Saturday , 23 June 2018
Breaking News
Home » Political » कुमारस्वामी ने हासिल किया विश्वास

कुमारस्वामी ने हासिल किया विश्वास

बंगलूरू। कर्नाटक विधानसभा में शुक्रवार को कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने बहुमत साबित कर दिया। दोनों के गठबंधन को कुल 117 विधायकों के वोट हासिल हुए। बहुमत परीक्षण से पहले भाजपा विधायकों ने सदन से वॉकआउट किया।
कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता बीएस येदियुरप्पा ने 24 घंटे में किसानों का कर्ज माफ नहीं होने पर राज्यव्यापी आंदोलन छेडऩे की चेतावनी दी है। उन्होंने शुक्रवार को कुमारस्वामी के फ्लोर टेस्ट से पहले कहा, जदएस नेता ने वादा किया था कि वह कार्यभार संभालने के 24 घंटे के भीतर 53,000 करोड़ रूपये का कृषि कर्ज माफ कर देंगे। अब कुमारस्वामी गठबंधन सरकार की मजबूरियों का हवाला देकर किसानों को बहला नहीं सकते। उन्हें विशेष सत्र में ही कर्ज माफी की घोषणा करनी पड़ेगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम राज्यव्यापी आंदोलन के लिए तैयार हैं।
येदियुरप्पा ने कहा कि वह कांग्रेस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे, क्योंकि कांग्रेस खुद ही जेडीएस को खत्म कर देगी। भाजपा किसान व जनविरोधी और भ्रष्ट कुमारस्वामी सरकार के खिलाफ संघर्ष करेगी।
इस दौरान उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के पौत्र प्रजवाल के उस बयान का जिक्र किया जिसमें उन्होंने कहा था कि पार्टी में बिना सूटकेस के कोई काम नहीं होता। येदियुरप्पा ने कहा कि विपक्ष में बैठकर लोगों के हितों की रक्षा करना भाजपा की जिम्मेदारी है और मैं ऐसा ही करूंगा।भाजपा पीछे हटी, निर्विरोध स्पीकर चुने गए कांग्रेस के रमेश कुमारवहीं बहुमत परीक्षण से पहले कुमारस्वामी सरकार को बड़ी राहत मिली। भाजपा ने विधानसभा स्पीकर पद के लिए अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लिया। भाजपा के इस कदम के बाद कांग्रेस के रमेश कुमार निर्विरोध विधानसभा के स्पीकर चुन लिए गए। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि स्पीकर के पद की गरिमा बनाए रखने के लिए हमने स्पीकर के अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लिया। भाजपा ने सदन से किया वॉकआउट”जनादेश साल 2004 की तरहÓÓ
बहुमत परीक्षण से पहले कुमारस्वामी ने सदन को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि इस बार का जनादेश साल 2004 की तरह है। उस वक्त भी मैं पहली बार विधायक बना था और सदन की कार्यवाही को देखता था। कुमारस्वामी ने कहा कि मैं गुलाम नबी आजाद, पूर्व सीएम सिद्धारमैया और मौजूदा उपमुख्यमंत्री परमेश्वर का धन्यवाद करना चाहूंगा।
उन्होंने यह भी कहा कि जेडीएस नेता ने बताया था कि मतगणना के दिन सबसे पहले परमेश्वर ने मुझे फोन किया। इसके बाद आजाद ने कहा कि चुनाव नतीजों में खंडित जनादेश आया है और हमें सरकार बनानी चाहिए। मैंने कांग्रेस पार्टी की ओर सकारात्मक कदम बढ़ाया। कुमारस्वामी ने कहा कि मैं ये साफ कर देना चाहता हूं कि मेरे मुख्यमंत्री बनने की इच्छा के चलते ये गठबंधन नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*