Monday , 18 June 2018
Breaking News
Home » India » Mumbai » दूसरी एफआईआर, फरार पब मालिकों के खिलाफ लुकआउट

दूसरी एफआईआर, फरार पब मालिकों के खिलाफ लुकआउट

बीएमसी ने कार्रवाई शुरू की

मुंबई। कमला मिल कंपाउंड में लगी आग के बाद अब प्रशासन और पुलिस हरकत में आए हैं। मुंबई पुलिस ने शनिवार को इस मामले में दूसरी एफआईआर दर्ज की है। यह एफआईआर बीएमसी की शिकायत के बाद दर्ज की गई है। शिकायत में बीएमसी ने कहा है कि कमला मिल के मालिक और वहां मौजूद पब-रेस्तरां (1 एबव-मोजो बिस्रो) ने नियमों का उल्लंघन किया था। बीएमसी ने शिकायत में कहा है कि उन सभी ने महाराष्ट्र रीजनल टाउन प्लानिंग (एमआरटीपी) एक्ट का उल्लंघन किया है। शिकायत एनएम जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है।
बता दें कि शनिवार को ही बीएमसी ने कमला मिल कंपाउंड और रघुवंशी मिल कंपाउंड में कार्रवाई करते हुए कई अवैध निर्माणों को गिराया था। इसके साथ ही अलग-अलग टीमें अलग-अलग क्षेत्रों में ऑडिट कर रही हैं। हर अवैध निर्माण को ध्वस्त करने का आदेश दिया गया है।
इससे पहले पुलिस ने ‘1 एबव’ रेस्तरां के दो मालिकों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है। इसी रेस्तरां में आग लगी थी। फिलहाल इस बात की जांच की जा रही है कि आग किस वजह से लगी होगी। माना जा रहा है कि बारटेंडर द्वारा किए गए किसी फायर स्टंट, हुक्के के लिए जल रहे कोयले या फिर शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी जिसने बाद में इतना भयानक रूप ले लिया था।
सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया है कि उन्होंने 1 एबव के मालिक हितेश संघवी और जिगर संघवी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है। दोनों रेस्तरां के को ओनर हैं, जिसे सी ग्रेड की सुविधाओं के साथ चलाया जा रहा था।
इससे पहले पुलिस ने संघवी भाईयों के साथ-साथ एक और मालिक अभीजीत मनका समेत कुछ और लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। केस आईपीसी की धारा 304 (हत्या), 337 (किसी की जान खतरे में डालना) और 338 (किसी को चोट पहुंचाना) के तहत दर्ज किया गया था। दूसरी तरफ, रेस्तरां अपनी सफाई में कहता रहा है कि उसकी कोई गलती नहीं है और उन्होंने तो सभी सुरक्षा मानदंडों का पालन किया हुआ था। उन्होंने घटना का सारा दोष मोजो बिस्रो रेस्टोरेंट पर डाला है।
बता दें कि इस हादसे में 14 लोगों की जान चली गई, वहीं 21 लोग जख्मी हुए थे। बताया गया था कि अधिकतर लोगों की जान आग लगने की वजह से नहीं बल्कि दम घुटने से गई थी।
घटना के बाद बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के अधिकारियों ने शनिवार को इलाके के कई गैरकानूनी निर्माण को ढहाने की कार्रवाई शुरू कर दी।
इसके अलावा बीएमसी ने रघुवंशी मिल और फोयनिक्स माल तथा अन्य स्थानों पर गैरकानूनी अतिक्रमण को ढहाने का काम भी शुरू कर दिया है।
बीएमसी ने कम से कम पांच होटलों और रेस्तरां के खिलाफ कार्रवाई की है। महानगर पालिका के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है कि कमला मिल कंपाउंड के अंदर छत पर बने ‘स्काईव्यू कैफे और सोसल’ रेस्टोरेंट को गिरा दिया है। इसी इलाके में रघुवंशी मिल के अंदर ‘प्रणय’,‘फ्यूम्स’ और शीशा स्काई लांज’ के अतिक्रमण को हटा दिया।

बीएमसी प्रमुख अजोय मेहता ने वरिष्ठ अधिकारियों को स्थानीय स्तर पर एक विशेष टीम का गठन कर सभी रेस्तारां का निरीक्षण करने को कहा है।
उन्होंने अधिकारियों को आदेश दिया है कि जिन होटलों में आग को बुझाने की समुचित व्यवस्था, सीढ़ियों की व्यवस्था नहीं है और खुले स्थानों पर अतिक्रमण किया गया है तो उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*