Tuesday , 21 November 2017
Breaking News
Home » India » Uttar Pradesh » महापुरूषों के जन्मदिन पर छुट्टियां बंद

महापुरूषों के जन्मदिन पर छुट्टियां बंद

लखनऊ। यूपी सरकार ने मंगलवार को कैबिनेट मीटिंग में तमाम महापुरूषों के नाम पर घोषित 15 सार्वजनिक अवकाशों को रद्द करने का फैसला लिया। स्कूल और कॉलेजों में इस दिन पढ़ाई होगी और 2 घंटे तक उन महापुरूषों के बारे में स्टूडेंटस को बताया जाएगा। बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की। बैठक के बाद कैबिनेट मिनिस्टर श्रीकांत शर्मा ने पत्रकारों को बकाया कि छुट्टियों की रिवाइज्ड लिस्ट जल्द ही जारी होगी। उन्होंने कहा कि इन छुट्टियों के कारण 220 दिन की पढ़ाई 120 दिनों में सिमट गई थी। यूपी में 42 सार्वजनिक छुट्टियां हैं, जिनमें से 17 का संबंध किसी न किसी महापुरूष के बर्थडे या जयंती से संबंधित है।
राज्य के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बैठक के बाद पत्रकारों को बताया कि कैबिनेट ने भू-माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का फैसला किया है। उन्होंने कहा, ऐंटी टास्क फोर्स दो महीने के भीतर भू-माफियाओं की पहचान करेगी और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। शर्मा ने कहा कि धर्म के नाम पर सार्वजनिक भूमि पर कब्जे की किसी को भी इजाजत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि टास्क फोर्स राज्य के मुख्य सचिव के अधीन काम करेगी। इसके अलावा जिला अधिकारी, डिविजनल आयुक्त और एसडीएम भी शिकायतों का निपटारा करेंगे। बता दें कि चुनाव से पहले भाजपा ने ऐंटी टास्क फोर्स के गठन का वादा किया था।
अवैध कब्जे से संबंधित मामले की शिकायत के लिए एक पोर्टल भी अलग से लॉन्च किया गया है। यहां जमीन कब्जे की शिकायत की जा सकती है। शर्मा ने कहा, पुलिस को जमीन कब्जे की शिकायत पर तुरंत कार्रवाई का आदेश दिया गया है। अगर इसमें देरी होगी तो संबंधित थाने के एसएचओ के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
अभी तक यूपी के सरकारी दफ्तरों में मिलने वाली सारी छुट्टियों का हिसाब करें तो शनिवार और इतवार 104 दिन, पब्लिक हॉलिडे 40 दिन, अर्जित अवकाश 30 दिन, कैजुअल लीव 15 दिन, रिस्ट्रिक्टेड हॉलिडे दो दिन, लोकल हॉलिडे तीन दिन… कुल 194 अवकाश होते हैं। यानी साल में करीब साढ़े छह महीना छुट्टी।योगी के मंत्री ने गुलदस्ता लाने वाले अफसरों को लताड़ा
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल के मंत्री सत्यदेव पचौरी ने अधिकारियों को गुलदस्ता लेकर आने पर चेतावनी दी है। राज्य के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम एवं निर्यात प्रोत्साहन, खादी ग्रामोद्योग एवं वस्त्र उद्योग, रेशम उद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने अपने अधीन विभागों के सभी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि उनसे मिलने के लिए आने वाले अधिकारी किसी प्रकार का उपहार, गुलदस्ते आदि न लाएं।
सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक मंत्री ने मंगलवार को कहा कि इन उपहारों में लगने वाले धन को व्यर्थ में खर्च न किया जाए। उन्होंने कहा कि पिछले कई दिनों से वह इस तरह के अधिकारियों से परेशान हो गए हैं, जो भेंट में कुछ न कुछ लाकर अपनी बात मनवाने की कोशिश करते हैं तथा अपना और उनका (मंत्री) उपयोगी समय बर्बाद करते हैं। पचौरी ने कहा कि आगे से ऐसा व्यवहार करने वाले अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा और उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही भी सुनश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को पूर्ण निष्ठा और लगन से अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का निर्वहन करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*