Saturday , 23 June 2018
Breaking News
Home » India » 500 में से 499 अंक

500 में से 499 अंक

सीबीएसई टॉपर मेघना ने बताया सफलता का मंत्र

नई दिल्ली। 500 में से 499 नंबर… मेहनत करते रहिए आ जाएंगे। यही कहना है सीबीएसई 12वीं की टॉपर मेघना श्रीवास्तव का। सफलता के पीछे का सीक्रेट क्या है, यह पूछे जाने पर मेघना ने कहा, कोई सीक्रेट नहीं है, आपको बस पूरे साल कठिन परिश्रम करते रहना चाहिए। बता दें कि मेघना के केवल 1 नंबर अंग्रेजी में कट गए। उन्होंने सफलता का श्रेय अपनी मेहनत के साथ-साथ स्कूल और पैरंट्स से मिले सपॉर्ट को दिया। मेघना ने कहा कि वह साइकॉलजी में अपनी पढ़ाई करना चाहती हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ कोलंबिया से वह आगे अपनी पढ़ाई करना चाहती हैं। भविष्य की योजनाओं के बारे में उन्होंने कहा कि वह कम्युनिटी सर्विस के क्षेत्र में कुछ काम करना चाहती हैं।
मेघना को 500 नंबर की हुई परीक्षा में 499 नंबर मिले हैं। अर्थशास्त्र का पर्चा लीक होने के कारण दुबारा पेपर हुए थे। इस पर उन्होंने कहा कि शुरूआत में फिर से परीक्षा होने की खबर बहुत निराश करनेवाली थी। मैं बहुत परेशान भी थी क्योंकि मेरा पहला पेपर काफी अच्छा हुआ था। जब दुबारा मैंने पेपर दिया तो वह भी काफी अच्छा गया। मेघना को अंग्रेजी में 99 और अर्थशास्त्र, भूगोल, साइकॉलजी और इतिहास में पूरे 100 अंक मिले हैं। कम्युनिटी सर्विस करना चाहती हैं मेघना
मेघना ने कहा कि अभी भविष्य के लिए बहुत कुछ नहीं सोचा है, लेकिन साइकॉलजी की पढ़ाई करने के बारे में सोचा है। उन्होंने कहा कि भविष्य में कम्युनिटी सर्विस करना चाहती हूं। मेघना ने कहा, उत्तराखंड के 2 गांवों में कम्युनिटी सर्विस भी की है। मेरे लिए वह अनुभव बहुत खुशी देने वाला था। मैंने सोचा है कि भविष्य में मौका मिला तो कम्युनिटी सर्विस करूंगी।
”बहुत अलग अनुभव हो रहा है इस वक्तÓÓ
मेघना ने कहा कि मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे 499 अंक मिलेंगे, लेकिन मैंने हमेशा बहुत मेहनत की। देश की टॉपर बनने पर उन्होंने कहा, इस वक्त मेरे लिए बहुत खुशी का मौका है और यह अनुभव बहुत अलग है। मैं बस यही कहना चाहती हूं कि अपना काम मेहनत से करते रहना चाहिए रिजल्ट खुद ही मिल जाता है। पूरे साल पढ़ाई के दौरान मुझे घर पर पैरंट्स से भी बहुत सहयोग मिला।
रिजल्ट पर अब तक यकीन नहीं
मेघना ने कहा, जिस वक्त रिजल्ट आया मैं स्क्रीन की तरफ नहीं देख रही थी। मेरे पापा ही मेरा रिजल्ट देख रहे थे और उन्होंने मुझे बताया कि मैंने टॉप किया है। फिर मेरे दोस्तों के मेसेज और स्कूल टीचर्स के फोन आने लगे। मुझे अच्छे रिजल्ट की उम्मीद थी, लेकिन टॉपर बनूंगी ऐसा नहीं सोचा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*