Thursday , 23 November 2017
Breaking News
Home » Political » परिवार के राज ‘भोग’ के लिए नहीं मिला था वोट

परिवार के राज ‘भोग’ के लिए नहीं मिला था वोट

पटना। बिहार विधानसभा में शुक्रवार को नीतीश मंत्रिमंडल ने विश्वास मत जीत लिया और उसके पक्ष में 131 और विपक्ष में 108 मत पड़े। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने सदन में घोषणा की कि विश्वास मत के प्रस्ताव के पक्ष में 131 मत पड़े जबकि इसके विरोध में 108 मत मिला। इसके बाद उन्होंने सभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने की घोषणा की।
नीतीश कुमार ने विधानसभा में विश्वास मत के दौरान राष्ट्रीय जनता दल पर बेहद तीखा हमला बोला। राजद के हमलों से तिलमिलाए नीतीश ने तेजस्वी की ओर मुखातिब होते हुए कहा कि उन्हें जनता ने एक परिवार की सेवा के लिए बहुमत नहीं दिया था। बिहार विधानसभा में नीतीश से पहले तेजस्वी यादव ने अपने भाषण में भाजपा और जदयू पर तीखे हमले बोले। तेजस्वी के बाद जब नीतीश बोलने के लिए उठे तो वह बेहद आक्रोशित अंदाज में अपने पूर्व सहयोगियों पर बरस पड़े।
नीतीश ने लालू के परिवार पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर तंज कसते हुए कहा कि सत्ता लोगों की सेवा के लिए होती है न कि ‘मेवाÓ के लिए। बिहार विधानसभा में पेश विश्वास मत प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लेते हुए नीतीश कुमार ने लोगों से वादा किया, अब बिहार में सरकार चलेगी, जनता की सेवा करेगी और भ्रष्टाचार तथा अन्याय को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। नीतीश ने कहा, हमने कई समस्याओं का सामना किया, बावजूद इसके गठबंधन धर्म का पालन करने का हरसंभव प्रयास किया। परंतु जब स्थिति खराब हो गई और जनता परेशान होने लगी तो इसके अलावा और कोई रास्ता नहीं था।
नीतीश ने कहा, मैं एक-एक बात का जवाब दूंगा और समय पर जवाब दूंगा। ये लोग अहंकार में जीने वाले हैं और भ्रम पालते हैं। ये एक पार्टी के अस्तित्व को नकार रहे हैं। कांग्रेस पर बेहद तीखे तंज में नीतीश ने कहा, आपको 15-20 से ज्यादा मिलने वाला नहीं था। मैंने 40 तक पहुंचाया है। इसके बाद उन्होंने कहा, जनता का वोट काम करने के लिए मिला है। हमारी प्रतिबद्धिता है जनता की सेवा करने की है, किसी एक परिवार की सेवा करने के लिए नहीं है। (शेष पृष्ठ ८ पर)

उन्होंने कहा,मुझे कोई सांप्रदायिकता का पाठ नहीं पढ़ा सकता। आज अपना पाप छिपाने के लिए ‘धर्मनिरपेक्षÓ बने हैं। उन्होंने कांग्रेस पर भी निशाना साधते हुए कहा कि महागठबंधन बचाने के लिए मैंने कांग्रेस नेताओं को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर हस्तक्षेप करने को कहा था, लेकिन उन्होंने भी कुछ नहीं किया।
सदन के बाहर भी जमकर हंगामाविधानसभा के बाहर राजद कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। पार्टी के विधायक असेंबली गेट पर प्लेकार्ड लेकर पहुंचे थे। राजद के विधायकों ने नीतीश को जमकर खरी खोटी सुनाई।
उन्होंने ‘तेजस्वी एक बहाना था, भाजपा के साथ जाना थाÓ जैसे नारे लगाए। सदन के बाहर भी तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को निशाने पर लिया। तेजस्वी ने कहा, ‘हे राम से जय श्रीराम! उन्होंने इस तरह पलटी मारी है।Ó तेजस्वी ने कहा कि सुशील मोदी समेत कई भाजपा शासित राज्यों के सीएम तक पर आपराधिक मुकदमे हैं। इसके बावजूद, सिर्फ उन्हें बहाना बनाकर नीतीश भाजपा के पाले में चले गए।
वहीं, जदयू भी अपने नेता को बचाने के लिए हमलावर दिखी। पार्टी नेता नीरज कुमार ने कहा, राजनीति सेवा करने के लिए है। यह पैसा या प्रॉपर्टी इक_ा करने का तरीका नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*