Saturday , 26 May 2018
Breaking News
Home » Jaipur » भारी तबाही, 100 से ज्यादा मरे

भारी तबाही, 100 से ज्यादा मरे

  • अगले 48 घंटों में फिर आ सकता तूफान
  • राजे आज करेगी आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे शुक्रवार को प्रदेश में आंधी तूफान से प्रभावित जिलों का दौरा कर नुक्सान का जायजा लेगी। श्रीमती राजे ने गुरूवार को मकराना के हुडसू गांव में पेयजल परियोजना का उद्घाटन करते समय कहा कि दुख की इस घड़ी में पूरी सरकार आपदा पीड़ितों के साथ है। राज्य सरकार ने 4 मंत्रियों को प्रभावित जिलों में भेजे हैं और कल मैं भी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने जाऊंगी। उन्होंने ईश्वर से दिवंगतों की आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिजनों को यह आघात सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए प्रार्थना की। उन्होंने कहा कि (शेष पेज 8 पर)नई दिल्ली। उत्तर भारत के कई इलाकों में बुधवार देर रात आए आंधी-तूफान से काफी नुकसान पहुंचा है। उत्तर प्रदेश और राजस्थान में भारी तबाही हुई है। इन दोनों राज्यों में अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। उत्तर प्रदेश में कुल 64 लोगों की मौत हुई है जिनमें आगरा में सबसे ज्यादा 36 लोगों की मौत हुई है। वहीं राजस्थान में 39 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। उत्तर प्रदेश सरकार ने अगले 48 घंटे के लिए अलर्ट जारी किया है। एक बार फिर से इन राज्यों में तूफान आ सकता है।
इस मामले में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने ट्वीट कर जानकारी दी कि उन्होंने अधिकारियों और मंत्रियों को आदेश दे दिये हैं कि प्रभावित इलाकों में बचाव कार्य शुरू करें। उन्होंने लिखा कि स्थिति काबू में लाने के लिए स्थानीय कर्मचारी काम में जुट गए हैं। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी संबंधित जिलों में भारी नुकसान के लिए मुआवजा जारी करने के आदेश दिए हैं।
प्रदेश में बुधवार को आये आंधी और तूफान में मरने वालो की संख्या 39 हो गयी है तथा सौ से अधिक लोग घायल हो गये।
राज्य सरकार ने हादसे में मरने वाले मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रूपये की सहायता देने के साथ ही आपदा प्रभावित तीन जिलों के लिये आपदा राहत कोष से ढाई करोड़ रूपये की राशि आवंटित की है तथा प्रभावित क्षेत्रों में बचाव एवं राहत कार्य शुरू कर दिये है।
प्रदेश में आये प्राकृतिक आपदा पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने दुख व्यक्त करते हुये कहा कि इस घटना से मैं बहुत व्यथित हूं और उन्होंने मृतकों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के महासचिव अशोक गहलोत ने मृतकों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुये अपने जन्म दिन पर गुरूवार को आयोजित होने वाले कार्यक्रमों को रद्द कर दिया। उन्होंने अपने आवास पर आने वाले कार्यकर्ताओं से बुके और मिठाई भी नहीं ग्रहण किये।
आपदा एवं राहत मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने गुरूवार को यहां आपदा प्रबंध अधिकारियों के साथ प्रदेश में हुये नुकसान की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने बताया कि अभी तक मिली सूचनाओं के अनुसार प्रदेश में कुल 34 लोगों की मृत्यु तथा 100 से अधिक लोग घायल हुये है। इनमें से सर्वाधिक 19 लोगों की मृत्यु भरतपुर में तथा 10 की अलवर में तथा 10 लोगों की मृत्यु धौलपुर में हुई है। उन्होंने कहा कि अभी तत्काल यह पता नहीं चला है कि (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*