Thursday , 23 November 2017
Breaking News
Home » India » Jammu Kashmir » उकसावे वाली कार्रवाई का देंगे मुंहतोड़ जवाब

उकसावे वाली कार्रवाई का देंगे मुंहतोड़ जवाब

जम्मू। हाल के दिनों में सीमा पर फायरिंग के बीच पिछले 6 महीनों में पहली बार बॉर्डर सिक्यॉरिटी फोर्स और पाकिस्तानी रेंजर्स के सेक्टर कमांडरों की शुक्रवार को सुचेतगढ़ सेक्टर में फ्लैग मीटिंग हुई। बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने बताया कि दोनों पक्ष अंतरराष्ट्रीय सीमा पर शांति बनाए रखने पर सहमत थे। मीटिंग में भारतीय पक्ष ने स्पष्ट किया कि पाकिस्तान की तरफ से किसी भी उकसावे वाली कार्रवाई का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।
बीएसएफ के प्रवक्ता ने बताया, ‘मीटिंग सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक माहौल में हुई और दोनों पक्ष पिछली बैठकों में लिए गए फैसलों को लागू करने पर समहत हुए।’ उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय अफसरों ने अपने पाकिस्तानी समकक्षों को दो टूक कहा कि उसकी तरफ से की गई किसी भी उकसावे वाली कार्रवाई का उससे भी सख्त जवाब दिया जाएगा।
प्रवक्ता ने बताया कि यह बैठक पाक रेंजर्स के अनुरोध पर की गई जो 105 मिनट तक चली। उन्होंने बताया कि दो महीने पहले क्रॉस-बॉर्डर झड़पों में तेजी के बाद बीएसएफ और पाक रेंजर्स के बीच यह पहली सेक्टर कमांडर स्तर की बैठक थी।
बीएसएफ के प्रतिनिधिमंडल में 17 अफसर शामिल थे जिनका नेतृत्व जम्मू सेक्टर के बीएसएफ डीआईजी पी. एस. धीमान ने किया। पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल में 14 अफसर शामिल थे जिसका नेतृत्व चेनाब रेंजर्स के ब्रिगेडियर अमजद हुसैन ने किया। पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल में 3 विंग कमांडर भी शामिल थे। बीएसएफ और पाक रेंजर्स के बीच पिछली कमांडर स्तर की बैठक 9 मार्च 2017 को हुई थी।
बीएसएफ प्रवक्ता ने बताया कि आज की बैठक में बीएसएफ ने अपने दो जवानों- कॉन्स्टेबल बिजेंद्र बहादुर और के. के. अप्पा राव की नृशंस हत्या पर ऐतराज जताया। इसके अलावा पाकिस्तान की तरफ से भारतीय सीमा पर स्थित गांवों में बिना किसी उकसावे की फायरिंग और गोलाबारी पर भी विरोध दर्ज कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*