Tuesday , 21 November 2017
Breaking News
Home » India » हिमाचल में चुनाव 9 नवं. को

हिमाचल में चुनाव 9 नवं. को

गुजरात की घोषणा बाद में, लेकिन 18 दिस. से पहले होंगे चुनाव

eci Indiaनई दिल्ली। हिमाचल प्रदेश विधानसभा की सभी 68 सीटों के लिए चुनाव एक चरण में 9 नवम्बर को कराये जायेंगे और मतगणना 18 दिसम्बर को होगी। इस चुनाव में पहली बार सभी 7521 मतदान केन्द्रों पर इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों के साथ वीवीपैट का इस्तेमाल होगा। गोवा के बाद हिमाचल देश का दूसरा राज्य है जहां सभी मतदान केन्द्रों पर वीवीपैट मशीन का इस्तेमाल होगा।

चुनाव की घोषणा होते ही वहां आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई।
मुख्य चुनाव आयुक्त ए के जोति ने गुरूवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अधिसूचना 16 अक्टूबर को जारी की जायेगी। उम्मीदवार 23 अक्टूबर तक नामांकर पत्र दायर कर सकेंगे और 24 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच की जायेगी तथा 26 अक्टूबर तक नाम वापस लिये जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि इस बार वीवीपैट में स्क्रीन का आकार बढ़ा दिया गया है ताकि मतदाता यह साफ साफ देख सकेगा कि उसने जिस उम्मीदवार के नाम का बटन दबाया है वोट उसी को मिला है। उन्होंने कहा कि सभी 68 सीटों पर एक-एक मतदान केन्द्र के वीवीपैट से निकलने वाली पर्चियों की भी गिनती की जायेगी और उनका मिलान उस मतदान केन्द्र पर पड़े वोटों से किया जायेगा।

कुल 68 सीटों में से 17 अनुसूचित जाति और तीन अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है।
कुल मतदाता 49 लाख 5 हजार 677 हैं1 चुनाव में उम्मीदवार के लिए खर्च की अधिकतम सीमा 28 लाख रूपये हैं। उन्होंने कहा कि 136 मतदान केन्द्रों पर केवल महिला चुनावकर्मी ही तैनात होंगी। गुजरात चुनाव घोषित नहीं होने से संदेहनई दिल्ली। कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव की घोषणा का स्वागत करते हुए गुरूवार को कहा कि मतदान एवं मतगणना की तिथि में लम्बा अंतर और गुजरात विधानसभा के चुनाव की तारीख घोषित नहीं करना संदेह पैदा करता है।
कांग्रेस सांसद तथा पार्टी की हिमाचल प्रदेश की प्रभारी सचिव रंजीता रंजन यहां संवाददाताओं से कहा कि हिमाचल प्रदेश में चुनाव के लिए पार्टी तैयार है और जल्द ही उम्मीदवारों की घोषणा कर दी जाएगी। पार्टी ने पहले ही मुख्यमंत्री का चेहरा तय कर दिया है जबकि भारतीय जनता पार्टी में मुख्यमंत्री पद के कई उम्मीदवार हैं। वहां मतदान और मतगणना के बीच एक माह दस दिन का बड़ा फर्क है और यह संदेह पैदा करता है।
उन्होंने कहा कि हिमाचल के साथ ही गुरूवार को गुजरात के लिए भी चुनाव घोषित किए जाने चाहिए थे लेकिन ऐसा नहीं हुआ जो संदेह पैदा करता है। इससे साफ है कि आने वाले कुछ दिनों में गुजरात की जनता को भ्रमित करने के लिए कुछ लुभावनी घोषणाएं की जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*