Thursday , 23 November 2017
Breaking News
Home » India » Jammu Kashmir » ‘लेकिन कश्मीर में हालात के मुताबिक होगा एक्शन’

‘लेकिन कश्मीर में हालात के मुताबिक होगा एक्शन’

श्रीनगर। कश्मीर में पत्थरबाजी और आतंकी हमलों पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने बड़ा बयान दिया है। तेलंगाना में पासिंग आउट परेड में शामिल होने गए सेना प्रमुख ने घाटी में पत्थरबाजी की घटनाओं के मद्देनजर कहा कि मानवाधिकारों में पूरा यकीन है और भारतीय सेना का इस मामले में बेहतर रिकॉर्ड है लेकिन घाटी के हालात के मुताबिक एक्शन होगा।
सेना प्रमुख ने कहा कि दक्षिणी कश्मीर के कुछ इलाकों में आतंकियों की सक्रियता के कारण समस्याएं हैं लेकिन उसके खात्मे के लिए एक्शन लिया जा रहा है और जल्द ही हालात काबू में आ जाएगी। सेना प्रमुख ने कहा कि हालात को काबू करने के लिए जो भी जरूरी है किया जाएगा। उन्होंने साथ ही कहा कि मानवाधिकारों का हम सम्मान करते हैं और हमारी कोशिश भी रहेगी कि इनका उल्लंघन न हो।सेना ने कश्मीर में छेड़ा है आतंक के खिलाफ जंग
गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से घाटी में आतंकी हमले बढऩे के बाद सेना ने भी एक्शन तेज कर दिया है। शुक्रवार को सेना के ऑपरेशन में लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू को मार गिराया गया। हिज्बुल कमांडर बुरहान वानी और सबजार के बाद ये सेना की एक और उपलब्धि है।
जीप के बोनट पर युवक को बांधने पर हुआ था विवाद
इससे पहले कश्मीर में उपचुनाव के दौरान पत्थरबाजी रोकने के लिए मेजर गोगोई ने एक स्थानीय युवक को जीप के बोनट पर बांधकर घुमाया था। उमर अब्दुल्ला ने ये फोटो ट्वीट किया था इसके बाद विवाद उठ खड़ा हुआ था। मेजर गोगोई खुद सामने आए थे और कहा कि पोल पार्टी के लोगों की जान बचाने के लिए उन्होंने ये कदम उठाया। सेना प्रमुख ने भी मेजर गोगोई को सम्मानित किया था।अलगाववादियों पर एनआईए का शिकंजा
घाटी में अशांति फैलाने के लिए पाकिस्तान से मिल रहे फंड की जांच एनआईए ने शुरू की है। एक स्टिंग ऑपरेशन में हुर्रियत अलगाववादी नेता कैमरे पर पाकिस्तानी पैसे मिलने की बात कबूलते देखे गए थे। इसके बाद गिलानी समेत कई अलगाववादी नेता एनआईए जांच के घेरे में हैं।
एलओसी पर सेना का एक्शन तेज
दूसरी ओर पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की लगातार कोशिशों को विफल करने के लिए नियंत्रण रेखा पर सेना ने बड़ा ऑपरेशन छेड़ रखा है। सेना ने ऐलान किया कि उन पाकिस्तानी सैन्य चौकियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है जो एलओसी पर आतंकियों को घुसपैठ में मदद कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*