Sunday , 24 September 2017
Breaking News
Home » India » Uttar Pradesh » योगी ने किया साजिश का इशारा

योगी ने किया साजिश का इशारा

लखनऊ। विधायकों के लिहाज से देश की सबसे बड़ी यूपी विधानसभा में पीईटीएन नाम का विस्फोटक मिला है। ये वही विस्फोटक है जिसका 6 साल पहले दिल्ली हाईकोर्ट में हुए ब्लास्ट में इस्तेमाल हुआ था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार सुबह खुद विधानसभा में इस बारे में बताया। उन्होंने कहा कि एक दिन पहले सत्र के बाद संदिग्ध सफेद पाउडर मिला था। डॉग स्क्वॉड भी उसकी पहचान नहीं कर पाया। फॉरेंसिक लैब में पाउडर के पीईटीएन विस्फोटक होने की पुष्टि हुई। योगी ने कहा कि जो विस्फोटक मिला वह 150 ग्राम था और विपक्ष के नेता की कुर्सी के पास रखा हुआ था। अगर ये 500 ग्राम होता और उसमें धमाका होता तो पूरी विधानसभा उड़ सकती थी। अब योगी चाहते हैं कि इस मामले की जांच एनआईए से हो।विधायकों से योगी की अपील…योगी ने किया साजिश का इशारालखनऊ। विधायकों के लिहाज से देश की सबसे बड़ी यूपी विधानसभा में पीईटीएन नाम का विस्फोटक मिला है। ये वही विस्फोटक है जिसका 6 साल पहले दिल्ली हाईकोर्ट में हुए ब्लास्ट में इस्तेमाल हुआ था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार सुबह खुद विधानसभा में इस बारे में बताया। उन्होंने कहा कि एक दिन पहले सत्र के बाद संदिग्ध सफेद पाउडर मिला था। डॉग स्क्वॉड भी उसकी पहचान नहीं कर पाया। फॉरेंसिक लैब में पाउडर के पीईटीएन विस्फोटक होने की पुष्टि हुई। योगी ने कहा कि जो विस्फोटक मिला वह 150 ग्राम था और विपक्ष के नेता की कुर्सी के पास रखा हुआ था। अगर ये 500 ग्राम होता और उसमें धमाका होता तो पूरी विधानसभा उड़ सकती थी। अब योगी चाहते हैं कि इस मामले की जांच एनआईए से हो।विधायकों से योगी की अपील…1) सभी कर्मचारियों का पुलिस वेरिफिकेशन हो।2) विधानसभा में सिक्युरिटी के लिए नई गाइडलाइन जारी हो।3) विधायक फोन लेकर सदन के अंदर ना आएं, लाएं तो साइलेंट करें।4) बिना पास के विधानसभा में एंट्री बैन हो।5) जिम्मेदार और जवाबदेह लोगों को सिक्युरिटी सौंपी जाए।6) यूनीफॉर्म सिक्युरिटी सिस्टम होना चाहिए।7) सभी विधायक सिक्युरिटी चेक में सहयोग करें। विपक्ष के नेता की सीट के पास मिला था पाउडरठ्ठ यह मामला 12 जुलाई का है। सफाई स्टाफ को विधानसभा में विपक्ष के नेता रामगोविंद चौधरी की सीट के पास कागज की पुडिय़ा में विस्फोटक मिला।ठ्ठ इसके बाद मुख्यमंत्री ने गुरूवार शाम 4 बजे डीजीपी, प्रिंसिपल सेक्रेटरी, असेंबली सेक्रेटरी, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर सहित कई सीनियर अफसरों की इमरजेंसी मीटिंग बुलाई। ठ्ठ शुक्रवार सुबह योगी ने विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने के बाद सबसे पहले इसी बारे में खुलासा किया।पाउडर मिलने के बाद भी हुई लापरवाहीठ्ठ विधानसभा एसपी राहुल मिठास ने बताया, हमें सफेद पाउडर मिला था। इसे जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा गया। वहां से इसके पीईटीएन विस्फोटक होने की पुष्टि हुई है। पाउडर अंदर कैसे आया, इसकी जांच की जा रही है।ठ्ठ एडीजी इंटेलिजेंस भावेश कुमार ने कहा कि पूरे मामले की मॉनिटरिंग डीजीपी खुद कर रहे हैं। ठ्ठ सूत्रों के मुताबिक, संदिग्ध पाउडर के बारे में गुरूवार को दोपहर को जानकारी मिली। लेकिन, इसके बावजूद अफसर तुरंत एक्शन लेने की बजाय सेक्रेटेरिएट खाली होने का इंतजार करते रहे। असेंबली और सेक्रेटेरिएट के ज्यादातर अधिकारी-कर्मचारियों के जाने के बाद इन्वेस्टिगेशन टीम को बुलाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*