Thursday , 23 November 2017
Breaking News
Home » Political » ‘2019 में मोदी का मुकाबला करने की क्षमता किसी में नहीं’

‘2019 में मोदी का मुकाबला करने की क्षमता किसी में नहीं’

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को साफ किया कि दिल्ली की गद्दी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। एनडीए सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मोदी का मुकाबला करने की क्षमता किसी में नहीं है। 2019 में मोदी ही प्रधानमंत्री होंगे।
नीतीश से जब पत्रकारों ने पूछा कि क्या 2019 में मोदी फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे, इस पर उन्होंने कहा, 2019 में दिल्ली की कुर्सी पर कोई और काबिज नहीं होगा। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साथ ही अपने पूर्व गठबंधन सहयोगी राजद पर खुलकर हमला बोला। लालू प्रसाद यादव की अगुआई वाली राजद पर काफी हमलावर नजर आए मुख्यमंत्री ने साफ किया कि वह भ्रष्टाचार के मुद्दे पर किसी से समझौता नहीं कर सकते हैं। नीतीश ने कहा, तेजस्वी यादव से हमने केवल सीबीआई छापों पर सफाई देने के लिए कहा था, लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं थे। क्योंकि उनके पास कुछ कहने के लिए था ही नहीं। ऐसे में मेरे लिए गठबंधन चलाना संभव नहीं था।
नीतीश ने लालू पर हमला बोलते हुए कहा, लोग धर्मनिरपेक्षता की आड़ में धन कमाने में लगे हुए थे। इसे मैं कैसे बर्दाश्त कर सकता था। मेरे लिए दो ही रास्ता था या तो भ्रष्टाचार से समझौता करता या फिर मुझे और आलोचना झेलनी पड़ती। मैं किसी आलोचना से परेशान नहीं हूं। उनके लिए धर्मनिरपेक्षता का मतलब इसकी आड़ में चादर ओढ़कर संपत्ति अर्जित करना है। मेरे ऊपर सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी का समर्थन करने के कारण भी कई हमले हुए, लेकिन मैं शुरू से इसके साथ था। गरीबों को अच्छा लगा कि बड़े लोगों पर हमला हुआ है। 80 फीसदी लोगों के पास तो 1000-500 के नोट ही नहीं थे। बेनामी संपत्ति पर कड़ाई के पक्ष में मैं था। अब अगर किसी की बेनामी संपत्ति पर छापा पड़ा तो क्या मैं उसका समर्थन नहीं करता।
कहा गया- भाजपा को नया सहयोगी मुबारक हो
कई तरह की बातें कही जाने लगीं। छापे पड़े तो कहा गया कि भाजपा को नया सहयोगी मुबारक हो। बाद में उस पर सहयोगी सफाई देने लगे। फिर पटना में क्या हुआ? मैं राजगीर में था, बीमार था। मेरा वहां से भावनात्मक लगाव है। अगले दिन छापा पड़ता है। लालू जी से कई बार बातचीत हुई। हमने कहा कि जो बात है वो आप तथ्यों के साथ जवाब दें। इससे जनता में बेहतर प्रभाव जाएगा। हमारा भी बचाव होगा। ऐसा होना भी चाहिए था। लोग पूछ रहे थे कि हम इस्तीफा क्यों नहीं ले रहे। सवाल मेरे ऊपर उठ रहे थे? बहुत सारे सवाल उठ रहे थे।
मुझ पर सवाल उठ रहे थे
नीतीश ने कहा, मेरी पार्टी की 2 जुलाई को मीटिंग हुई थी। देश का पूरा मीडिया भ्रष्टाचार के मामले को लेकर मुझ पर सवाल उठा रहा था। मेरी पार्टी इस मुद्दे पर एकजुट थी। हमने कहा था कि लोग इस बात पर बिंदुवार जवाब दें। उसका उत्तर क्या दिया गया? हमने सफाई नहीं मांगी, लेकिन जनता को तो ये देनी पड़ेगी।
मैं कास्ट बेस पर नहीं मास बेस पर यकीन करता हूं
मैं कास्ट बेस पर नहीं मास बेस पर यकीन करते हैं। लोग दावा करते हैं उन्होंने हमें बनाया। लालू जी छात्र जीवन में चुनाव लड़ रहे थे। मैं इंजीनियररिंग कर रहा था। मैंने 500 में से 450 वोट उन्हें दिलवाए। मैं एमएलए बना तो क्या लालू ने बनवाया। लोगों ने मुझे जहर तक बता दिया। मुझे मर्डर केस का एक्यूज्ड (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*