Thursday , 21 June 2018
Breaking News
Home » India » ‘पटेल प्र.म. होते तो पूरा कश्मीर हमारा होता’

‘पटेल प्र.म. होते तो पूरा कश्मीर हमारा होता’

नई दिल्ली। बजट सत्र में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धन्यवाद प्रस्ताव दिया और अपने भाषण के दौरान कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। अपने लंबे भाषण के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने हर एक-एक चीज को लेकर कांग्रेस पर हमला किया और अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया। उन्होंने कहा कि अगर सरदार पटेल प्रधानमंत्री होते, तो आज पूरा कश्मीर हमारा होता।
लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी के अहम कथन
ठ्ठ आपके (कांग्रेस) चरित्र में है ये कि जब भारत के टुकड़े किये आपने, जो जहर बोया…. आज़ादी के 70 साल बाद भी, एक दिन भी ऐसा नहीं जाता है जब देश को आपके पाप का नुकसान उठाना नहीं पड़ता है।
ठ्ठ आपने (कांग्रेस) मां भारती के टुकड़े कर दिए उसके बाद भी ये देश आपके साथ खड़ा रहा था।
ठ्ठ पंचायत से पार्लियामेंट तक आपका झंडा था लेकिन आपने पूरा समय एक परिवार के गीत गाने में बिता दिया, आपने जिम्मेदारी के साथ काम किया होता तो इस देश की जनता में सामर्थ्य था कि ये देश आज जहां है इस से कई गुना आगे होता।
ठ्ठ इस देश में 90 से अधिक बार धारा 356 का उपयोग करते हुए, राज्य सरकारों को, राज्य के दलों को आपने उखाड़ कर फेंक दिया…. आप किस लोकतंत्र की बात करते हो।
ठ्ठ अगर देश के पहले प्रधानमंत्री सरदार पटेल होते तो मेरे कश्मीर का ये हिस्सा पाकिस्तान के पास नहीं होता।
ठ्ठ देश में जो विकास हुआ है इसमें देश की पुरानी सरकारों का भी योगदान है, ऐसा एक भी वाक्य किसी कांग्रेसी प्रधानमंत्री ने लाल किले से बोला हो? ये हम हैं जो सभी पुरानी सरकारों का लाल किले से धन्यवाद देते हैं। लोकतंत्र इसको कहते हैं।
ठ्ठ सबकुछ हमने ही किया और एक परिवार ने किया, इसी मानसिकता की वजह से आप (कांग्रेस) आज वहां बैठे हैं।
ठ्ठ गैर भाजपा राज्यों में एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार मिला है…. क्या आप इसको भी झूठा कहेंगे? देश को गुमराह करने की कोशिश मत कीजिये।
ठ्ठ कांग्रेस 21वीं सदी का सपना दिखाती थी लेकिन इन्होने एक उड्डयन नीति तक नहीं बनाई, तो क्या ये बैलगाड़ी वाली 21वीं सदी चाहते थे।
ठ्ठ हमने आधार का वैज्ञानिक तरीके से इस्तेमाल किया, विधवा, बुजुर्गों और दिव्यांगों की पेंशन सालों तक बिचौलियों की जेब में जा रही थी…. आपको डीबीटी से परेशानी है, क्योंकि जो रोजगार गया है वो दलालों और बिचौलियों का गया है।
ठ्ठ 1980 में 21वीं सदी की बात करना वो मंजूर था लेकिन अगर मोदी 2018 में आजादी को हो रहे 75 साल 2022 की बात करता है तो आपको तकलीफ हो रही है।
ठ्ठ आपकी एक गलत नीति के कारण देश को आज करोड़ों रूपये का बांस आयात करना पड़ता है, हमारी बांस नीति से देश के किसान की आय बढ़ेगी।
ठ्ठ किसी योजना पर विपक्ष कोई अच्छा सुझाव लेकर आये तो मैं खुद उनको समय दूंगा और मिल बैठ कर इस पर बात करेंगे।
ठ्ठ जिन्होंने देश को लूटा है, उनको लौटना ही पड़ेगा। मैं इस पर पीछे हटने वाला नहीं हूं।
ठ्ठ आखिर एनपीए का मामला है क्या? देश को पता चलना चाहिए कि इसके पीछे पुरानी सरकार का कारोबार है, और शत प्रतिशत पुरानी सरकार जिम्मेदार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*