रेट एवं जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय में विशेष सेल का गठन किया गया है जिसके द्वारा सोशल मीडिया पर प्रसारित किये जा रहे पोस्ट, चित्र एवं वीडियो पर कड़ी निगरानी रखते हुए जांच की जा रही है। किसी व्यक्ति द्वारा घृणा एवं विद्वेष फैलाने वाले संदेश, टिप्पणी, चित्र या वीडियो प्रसारित किया जाएगा तो उसके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*