Monday , 21 May 2018
Breaking News
Home » Political » येदियुरप्पा होंगे सीएम

येदियुरप्पा होंगे सीएम

  • कर्नाटक सरकार पर सस्पेंस खत्म !
  • राज्यपाल ने भेजा न्यौता, शपथ आज
  • बहुमत साबित करने के लिए दिया 15 दिन का समय

बेंगलुरु। कर्नाटक में सरकार बनाने को लेकर दो दिन से जारी सियासी उठापठक पर फिलहाल विराम लग गया है। राज्यपाल वजुभाई वाला ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया है। बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा गुरुवार को सीएम पथ की शपथ लेंगे। राज्यपाल ने येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय दिया है। बुधवार देर शाम कर्नाटक बीजेपी की तरफ से एक ट्वीट कर इसकी जानकारी भी साझा की गई। ट्वीट में यह जानकारी दी गई है कि गुरुवार सुबह 9 बजे येदियुरप्पा कर्नाटक के नए सीएम पद की शपथ लेंगे।
बता दें कि कर्नाटक चुनाव में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है जबकि कांग्रेस और जेडीएस ने मिलकर सरकार बनाने का दावा किया। दोनों ही तरफ से सरकार बनाने की दावेदारी पेश की गई। बुधवार शाम जेडीएस ने एक बार फिर सभी विधायकों के समर्थन की चि_ी राज्यपाल को सौंपी। पर, देर शाम राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया।
बुधवार को सरकार बनाने को लेकर लगातार घटनाक्रम तेजी से बदलता रहा। दोनों तरफ से सरकार बनाने के लिए की जा रही दावेदारी के बीच राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया है। गुरुवार सुबह येदियुरप्पा सीएम पद की शपथ लेंगे। कर्नाटक बीजेपी के ट्विटर पेज से इसकी जानकारी भी साझा कर दी गई है। उधर, देर शाम प्रकाश जावड़ेकर से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने सीधे कुछ बोलने की जगह हाथ के इशारे से विक्ट्री साइन बनाया। कांग्रेस ने उठाए सवाल उधर, सरकार बनाने को लेकर चल रहे उठापठक के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पी.चिदंबरम और कपिल सिब्बल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्यपाल की तरफ से जेडी (एस) और कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए मौका नहीं देने पर सवाल उठाए। कपिल सिब्बल ने कहा, कोई राज्यपाल अगर संविधान का उल्लंघन करता है तो निश्चित रूप से कहीं न कहीं से तो दबाव है। मणिपुर और गोवा का उदाहरण देते हुए सिब्बल ने कहा कि चाहे गोवा हो, मणिपुर हो या फिर मेघायल हो, राज्यपाल ने बहुमत के हिसाब से सरकार बनवाई थी। यहां जेडीएस और कांग्रेस के पास बहुमत है। चिदंबरम ने कहा कि सुनने को मिल रहा है कि राज्यपाल ने येदियुरप्पा को सरकार बनाने के लिए बुलाया है। पर, अभी चूंकि इसकी पुष्टि नहीं है, हम उम्मीद करते हैं कि वह संविधान के मुताबिक फैसला करेंगे।
उधर, इस मामले पर कर्नाटक में मौजूद पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने कहा कि राज्यपाल पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्र.म. मोदी का दबाव है। उन्होंने आरोप लगाया कि कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला दबाव में काम कर रहे हैं। गहलोत ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह गुजरात में राज्य सभा चुनाव में मिली हार का बदला लेने की भावना से काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बहुमत कांग्रेस के साथ है तो इस लिहाज से उन्हें ही सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*