Thursday , 18 January 2018
Breaking News
Home » Rajasthan » अजमेर-अलवर में उप चुनाव 29 जन. को

अजमेर-अलवर में उप चुनाव 29 जन. को

1 फर. को परिणाम

नई दिल्ली। राजस्थान में अलवर तथा अजमेर और पश्चिम बंगाल में उलुबेरिया लोकसभा सीटों के लिए आगामी 29 जनवरी को उपचुनाव कराया जायेगा। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल की नौपारा तथा राजस्थान की मांडलगढ़ विधानसभा सीट के लिए भी इसी दिन उप चुनाव होगा। निर्वाचन आयोग ने उप चुनाव की तारीखों की घोषणा करते हुए गुरूवार को कहा कि इन सभी सीटों पर चुनाव के लिए अधिसूचना आगामी 3 जनवरी को जारी की जायेगी जिसके साथ ही इन क्षेत्रों में आदर्श चुनाव संहिता लागू हो जायेगी। उम्मीदवार 10 जनवरी तक नामांकन पत्र दायर कर सकेंगे जबकि इनकी जांच 11 जनवरी को की जायेगी। नाम वापस लेने की तारीख 15 जनवरी है और 29 जनवरी को मतदान तथा 1 फरवरी को मतों की गिनती की जायेगी। आयोग के अनुसार समूची चुनावी प्रक्रिया 3 फरवरी तक पूरी करनी होगी। सभी मतदान केन्द्रों पर इलेक्ट्रानिक वोङ्क्षटग मशीनों से वोट डाले जायेंगे तथा मतदान के बाद मतदाता वीवीपैट के जरिये पर्ची पर अपने मत की पुष्टि कर सकेंगे। अजमेर-अलवर में उप चुनाव 29 जन. को1 फर. को परिणामनई दिल्ली। राजस्थान में अलवर तथा अजमेर और पश्चिम बंगाल में उलुबेरिया लोकसभा सीटों के लिए आगामी 29 जनवरी को उपचुनाव कराया जायेगा। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल की नौपारा तथा राजस्थान की मांडलगढ़ विधानसभा सीट के लिए भी इसी दिन उप चुनाव होगा। निर्वाचन आयोग ने उप चुनाव की तारीखों की घोषणा करते हुए गुरूवार को कहा कि इन सभी सीटों पर चुनाव के लिए अधिसूचना आगामी 3 जनवरी को जारी की जायेगी जिसके साथ ही इन क्षेत्रों में आदर्श चुनाव संहिता लागू हो जायेगी। उम्मीदवार 10 जनवरी तक नामांकन पत्र दायर कर सकेंगे जबकि इनकी जांच 11 जनवरी को की जायेगी। नाम वापस लेने की तारीख 15 जनवरी है और 29 जनवरी को मतदान तथा 1 फरवरी को मतों की गिनती की जायेगी। आयोग के अनुसार समूची चुनावी प्रक्रिया 3 फरवरी तक पूरी करनी होगी। सभी मतदान केन्द्रों पर इलेक्ट्रानिक वोङ्क्षटग मशीनों से वोट डाले जायेंगे तथा मतदान के बाद मतदाता वीवीपैट के जरिये पर्ची पर अपने मत की पुष्टि कर सकेंगे। घोषणा होते ही राजनीति गरमाईजयपुर। राज्य में दो लोकसभा तथा एक विधानसभा उपचुनाव 29 जनवरी को कराने की घोषणा के साथ ही राजनैतिक दलों में हलचल बढ़ गई है। कांग्रेस ने अलवर लोकसभा उपचुनाव के लिए पूर्व सांसद कर्ण ङ्क्षसह यादव को उम्मीदवार घोषित किया है लेकिन अजमेर तथा मांडलगढ़ के लिए उम्मीदवार चयन की मशक्कत चल रही है। भारतीय जनता पार्टी को तीनों स्थानों पर उम्मीदवार घोषित करने है।
भाजपा के प्रदेश प्रभारी अविनाश खन्ना की मौजूदगी में उम्मीदवार चयन के लिए बैठक हो रही है तथा एक दो दिन में नामों की घोषणा हो सकती है। 2 लोकसभा तथा 1 विधानसभा सीट पर भाजपा का ही कब्जा था जिसे कांग्रेस इन उपचुनाव में हथियाने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। गुजरात चुनाव परिणामों से उत्साहित कांग्रेस ने बूथ प्रबंधन पर ध्यान देने के साथ अपनी वैचारिक दृष्टि में भी बदलाव किया है ताकि भाजपा के हिन्दुत्व के नारे से मुकाबला किया जा सके। पिछली बार लोकसभा चुनाव में अजमेर से सचिन पायलट तथा अलवर से भंवर जितेन्द्र ङ्क्षसह चुनाव हार गये थे। भाजपा के अजमेर से सांवरलाल जाट तथा अलवर से चांदनाथ के निधन के कारण कराये जा रहे इन उपचुनावों में भाजपा भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। भाजपा ने सचिन पायलट तथा भंवर जितेन्द्र ङ्क्षसह के इस बार चुनाव नहीं लडऩे को भी मुद्दा बनाया है। भाजपा का मानना है कि हार के डर की वजह से ही कांग्रेस के बड़े नेता चुनाव नहीं लडऩा चाहते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*