Thursday , 23 November 2017
Breaking News
Home » Political » 5 मिनट में सत्ता छोड़ देंगे नीतीश : जदयू

5 मिनट में सत्ता छोड़ देंगे नीतीश : जदयू

पटना। बिहार में महागठबंधन सरकार पर अब किसी भी वक्त बड़ा फैसला हो सकता है। उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर इस्तीफा का भारी दबाव बना रही जदयू ने अब अपना रूख और सख्त कर लिया है। पार्टी नेता अजय आलोक ने शुक्रवार को कहा कि नीतीश को सत्ता छोडऩे में 5 मिनट भी नहीं लगेंगे। उन्होंने कहा कि विधायकों के आंकड़े गिना रही राजद किसी गलतफहमी में न रहे। इस बीच खबर है कि सरकार बचाने की कवायद में कई तरह के फॉर्मूलों पर विचार किया जा रहा है। इसमें राजद के सभी मंत्रियों के इस्तीफे का विकल्प भी शामिल है।
‘5 मिनट में सत्ता छोड़ देंगे नीतीशÓ
जदयू नेता अजय आलोक ने कहा, यह महागठबंधन नीतीश के नेतृत्व में चल रहा है और भ्रष्टाचार के मुद्दों पर उनकी छवि निष्कलंक रही है। समता पार्टी के वक्त से ही…पिछले 25 सालों से हमने इस छवि से कोई समझौता नहीं किया है और न आगे करेंगे। हमारा यही स्टैंड है, चाहे कुछ भी हो। यह पूछे जाने पर कि क्या नीतीश सत्ता में बने रहने के लिए इस मुद्दे पर देरी कर रहे हैं, उन्होंने कहा, आप सत्ता की बात करते हैं, हमें सिर्फ 5 मिनट लगेंगे सत्ता छोडऩे में। हम यहां सत्ता के लिए नहीं हैं। इशारों में राजद पर निशाना साधते हुए अजय ने कहा, हमारे लिए सत्ता का मतलब है लोगों की सेवा, हम यहां अपने स्वार्थ के लिए नहीं आए, हमारा मकसद प्रॉपर्टी बनाना नहीं है। नीतीश कुमार के लिए सत्ता का मतलब सिर्फ जनसेवा है।
‘कोई गलतफहमी में न रहेÓ
यह पूछे जाने पर कि लालू और नीतीश का घर आसपास ही है तो फिर वह सीधे उनसे बात क्यों नहीं करते, जदयू नेता ने कहा कि सफाई देने का काम तेजस्वी यादव और राजद का है और उन्हें यह करना चाहिए। उन्होंने राजद के उस बयान पर भी पलटवार किया जिसमें कहा गया था कि उसके पास 80 विधायक हैं। आलोक ने कहा, किसी को कन्फ्यूजन में नहीं रहना चाहिए। महागठबंधन के पास 178 विधायक हैं और सभी महागठबंधन के नाम पर चुने गए हैं। इनमें राजद और जदयू के साथ कांग्रेस भी शामिल है। अगर किसी एक पार्टी के आंकड़े देखने हैं तो 2010 के आंकड़े याद कर लीजिए, तो आपको पता चल जाएगा कि किसका क्या आंकड़ा था। कोई गलतफहमी में न रहे।लालू का फॉर्मूला
उधर तेजस्वी पर बढ़ते दबाव के बीच राजद दूसरे विकल्प पर अब गंभीरतापूर्वक विचार कर रही है। सूत्रों के अनुसार लालू प्रसाद ने अपने करीबियों को संकेत दिया है कि वह सरकार गिरने नहीं देंगे और जरूरत पडऩे पर तेजस्वी समेत अपने सभी मंत्रियों से इस्तीफा दिला देंगे और सरकार को बाहर से समर्थन देंगे। लालू के करीबियों के अनुसार वह यह संदेश नहीं देता चाहते हैं कि उनकी ओर से गठबंधन को कमजोर किया जा रहा है। हालांकि राजद नेता ऑन रेकार्ड फिलहाल ऐसी किसी संभावना से इनकार कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*