Sunday , 24 September 2017
Breaking News
Home » India » New Delhi » मुनाफाखोरी से आम आदमी को बचाने की जिम्मेदारी

मुनाफाखोरी से आम आदमी को बचाने की जिम्मेदारी

नई दिल्ली। पूरे देश में एक जुलाई से जीएसटी लागू करने के बाद अब केन्द्र की मोदी सरकार ने आम आदमी के फायदे के लिए लगभग 200 जासूसों को बाजार में उतारा है । ये जासूस देश के छोटे-बड़े शहरों के साथ-साथ कस्बों में घूमेंगे और ऐसे बिजनेसमैन, होलसेलर और रीटेलर की पहचान करेंगे जो नए टैक्स ढ़ांचे का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं।
केन्द्र सरकार ने यह कदम बीते एक हफ्ते के दौरान देश के अलग-अलग कोने से मुनाफाखोरी की शिकायतें मिलने के बाद उठाया है। गौरतलब है कि देश के नए टैक्स ढ़ांचे के केन्द्र में मुनाफाखोरी रोकने के प्रावधान है और यदि मुनाफाखोरी पर लगाम नहीं लगाई जाएगी तो जीएसटी का पूरा मकसद विफल हो सकता है।
केन्द्र सरकार को उम्मीद है कि जीएसटी लागू होने के बाद कंपनियां और दुकानदार पूरी इमानदारी से कारोबार करेंगी तो इस कर सुधार का सबसे बड़ा फायदा आम आदमी को मिलेगा। वहीं इस सुधार में कारोबारियों ने बेइमानी के नए रास्ते इजाद कर लिए तो देश में महंगाई बढऩे के आसार पैदा हो जाएंगे।कौन हैं ये जासूस, कैसे करेंगे काम ?
केन्द्र सरकार की तैयारी के मुताबिक ये 200 जासूस सीनियर आईएएस, आईआरएस और आईएफएस अधिकारियों में से चुने गए हैं। इन जासूसों को सरकार ने जिम्मेदारी दी है कि वह लगातार देश के अलग-अलग हिस्सों में घूमकर जरूरी उत्पादों की कीमत का पूरा जाएजा लेंगे और बाजार में प्राइस ट्रेंड पर लगातार अपनी रिपोर्ट केन्द्र सरकार को देंगे। लिहाजा आने वाले दिनों में ये 200 जासूस लेह से लेकर लक्षद्वीप और गंगानगर से ईटानगर तक किसी भी जगह दुकानों पर बिक रहे सामान की कीमत का जाएजा लेने के लिए खरीदारी कर सकते हैं।
हालांकि केन्द्र सरकार ने यह भी स्पष्ट किया कि किसी भी कर अधिकारी को व्यापारियों या दुकानदारों के परिसर का बिना पूर्व अनुमति के दौरा करने का अधिकार नहीं है। इसका उल्लंघन किए जाने पर इसकी रिपोर्ट शिकायत हेल्पलाइन पर दर्ज करायी जानी चाहिए।
सरकार को ऐसी शिकायतें मिली हैं कि कुछ बेइमान लोग खुद को माल एवं सेवाकर जीएसटी अधिकारी बताकर दुकानदारों और ग्राहकों को डराने की कोशिश कर रहे हैं। इसके बाद वित्त मंत्रालय ने यह स्पष्टीकरण जारी किया है। जीएसटी मुख्य आयुक्त दिल्ली क्षेत्र ने स्पष्ट किया कि कर विभाग जीएसटी व्यवस्था में हस्तांतरण के दौरान व्यापारियों और दुकानदारों की प्रक्रिया समझाने में केवल मदद करना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*