Monday , 18 June 2018
Breaking News
Home » International » कुलभूषण से ‘मिली’ मां-पत्नी पाक ने

कुलभूषण से ‘मिली’ मां-पत्नी पाक ने

कांच की दीवार खड़ी कर जताया ‘एहसान’

इस्लामाबाद/नई दिल्ली। पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की सोमवार को मां और पत्नी से मुलाकात हुई। मुलाकात 47 मिनट चली। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय में मुलाकात के वक्त सब कुछ ठीक नहीं था। जाधव और उनकी पत्नी चेतना-मां अवंतिका के बीच एक कांच की दीवार थी। जाधव के सामने एक फोन था। इसका स्पीकर ऑन करके बातचीत कराई गई। कुछ दूरी पर भारतीय राजनयिक जेपी सिंह थे। खास बात ये है कि सिंह के सामने भी एक कांच की दीवार थी। यानी वो उस बातचीत को नहीं सुन सकते थे, जो जाधव और उनकी पत्नी-मां के बीच हो रही थी। जब मुलाकात खत्म हो गई, तो पाकिस्तान ने जाधव का नया वीडियो जारी किया। इसमें जाधव कथित तौर पर मीटिंग अरेंज करने के लिए पाकिस्तान सरकार का शुक्रिया अदा करते नजर आते हैं।पाक बोला- हमारी नजर में जाधव जासूस
इस मुलाकात के बाद पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जाधव को लेकर पाकिस्तान के रूख में कोई नरमी नहीं आई है। जाधव पाकिस्तान में पकड़े गए हैं और उन्हें लेकर उनके कई सवाल हैं जिनका जवाब वे चाहते हैं। पाकिस्तान की नजर में वे जासूस हैं। उन्होंने बताया कि मां और पत्नी दोनों जाधव से मिलकर संतुष्ट हुईं। दोनों ने इस मुलाकात के लिए पाकिस्तान का शुक्रिया अदा किया है।
शीशे की दीवार में मुलाकात के सवाल पर फैजल ने कहा कि उन्हें पहले ही बता दिया गया था कि सुरक्षा कारणों के शीशे की दीवार के बीच मुलाकात कराई जाएगी।
काउंसलर एक्सेस नहीं था
काउंसलर एक्सेस के सवाल पर फैजल ने कहा कि यह काउंसलर एक्सेस नहीं था। यह सिर्फ 30 मिनट की मुलाकात थी, जिसे जाधव के कहने पर 10 मिनट और बढ़ा दिया गया। पाकिस्तान ने अपना वादा निभाया है। फैजल ने कहा कि यह पाकिस्तान के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन था क्योंकि सोमवार को जिन्ना का जन्मदिन है। इसलिए, इस दिन को बैठक के लिए चुना गया था। जाधव की मेडिकल रिपोर्ट भी जारी की गई है, जिसमें जाधव को पूरी तरह से फिट बताया गया है।

जाधव से जारी करवाया बयान- कहा शुक्रिया
मुलाकात के बाद पाकिस्तान ने जाधव का एक बयान भी जारी करवाया है। इसमें कुलभूषण जाधव ने कहा कि राजनयिक मदद कह मुकरा पाकइस्लामाबाद। सोमवार को पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय कैदी कुलभूषण जाधव को अपने परिवार से मिलने का मौका मिला। पाकिस्तान ने इस मुलाकात का इस्तेमाल अपने ‘मानवतावादीÓ चेहरे को दिखाने के लिए करने की कोशिश तो की लेकिन राजनयिक मदद देने की बात कह मुकरने और शीशे की दीवार के बीच मुलाकात कराने ने उसकी इस कोशिश पर पानी फेर दिया है। इन दोनों ही मामलों में पाकिस्तान की किरकिरी हो रही है। मुलाकात के बाद पाक ने एक बार फिर कुलभूषण पर आतंकवाद फैलाने जैसे पुराने आरोप लगाए हैं। भारत इन आरोपों को पहले ही झूठा बता चुका है।

हालांकि मुलाकात के बाद अब पाकिस्तान ने आधिकारिक तौर पर स्वीकार कर लिया है कि जाधव को राजनयिक मदद नहीं उपलब्ध कराई गई है। मानवतावादी चेहरा दिखाने की कोशिश में जुटे पाकिस्तान की छीछालेदर इस बात को लेकर हो रही है कि आखिर जाधव एवं उनकी मां-पत्नी के बीच शीशे की दीवार और इंटरकॉम की बंदिश क्यों रखी गई।

सोमवार को पाकिस्तान की जेल में कथित जासूसी के आरोप में बंद कुलभूषण जाधव की मां एवं पत्नी ने पाकिस्तानी विदेश कार्यालय में उनसे मुलाकात की। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने सोमवार को स्पष्ट किया कि जाधव की उनकी पत्नी व मां से मुलाकात से पहले

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*