Thursday , 21 June 2018
Breaking News
Home » Jaipur » 10 साल बाद किरोड़ी की ‘घर वापसी’

10 साल बाद किरोड़ी की ‘घर वापसी’

राजपा का भाजपा में विलय

जयपुर। दस साल तक भाजपा से दूर रहे पूर्व मंत्री व विधायक डॉ. किरोड़ीलाल मीणा की रविवार को घर वापसी हो गई। भाजपा मुख्यालय में सीएम वसुंधरा राजे ने मिठाई खिलाकर किरोड़ी लाल मीणा को पार्टी में शामिल कराया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी के कहने पर किरोड़ी लाल, उनकी पत्नी गोलमा देवी व सिकराय से विधायक गीता वर्मा ने मोबाइल पर मिस्ड कॉल देकर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इसके साथ ही उनकी पार्टी राजपा का भाजपा में विलय हो गया। राजपा का विलय होने के बाद किरोड़ी, उनकी पत्नी गोलमा और सिकराय विधायक गीता देवी भाजपा के विधायक कहलाए जाएंगे। हालांकि, आमेर से राजपा विधायक नवीन पिलानिया भाजपा मुख्यालय नहीं पहुंचे।
घर वापसी के बाद किरोड़ी ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार में सीएम अशोक गहलोत ने मुझे उदयपुर में एक आंदोलन के दौरान जिला बदर किया, अपमानित किया। यह ऐसी पार्टी है जिसका कोई भविष्य नहीं है, कोई दूरद्रष्टा नहीं है। मैं ऐसी कांग्रेस पार्टी में नहीं जाना चाहता था। किरोड़ी ने कहा, राजस्थान में कांग्रेस शक्ति केंद्रों की स्थापना कर रही है।

मैं सीएम से गुजारिश करना चाहूंगा कि दिल्ली भेजने की बजाए मुझे राजस्थान में घूमकर कांग्रेस के इन शक्ति केंद्रों को ध्वस्त करने की जिम्मेदारी दें। मैंने अपने जीवन में अन्याय बर्दाश्त नहीं किया, सभी समाजों के जरूरतमंदों के साथ खड़ा रहा। इसके लिए 380 आंदोलन किए जिनमें करीब 103 मुकदमे राजनीतिक दुर्भावना के चलते दर्ज कराए गए, लेकिन विचारधारा से समझौता कभी नहीं किया।
किरोड़ी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत के बारे में भी बताया। किरोड़ी ने कहा, डाक्टर बनने के डेढ़ साल बाद मेरा भाजपा कार्यालय जाना हुआ। वहां चुनाव के टिकट बांटने का दौर चल रहा था। तभी भैरोसिंह शेखावत की नजर मुझ पर पड़ी। उन्होंने मुझसे चुनाव लड़ने के लिए कहा। इसके बाद मुझे महुआ से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़वाया गया। इस तरह मेरे राजनीतिक जीवन की शुरूआत हुई।

आज रास का नामांकन भरेंगे मीणा
जयपुर। प्रदेश की 3 राज्यसभा सीटों के लिये भारतीय जनता पार्टी की ओर से सोमवार को नामांकन भरे जायेगें। भारतीय जनता पार्टी की ओर से अभी तक अधिकृत उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की गई है लेकिन रविवार को ही पार्टी में शामिल हुये किरोड़ी लाल मीणा ने पार्टी मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि, वह कल पार्टी की ओर से राज्यसभा के लिये नामांकन भरेगें।
मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पार्टी उम्मीदवारों के बारे में पूछे गये सवाल पर कहा कि शीघ्र ही आपको पता चल जायगा, अभी चर्चा चल रही है।
पार्टी की ओर से निवृतमान सांसद भूपेन्द्र यादव भी आज राज्यसभा के लिये अपना नामांकन भरेगें। उनका कहना है कि उन्होंने गत 6 वर्षों में राजस्थान से जुड़े अनेक मुद्दों को राज्यसभा में उठाया है और आने वाले समय में भी प्रदेश के मुद्दों को पूरजोर तरीके से राज्यसभा में उठाया जायगा।
यादव इस समय भाजपा की राष्ट्रीय राजनीति में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है और माना जाता है कि वह राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के कोर ग्रुप में शामिल है। उत्तर प्रदेश और गुजरात के विधानसभा चुनावों में महत्ती भूमिका निभाने वाले यादव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र बनारस के भी प्रभारी रहे हैं। राजस्थान के तीन सांसद अभिषेक मनु सिंघवी, नरेन्द्र बुढानिया (दोनों कांग्रेस) और भाजपा के भूपेन्द्र यादव अगले माह सेवानिवृत हो रहे है।

पत्नी को लेकर चुटकी ली
एक दशक बाद भाजपा में फिर से आए किरोड़ी ने कहा, मैं बिना किसी शर्त के पुराने घर में आया हूं, लेकिन मेरी पत्नी गोलमा के लिए यह नया घर था। चिंता थी कि बुढ़ापे में गोलमा मेरा साथ न छोड़ दें लेकिन उन्होंने साथ निभाया और मेरे साथ भाजपा में लौटीं। वहीं गोलमा ने कहा, भाजपा में शामिल होना नए घर में आने जैसा है। इससे बहुत खुश हूं। सभी को शुभकामनाएं, सभी को राम-राम। राजपा से विधायक रहीं गीता वर्मा ने कहा, किरोड़ी के मार्गदर्शन में भाजपा में सह सम्मान घर वापसी से काफी खुशी है।

सीएम ने कहा आज आंखें भर आईं

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने किरोड़ी की भाजपा में वापसी पर खुशी जताते हुए कहा, किरोड़ी और गोलमा की दिल की भावनाएं सुनकर मेरी आंखों में आंसू आ गए और मैं भावुक हो गई थी। मैं इतना ही कहना चाहती हूं। हम पहले भी एक थे और आज भी एक हैं। आपका और हमारा दिल का रिश्ता है। हमारा सक्षम और बलवान भाई घर लौटकर आया जो पार्टी के साथ पार्टी के लिए हमेशा खड़ा रहेगा। इससे पार्टी में चार चांद लग जाएंगे। उन्होंने कहा कि चुनाव आसान कार्य नहीं है इसके लिये कठिन संघर्ष करना पड़ता है जिसके लिये सामूहिक रूप से जुटना पड़ता है और मीणा के जुड़ने से ये लड़ाई आसान हो जायगी। उन्होंने कहा कि मीणा की घर वापसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का सपना साकार होगा।
उन्होंने पार्टी में शामिल हुये राजपा के कार्यकर्ताओं को भी भरोसा दिलाया कि उनकी मेहनत और समर्पण की अनदेखी नहीं की जायगी। उन्होंने कार्यकर्ताओं और समर्थकों से आग्रह किया कि वे अब संगठन को और अधिक मजबूत व शक्तिशाली बनाने में जुट जावें।

भाजपा से अपने कॅरिअर की शुरूआत करके जातीय राजनीति के बलबूते खुद को बड़े नेता के तौर पर स्थापित कर चुके किरोड़ी लाल की घर वापसी के कयास लंबे समय से लगाए जा रहे थे। किरोड़ी के आने से भाजपा को उन 45 सीटों पर फायदा होगा, जिन पर पिछले चुनाव में राजपा का असर रहा है।

उल्लेखनीय है कि किरोड़ी लाल मीणा ने पार्टी से मतभेद होने के कारण 2008 में राजस्थान जनता पार्टी के नाम से नया दल का गठन किया था और तत्कालीन कांग्रेस शासन में उनकी पत्नी गोलमा देवी को राजस्थान में मंत्री बना दिया था। दस सालों तक पार्टी से अलग रहने के बाद रविवार को उन्होंने पुनः पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*