Sunday , 27 May 2018
Breaking News
Home » India » लोगों ने किया हंगामा, तब पुलिस ने पकड़ा आरोपियों को

लोगों ने किया हंगामा, तब पुलिस ने पकड़ा आरोपियों को

arrestउदयपुर। शहर के घंटाघर थाना क्षेत्र में लाल घाट पर दो दिन पूर्व जगदीश मंदिर के पुजारी और उसकी पत्नी के साथ की गई मारपीट में पुलिस की ओर से सभी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं करने पर शनिवार को क्षेत्र के लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया और मंदिर को लेकर बनी विभिन्न समिति के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र में दुकानें बंद करवाकर प्रदर्शन किया। घटना की जानकारी पर मौके पर पुलिस के आला अधिकारी पहुंचे और समझाईश की। क्षेत्र के लोगों ने पुलिस अधिकारियों को 24 घंटे में कार्रवाई ना करने पर उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी। इस पर पुलिस ने तत्काल कार्यवाही करते हुए मामले में फरार चल रहे दो ओर युवकों को गिरफ्तार कर लिया। मामले में ओर भी फरार चल रहे है, जिनकी तलाश की जा रही है।
पुलिस ने बताया कि लाल घाट निवासी सरदार खान के छोटे भाई ने कई वर्षों पूर्व जगदीश मंदिर के पुजारी हेमेन्द्र पुजारी को मकान बेच दिया था। इसको लेकर सरदार खान व उसके परिवार वालों में कई समय से विवाद चल रहा था। जिसका न्यायालय में वाद भी चल रहा है। गुरूवार शाम को हेमेन्द्र पुजारी की पत्नी सपना पुजारी घर लौट रही थी तो सरदार की पत्नी व उसके परिजनों ने उससे झगड़ा कर बुरी तरह से पीट दिया। इस घटना की वहीं पर लग रहे एक सीसीटीवी कैमरे में रिकार्डिंग भी हो गई। इस घटना के बाद पुजारी व सरदार खान दोनों ने एक.दूसरे के विरूद्ध मामला दर्ज कराया। पुलिस ने घटना वाले दिन ही सरदार खान पुत्र स्व. हसन खान व इसकी पत्नी फिरोजा बेगम को गिरफ्तार कर लिया। जबकि उसके बेटे-बहू घटना वाले दिन ही भाग गए। इधर गिरफ्तार आरोपियेां की तबीयत बिगड़ने पर पुलिस ने इन लोगों को चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया था।
फरार आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने और गिरफ्तार लोगों को भी जबरन चिकित्सालय में भर्ती करवाने पर क्षेत्र के लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया। आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से क्षुब्ध पुजारी व उसके परिजनों के पक्ष में मेवाड़ सेना, धर्मोत्सव समिति, श्री जगन्नाथ रथ समिति, जगदीश चौक, लाल घाट व्यापार मंडल एवम भारतीय जनता युवा मोर्चा के तत्वावधान में जगदीश चौक,सिटी पैलेस रोड,लाल घाट,भटियाणी चौहटा के सारे बाजार बंद कर जगदीश चौक मे पुजारी परिवार के साथ सड़क पर ही बैठ गए। लोगों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए रास्ता बंद कर दिया। जगदीश चौक, लाल घाट, गणगौर घाट, सिटी पैलेस रोड, भटियानी चौहट्टा तक की दुकानें बंद करा दीं। प्रदर्शन करते हुए उन्होंने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। सूचना पर थानाधिकारी राजेन्द्रसिंह जैन, डिप्टी गोपालसिंह मौके पर पहुंचे। मौके पर भीड़ को ज्यादा देखकर सूरजपोल थानाधिकारी हेरम्ब जोशी भी जाब्ते के साथ बुलावाया। सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर हर्ष रत्न भी पहुंचे। उन्होंने लोगों से समझाइश कर अवरूद्ध मार्ग खुलवाया। पुलिस अधिकारियों ने प्रतिनिधिमंडल को वार्ता के लिए बुलवाया। प्रतिनिधिमण्डल में मेवाड़ सेना के गोपाल जोशी, धर्मोत्सव समिति के दिनेश मकवाना, कैलाश सोनी, रथ समिति के राजेन्द्र श्रीमाली, भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष गजेंद्र भंडारी, भाजपा नेता आकाश वागरेचा, पार्षद देवेंद्र जावलिया, हिन्दू जागरण मंच के जिला संयोजक देवेंद्र सिंह चुंडावत, महानगर सह संयोजक शक्तिसिंह राठौड़, युवा वाहिनी प्रमुख ललित सिंह सिसोदिया, प्रदीप श्रीमाली सहित कई पदाधिकारी और कार्यकर्ता वातो के लिए पहुंचे। जिसमें क्षेत्र के लोगों ने आक्रोश व्यक्त किया। एएसपी रत्नू ने शीघ्र ही आरोपियों को गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। क्षेत्र के लोगों ने चेतवानी दी कि 24 घंटे के भीतर पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो वे उग्र आंदोलन करेंगे। पुलिस के आश्वासन के बाद लोगों ने पुनः दुकानें खोली। पुलिस ने इस प्रकरण में त्वरित कार्यवाही करते हुए फरार चल रहे आरोपी सद्दिक पुत्र सरदार खान, इसके भाई तारीफ खान उर्फ टीना को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में फरार चल रहे अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। फुटेज को देखकर लोगों में बढ़ा आक्रोश
इधर जहां पर मारपीट हुई थी, वहीं पर एक सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ था। इस सीसीटीवी कैमरे में मारपीट की घटना रिकार्ड हो गई। जिसमें महिला के साथ बुरी तरह से मारपीट की जा रही है। यह सीसीटीवी फुटेज लोगों ने देखा तो लोागें में आक्रोश व्याप्त हो गया। पुजारी के पक्ष में कई लोग उतर गए और ये वीडियो वायरल होने से आक्रोश बढ़ गया।
मांस के टुकड़े फेंकने का आरोप
इधर क्षेत्रवासियों ने प्रदर्शन के दौरान आरेाप लगाया कि आरोपी परिवार द्वारा पुजारी के घर में मांस के टुकड़े फैंके जाते रहे है। जिससे पुजारी परिवार खासा परेशान हो गया है। क्षेत्र के लोगों का आरेाप है कि यह जानबूझ कर किया जाता है ताकि पुजारी परिवार वहां से चला जाए और वे मकान पर कब्जा कर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*